• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

हिंसक प्रदर्शनों से निबटने के लिए सेना और पुलिस उतारेंगे ट्रंप

By BBC News हिन्दी

हिंसक प्रदर्शनों से निबटने के लिए सेना और पुलिस उतारेंगे ट्रंप


अफ़्रीकी मूल के अमरीकी नागरिक जॉर्ज फ़्लॉयड की मौत के बाद हो रहे प्रदर्शनों से निबटने के लिए अमरीका के कई शहरों में कर्फ्यू लगाया जा रहा है.

राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि वाशिंगटन में कर्फ़्यू को सख़्ती से लागू किया जाएगा.

वाशिंगटन में स्थानीय समयानुसार 11 बजे से कर्फ़्यू लागू होना था लेकिन मेयर ने इसे अब शाम सात बजे से ही लागू कर दिया है. वहीं न्यू यॉर्क के मेयर ने भी रात्रि के कर्फ़्यू की घोषणा की है.

इसी बीच राष्ट्रपति ट्रंप ने ये भी कहा है कि हिंसा को रोकने के लिए वो हज़ारों पुलिसकर्मियों और सैनिकों को तैनात करेंगे.

बीते एक सप्ताह से अमरीका के कई शहरों में हिंसा, आगजनी और लूटमार की घटनाएं हो रहीं हैं.

व्हाइट हाऊस से टीवी पर भाषण देने के बाद राष्ट्रपति ट्रंप अपने सुरक्षाकर्मियों के साथ पास ही के एक चर्च में गए.

बाइबल पकड़े हुए ट्रंप
Getty Images
बाइबल पकड़े हुए ट्रंप

इस चर्च को प्रदर्शनकारियों ने नुकसान पहुंचाया है. व्हाइट हाउस के बाहर प्रदर्शन को पुलिस ने ख़त्म कर दिया है.

इसी बीच परिवार की ओर से कराए गए जॉर्ज फ़्लॉयड के पोस्टमार्टम में उनकी मौत की वजह ऑक्सीजन की कमी बताई गई है.

वाशिंगटन में प्रदर्शन
Getty Images
वाशिंगटन में प्रदर्शन

परिवार की ओर से जॉर्ज फ़्लॉयड का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों का कहना है कि 'गले और कमर पर दबाव पड़ने' की वजह से उनकी मौत हुई.

मिनियापोलिस पुलिस के अधिकारी ने कई मिनट तक फ़्लॉयड की गर्दन को घुटने से दबाए रखा था.

परिवार की ओर से कराए गए इस पोस्टमार्ट के नतीजे सरकारी पोस्टमार्ट के नतीजों से अलग हैं.

कार में लगी आग
EPA
कार में लगी आग

काउंटी मेडिकल एग्ज़ामिनर की ओर से कराए गए पोस्टमार्टम में गला दबाए जाने या ऑक्सीजन की कमी होने की पुष्टि नहीं की गई थी.

आधिकारिक पोस्टमार्ट में उनकी मौत को होमीसाइड या हत्या कहा गया है.

इसी बीच जॉर्ज फ़्लॉयड की मौत के बाद शुरू हुए प्रदर्शन अमरीका के कई शहरों में फैल गए हैं.

वॉशिंगटन में तो प्रदर्शनकारी व्हाइट हाउस के बाहर भी इकट्ठा हो गए. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव भी किया.

लगातार छठे दिन अमरीका के कई शहरों में विरोध प्रदर्शन हुए और कई जगह काफ़ी हिंसा हुई.

क़रीब 40 शहरों में कर्फ़्यू लगा दिया गया है, लेकिन लोगों ने इसकी अनदेखी की और सड़कों पर उतर आए. इस कारण तनाव काफ़ी बढ़ गया है.

न्यूयॉर्क, शिकागो, फिलाडेल्फिया और लॉस एंजेलेस में दंगा पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच संघर्ष हुआ.

वहीं राष्ट्रपति ट्रंप ने प्रांतीय गवर्नरों को चेतावनी देते हुए कहा है कि प्रदर्शनकारियों से सख़्ती से निबटा जाए.

एक वीडियो कांफ्रेंस में राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा है कि हाल के दशकों की सबसे ख़राब नस्लीय और नागरिक अशांति की कुछ घटनाओं पर गवर्नरों की प्रतिक्रिया कमज़ोर रही है.

ट्रंप ने कहा था कि गवर्नर हिसंक प्रदर्शनों पर हावी हों. ट्रंप के इस बयान पर विवाद होने के बाद व्हाइट हाउस की प्रवक्ता ने कहा है कि इस बयान का ग़लत मतलब निकाला जा रहा है.

ट्रंप की प्रवक्ता केयली मैकइनैनी ने कहा है कि राष्ट्रपति ट्रंप के कहने का मतलब ये था कि गवर्नर नेशनल गार्ड पर ज़्यादा निर्भर रहें.

राष्ट्रपति ट्रंप ने हिंसा के लिए वामपंथी कट्टरपंथियों को ज़िम्मेदार ठहराया है. वहीं आलोचकों का कहना है कि राष्ट्रपति ट्रंप समाज में विभाजन पैदा कर रहे हैं.

न्यूयॉर्क में कर्फ़्यू

बिल डे ब्लासियो
Getty Images
बिल डे ब्लासियो

न्यू यॉर्क में लूटमार और संपत्तियों को नुक़सान पहुंचाए जाने की घटनाओं के बाद गवर्नर एंड्र्यू क्यूमो और मेयर बिल डे ब्लासियो ने कर्फ़्यू लगा दिया है.

ये कर्फ़्यू स्थानीय समयानुसार कल रात 11 बजे से सुबह पांच बजे तक रहेगा.

अधिकारियों का कहना है कि नुकसान को रोकने के लिए पुलिस की मौजूदगी को दोगुना किया जाएगा.

क्यूमो ने कहा, "मैं प्रदर्शनकारियों और उनके संदेश के साथ खड़ा हूं लेकिन दुर्भाग्यवश ऐसे लोग भी हैं जो इस अभियान को बदनाम करने का मौका तलाश रहे हैं."

क्यूमो ने कहा कि हिंसा से इस अभियान का मक़सद कमज़ोर हो रहा है.

वहीं मिनेसोटा के गवर्नर टिम वॉल्ज़ ने मिनियोपोलिस और सैंट पॉल शहरों में मंगलवार के लिए कर्फ़्यू लगा दिया है.

ये रात दस बजे से सुबह चार बजे तक लागू रहेगा.

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Donald trumps will take help The army and police to deal with violent protests
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X