• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

मैक्सिको की सीमा पर सेना भेजेंगे डोनल्ड ट्रंप

By Bbc Hindi

डोनल्ड ट्रंप
Getty Images
डोनल्ड ट्रंप

अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने कहा है कि वह मैक्सिको के साथ लगती देश की दक्षिणी सीमा की रक्षा के लिए सेना भेजेंगे.

मंगलवार को उन्होंने व्हाइट हाउस में कहा, "हम सैन्य रूप से काम करने जा रहे हैं." उन्होंने आगे कहा कि यह 'बड़ा क़दम' होगा.

इससे पहले राष्ट्रपति ट्रंप ने होंडूरास को मदद राशि काटने की धमकी दी थी क्योंकि ऐसी रिपोर्टें थीं कि शरण चाहने वालों का एक 'कारवां' अमरीका आ रहा है.

ट्रंप से पहले रहे दो राष्ट्रपतियों ने अमरीका की सीमा की रक्षा के लिए नेशनल गार्ड के जवानों को तैनात किया था.

बराक ओबामा के राष्ट्रपति पद के कार्यकाल में सैकड़ों जवानों को सीमा की रक्षा के लिए भेजा गया था.

वहीं, जॉर्ज डब्ल्यू बुश के कार्यकाल में सीमा की पेट्रोलिंग के लिए हज़ारों जवानों को भेजा गया था जिसे ऑपरेशन जम्प स्टार्ट कहा गया.

पोर्न स्टार को धमकाने वाला क्या ट्रंप का आदमी था?

ट्रंप पर संबंधों का आरोप लगाने वाली 'तीन देवियां'

रियो ग्रैंड रिवर समेत सीमा की अमरीकी बॉर्डर पेट्रोल करती रही है निगरानी
Getty Images
रियो ग्रैंड रिवर समेत सीमा की अमरीकी बॉर्डर पेट्रोल करती रही है निगरानी

तीसरी बार ट्रंप ने किया है ट्वीट

मंगलवार को बाल्टिक देशों के नेताओं के साथ लंच के बाद ट्रंप ने पत्रकारों से कहा कि उत्तरी अमरीका निःशुल्क व्यापार समझौता (नाफ़्टा) तब तक ख़तरे में है जब तक मैक्सिको आप्रवासियों की आवाजाही को रोक नहीं देता.

वहीं, दिन में उन्होंने तीसरी बार मध्य अमरीका से उत्तर कोरिया की ओर आने वाले आप्रवासियों के 'कारवां' पर ट्वीट किया.

उन्होंने लिखा, "होंडूरास के लोगों का एक बड़ा कारवां अब मैक्सिको के आगे आ रहा है और अब हमारे 'कमज़ोर क़ानून' वाली सीमा की ओर है. वहां आने से पहले इसे रोकना बेहतर था."

https://twitter.com/realDonaldTrump/status/981121409807155200

उन्होंने आगे लिखा, "दुधारू गाय वाला नाफ़्टा तब तक अधर में है जब तक होंडूरास को विदेशी मदद जारी है और अन्य देश ऐसा होने के लिए अनुमति देते रहें."

राष्ट्रपति ट्रंप ने रविवार को पहली बार एक हज़ार ग़ैर-दस्तावेज़ी आप्रवासियों को लेकर ट्वीट किया था.

वहाका में प्रवासी खाने का इंतज़ार करते हुए
Getty Images
वहाका में प्रवासी खाने का इंतज़ार करते हुए

वहाका पहुंचे होंडुरस के लोग

दरअसल, पीपल्स विदआउट बॉर्डर्स नामक संगठन द्वारा आयोजित एक अभियान के ज़रिए एक ग्रुप सड़क और ट्रेन के ज़रिए दक्षिणी मैक्सिको के वहाका राज्य पहुंच चुका है.

राष्ट्रपति ट्रंप अवैध आप्रवासियों को लेकर पिछले कई दिनों से ट्वीट कर रहे हैं और उनका आरोप है कि डेमोक्रेट्स ने 'खुली सीमा, ड्रग्स और अपराध' को अनुमति दी है.

ऐसा पहली बार नहीं है कि ट्रंप ने होंडूरास की आलोचना की है. हालांकि, बीते नवंबर में राष्ट्रपति चुनाव के बाद यह देश ख़ासी अशांति से जूझ रहा है.

जनवरी में हुई बैठक में ट्रंप ने मध्य अमरीका के देशों को कथित तौर पर 'शिटहॉल्स' कहा था.

मेक्सिको में प्रवासी
Getty Images
मेक्सिको में प्रवासी

कब बनाएंगे ट्रंप दीवार?

मैक्सिको की सीमा पर एक 'बड़ी, ख़ूबसूरत दीवार' बनाने का ट्रंप का चुनावी वादा था लेकिन इस योजना को सांसदों ने फ़िलहाल के लिए रोक दिया है.

पिछले महीने फेडरल सरकार के ख़र्च बिल को ट्रंप ने अनुमति दी थी जिसमें केवल 1.6 अरब डॉलर केवल सीमा पर दीवार बनाने के लिए रखे गए थे. हालांकि, व्हाइट हाउस की मांग 25 अरब डॉलर की रही है.

इसमें से अधिक रक़म 3,100 किलोमीटर सीमा पर पहले से बनी दीवार की मरम्मत के लिए चाहिए.

पिछले महीने पेंटागन ने पुष्टि की थी कि ट्रंप ने रक्षा मंत्री जेम्स मेटिस से पेंटागन के बजट को दीवार बनाने में इस्तेमाल करने के लिए 'शुरुआती' बातचीत की है.

सोमवार को दो डेमोक्रेटिक सीनेटरों ने पेंटागन प्रमुख को लिखा था कि 'रक्षा मंत्रालय को यह क़ानूनी अधिकार नहीं है या किसी के अनुरोध पर फंड का इस्तेमाल सीमा पर दीवार बनाने के लिए किया जाए.'

ट्रंप से अफ़ेयर पर 'सच' कह रही थीं पॉर्न स्टार!

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Donald Trump will send troops to Mexico border
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X