• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

US में फिर तेजी से बढ़ने लगा कोरोना संक्रमण, एक्सपर्ट की बढ़ी चिंता

|

न्यूयॉर्क। पूरा विश्व कोरोना वायरस से जंग लड़ रहा है, इस महामारी से सबसे ज्यादा ग्रसित अमेरिका है, जहां कोरोना के अब तक 89 लाख से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं, संक्रमण के मामले पर अमेरिका शीर्ष स्थान पर हैं, वेबसाइट वर्डोमीटर के मुताबिक, अमेरिका में कोरोना वायरस के अबतक 89 लाख 62 हजार 783 मामले सामने आ चुके हैं तो वहीं 2 लाख 37 हजार 45 मौत लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 58 लाख 33 हजार 824 लोग ठीक भी हो चुके हैं, यूएस में इस वक्त 28 लाख 97 हजार 914 एक्टिव केस हैं, इनमें से 16 हजार 611 लोगों की हालत गंभीर है। बीते 24 घंटे के दौरान एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 83 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं।

US में फिर तेजी से बढ़ने लगा कोरोना संक्रमण, एक्सपर्ट की बढ़ी चिंता

अमेरिका में बढ़ते कोरोना के केस ने एक बार फिर से एक्सपर्टस की परेशानी बढ़ा दी है इसलिए फ्लोरिडा में स्वास्थ्य अधिकारियों ने लोगों से अपील की है कि वे अपने बच्चों के जन्मदिन के अवसर पर पार्टियां न करें और ना ही वीकेंड मनाने के लिए देर रात पार्टी करें, ये सारी बातें संक्रमण को बढ़ावा दे रही हैं, तो वहीं दक्षिणी डकोटा में आदेश जारी किया गया है कि 30 अक्टूबर तक सभी गैर जरूरी यात्रा और गैर जरूरी कामकाज बंद रहेंगे।

ट्रायल में वैक्सीन बुजुर्गों पर भी असरदार दिखी

फिलहाल इस बीच ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका की ओर से सकारात्मक खबर आई है, एस्ट्राजेनेका की ओर से कहा गया है कि ट्रायल में वैक्सीन बुजुर्गों पर भी असरदार दिखी है। कोरोना संक्रमण से युवाओं के मुकाबले बुजुर्गों को ज्यादा खतरा माना जााता है। ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन के ट्रायल में बुजुर्गों में प्रतिरक्षा पैदा करने में सफल रही है। इसे एक बड़ी सफलता कंपनी की ओर से कहा जा रहा है। एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय को कोरोना वैक्सीन का उत्पादन करने की दौड़ में आगे माना जा रहा है।

कोरोना महामारी में अब नाजुक मोड़ पर पहुंच गई है

आपको बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन प्रमुख ने शुक्रवार को जारी एक बयान में कहा था कि दुनिया कोरोना महामारी में अब नाजुक मोड़ पर पहुंच गई है और कुछ देश खतरनाक ट्रैक पर चल रह रहे हैं, जहां स्वास्थ्य सेवाएं बेहद खराब स्थिति का सामना कर रही है। जिनेवा में प्रेस कांफ्रेंस में डब्ल्यूएचओ प्रमुख टेड्रोस एडहानॉम ने कहा कि टेड्रोस एडहानॉम ने आगाह करते हुए कहा कि अगले कुछ महीने बहुत कठिन रहने वाले हैं इसलिए सभी को काफी सतर्क रहने की जरूरत है क्योंकि सर्दी में कोरोना का खतरा काफी बढ़ सकता है ऐसे में लोगों को बिल्कुल भी स्वास्थ्य को लेकर कोताही नहीं बरतनी है।

यह पढ़ें: Coronavirus Live: महाराष्ट्र में कोरोना के 3645 नए मामले सामने आए

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
US sets records in new cases as it continues to lead the world in both cases and death toll from the pandemic.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X