• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Covid-19 लॉकडाउन: 4 करोड़ अमेरिकी हुए बेरोजगार, पिछले हफ्ते 21 लाख लोगों की नौकरी गई

|

नई दिल्ली। कोरोनावायरस प्रेरित लॉकडाउन के कारण अमेरिका में पिछले सप्ताह कुल 21 लाख लोगों ने बेरोजगारी लाभ के लिए आवेदन पेश किया। अमेरिकी श्रम विभाग ने पुष्टि करते हुए बताया कि 21 लाख लोगों द्वारा बेरोजगारी लाभ के लिए किए गए आवेदन से अब अमेरिका में बेरोजगारी का आंकड़ा 4 करोड़ पार कर गया है। यानी मार्च के मध्य में कोरोनावायरस महामारी के जोर पकड़ने के बाद से अमेरिका में अब हर चार अमेरिकी श्रमिकों में से एक बेरोजगार हो गया है।

दिल्ली: 10 दिन में तैयार हुई दुनिया की सबसे बड़ी Covid-19 केयर फैसिलिटी के बारे में सबकुछ जानिए

us

हालांकि रिपोर्ट में कहा गया है कि लगातार आठवें सप्ताह में बेरोजगारी लाभ के लिए नए आवेदनों में कमी आई है, जो कभी लगभग 69 लाख चरम पर पहुंच गई थी, जबकि बेरोजगारी का यह स्तर अभी भी अमेरिका में निर्मित ऐतिहासिक शिखर से काफी दूर है।

us

भारत में तैयार हो रही हैं कोरोना वायरस की दो वैक्सीन, जानिए इनसे जुड़ी हर बात

भारत-चीन सीमा विवाद: ट्रंप बोले-अमेरिका मध्यस्थता के लिए तैयार है

रिपोर्ट कहती है कि बेरोजगारी का ताजा दावा न केवल ताजा छंटनी का नतीजा हो सकते हैं, बल्कि इस बात के भी सबूत मिले हैं कि राज्य एक बैकलॉग के माध्यम से अपना काम कर रहे हैं, जबकि कुछ-कुछ स्थानों पर ओवरकाउंटिंग और अंडरकाउंटिंग से काम हो रहा है, जिससे कंपनियों की छंटनी को ठीक से माप सकना मुश्किल है।

us

केवल ऐसे विदेशी युवाओं को ही कामकाजी वीजा में प्राथमिकता देगा अमेरिका, पेश हुआ एच-1बी विधेयक

महामारी बेरोजगारी सहायता कार्यक्रम (Pandemic Unemployment Assistance program) के तहत अमेरिकी कांग्रेस ने बेरोजगार लाभों के एक विस्तारित पैलेट को मंजूरी दी है, जिसमें फ्रीलांसर, स्व-नियोजित और स्व-संविदा वर्कर और अन्य लोग शामिल थे, जो सामान्य रूप से राज्य के नियमों के तहत योग्य नहीं होंगे।

us

चीन से US कंपनियों को वापस लाने के लिए अमेरिकी कांग्रेस में लाया गया कानून

अमेरिकी श्रम विभाग के मुताबिक चूंकि कई राज्य बेरोजगारी लाभ वाले आवेदनों से अटे पड़े हैं, इसलिए कार्यक्रम को लागू करने की गति प्रभावित हुई और यह भी हो सकता है कि बेरोजगारी लाभ के पात्रों तक अभी तक कार्यक्रम पूरी तरह से न भी पहुंचा हो।

us

भारत-चीन की सीमा के बारे में नहीं जानते डोनाल्ड ट्रंप, मीटिंग बीच में छोड़कर चले गए थे PM मोदी: किताब

नेशनल ब्यूरो ऑफ इकोनॉमिक रिसर्च के एक शोध सहायक एलिजाबेथ पंचोटी ने कहा, जब हम सोचते हैं कि बेरोजगारी लाभ के समाप्त होने पर क्या करना है, तो यह जानना उपयोगी होगा कि कितने लोगों को वास्तव में लाभ मिल रहा है। उन्होंने आगे कहा कि श्रम विभाग की रिपोर्ट जानकारी के लिए सबसे अच्छा स्रोत हो सकता है, लेकिन उन्होंने एक अधूरी तस्वीर पेश की है।

us

अमेरिका में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 1 लाख के पार, अब तक 100,396 लोगों की मौत

गौरतलब है अधिकारियों ने गुरुवार को पुष्टि की है कि अनिश्चितता के बीच दशकों से चली आ रही परंपरा को तोड़ते हुए ट्रम्प प्रशासन इस साल की गर्मियों में अपने आर्थिक पूर्वानुमानों के लिए मध्यांतर अपडेट जारी नहीं करेगा। ट्रंप प्रशासन का यह निर्णय उन्हें अपने आंतरिक अनुमानों को प्रकट करने से रोक देगा कि मंदी आर्थिक विकास को कितनी गहराई तक नुकसान पहुंचाएगी और देश में कब तक उच्च बेरोजगारी की पीड़ा बनी रहेगी।

परमाणु परीक्षण पर विचार कर रहा डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन, 28 साल बाद हुई इसे लेकर बैठक

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Confirming by the US Department of Labor that the application for unemployment benefits made by 21 lakh people has now crossed the 40 million unemployment figure in the US. That means that one out of every four American workers in the US has now been unemployed since the mid-March thrust of the coronavirus epidemic. However, for the 8th consecutive week, new applications have come down.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more