• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

100 दिन शांति से गुजरने के बाद न्यूजीलैंड में फिर कोरोना का कहर, लगा 12 दिन का लॉकडॉउन

|

ऑकलैंड। जिस बात की आशंका इस साल की शुरुआत में जताई गई थी, अब वह सच साबित होने लगी है। यूरोप के बाद कोरोना वायरस ने न्‍यूजीलैंड में वापसी की है। मई के माह में देश की प्राइम मिनिस्‍टर जेसिंदा आरड्रेन ने देश में कोरोना फ्री डिक्‍लेयर किया था। लेकिन अब 100 दिन बाद ही देश में फिर से संक्रमण के नए मामलों ने दस्‍तक देनी शुरू कर दी है। देश में एक बार फिर लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया है और फिर से लोगों को घरों में रहना होगा।

कोरोना वैक्सीन: ऑक्सफोर्ड ही नहीं, ये 6 वैक्सीन भी पहुंच चुकी हैं थर्ड फेज के ट्रायल में

यह भी पढ़ें-यूरोप में लौटा कोरोना वायरस, फ्रांस, जर्मनी में नए केसेज

ऑकलैंड में लगा लॉकडाउन

ऑकलैंड में लगा लॉकडाउन

शुक्रवार को पीएम आरड्रेन ने ऑकलैंड में नए केसेज सामने आने के बाद 12 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की। ऑकलैंड न्‍यूजीलैंड का सबसे घनी आबादी वाला शहर है जिसकी जनसंख्‍या करीब 15 लाख है। पीएम आरड्रेन ने कहा कि शहर लेवल थ्री लॉकडाउन में रहेगा। वहीं देश के दूसरे हिस्‍सों में लेवल टू के प्रतिबंध लागू रहेंगे यानी 100 से ज्‍यादा लोगों के इकट्ठा होने को मंजूरी नहीं है। ये नियम इसी हफ्ते से प्रभावी हैं। लेवल थ्री के प्रतिबंधों के तहत लोगों को घरों में ही रहना होता है। वो सिर्फ जरूरी काम के लिए ही बाहर निकल सकते हैं। स्‍कूलों में सिर्फ सीमित क्षमता के तहत बच्‍चों को आने की मंजूरी दी जाती है। साथ ही सार्वजनिक स्‍थल जैसे म्‍यूजियम, प्‍लेग्राउंड्स और जिम बंद रहेंगे।

देश के लिए बड़ा झटका नए मामले

देश के लिए बड़ा झटका नए मामले

न्‍यूजीलैंड में संक्रमण के नए मामलों का सामने आना देश के लिए बड़ा झटका है। देश में पहले ही पांच हफ्ते का सख्‍त लॉकडाउन लगाया था। इसके तहत हर तरह के बिजनेस और स्‍कूलों को बंद रखा गया था। साथ ही लोग अपने घरों में कैद हो गए थे। आरड्रेन चेतावनी भी दी है कि देश में संक्रमण के मामलों में इजाफा भी हो सकता है। आरड्रेन ने कहा, 'प्रतिबंधों को हटाने के बाद और अब नए केसेज में तेजी से इजाफा होना सबसे खराब स्थिति है जो हम ऑकलैंड और न्‍यूजीलैंड की अर्थव्‍यवस्‍था के लिए देखने को मजबूर हैं।' उन्‍होंने कहा कि देश एक बार कोविड से निजात पा चुका है और फिर से विजयी साबित होगा।

200 किलोमीटर दूर भी मामला

200 किलोमीटर दूर भी मामला

न्‍यूजीलैंड के डायरेक्‍टर जनरल ऑफ हेल्‍थ डॉक्‍टर एश्‍ले ब्‍लूमफील्‍ड ने जानकारी दी कि 12 केस ऐसे हैं जो स्‍थानीय हैं। देश में इस समय 49 केसेज हैं जिसमें से 29 केस हालिया संक्रमण से जुड़े हैं। ऑकलैंड के अलावा टोकोरोआ में भी केस हैं। यह जगह ऑकलैंड से करीब 200 किलोमीटर दूर है और इसकी आबादी 24,000 है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय का कहना है कम से कम दो पॉजिटिव केस ऐसे हैं जो ऑकलैंड के संक्रमित व्‍यक्ति के संपर्क में आने के बाद सामने आए हैं। ब्‍लूमफील्‍ड ने कहा कि जिन केसेज में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है उनके करीब 771 क्‍लोज कॉन्‍टैक्‍ट्स का पता लगा लिया गया है।

दोबारा कैसे फैला संक्रमण बड़ा सवाल

दोबारा कैसे फैला संक्रमण बड़ा सवाल

गुरुवार को 15,700 टेस्‍ट्स किए गए हैं। एक दिन में केसेज का यह सर्वाधिक आंकड़ा है। जब से महामारी फैली है तब से न्‍यूजीलैंड ने 500,000 से ज्‍यादा टेस्‍ट कर डाले हैं। अब तक यहां पर 1251 कोरोना वायरस केसेज की पुष्टि हुई है और 22 लोगों की मौत हो चुकी है। अभी तक इस बात की जानकारी नहीं मिल सकी है कि आखिर दोबारा संक्रमण कैसे फैला है। न्‍यूजीलैंड ने मार्च में अपने सभी बॉर्डर सील कर दिए थे और सिर्फ स्‍थानीय जनता को ही देश में कहीं आने-जाने की मंजूरी थी। जो लोग बाहर से आए उन्‍हें 14 दिन क्‍वारंटाइन सेंटर में बिताने पड़े थे। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय का कहना है कि 68 प्रतिशत केस ऐसे हैं जो बाहर से आए हैं या फिर जिनका संबंध बाहर से आए संक्रमित व्‍यक्तियों से है।

12 अगस्‍त को रूस से आ रही है पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन, जानिए इसके बारे में सबकुछ

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Coronavirus returns in New Zealand 12 day lockdown in its biggest city.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X