• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Coronvirus: छोटे से देश नाइजीरिया ने चीन को दी चेतावनी, हमारे नागरिकों को कुछ हुआ तो बर्दाश्‍त नहीं करेंगे, Video

|

बीजिंग। कोरोना वायरस की वजह से न सिर्फ अमेरिका और यूनाइटेड किंगडम (यूके) जैसे विकसित देश चीन से नाराज हैं, बल्कि अफ्रीकी देश जहां पर बीजिंग का मिलियन डॉलर लगा हुआ है, वह भी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी के गढ़ चीन से खफा हैं। नाइजीरिया जो चीन के मुकाबले हर लिहाज से काफी छोटा है, उसने चीन को वॉर्निंग दी है। नाइजीरिया में चीनी दूतावास को ऑफिस में बुलाकर देश के निचले सदन के स्‍पीकर ने फटकारा है। गौरतलब है कि चीन के गुआनझोउ शहर में पिछले दिनों अफ्रीकी छात्रों और विशेषज्ञों के साथ बुरा बर्ताव किया गया था। उन्‍हें न सिर्फ जबरन कोविड-19 की टेस्टिंग के लिए मजबूर किया गया बल्कि उनके साथ मारपीट भी की गईं।

यह भी पढ़ें-जम्‍मू कश्‍मीर की नई Domicile policy पर UNSC जा पहुंचा पाकिस्‍तानयह भी पढ़ें-जम्‍मू कश्‍मीर की नई Domicile policy पर UNSC जा पहुंचा पाकिस्‍तान

स्‍पीकर ने दिया राष्‍ट्रपति का संदेश

स्‍पीकर ने दिया राष्‍ट्रपति का संदेश

नाइजीरिया के स्‍पीकर फेमी ग्‍बजाबियामिला का एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है। इस वीडियो में वह चीन के राजदूत झोउ पिंगजियान के साथ बातचीत करते हुए नजर आ रहे हैं। उन्‍हें वीडियो में चीन को चेतावनी देते हुए सुना जा सकता है। स्‍पीकर देश के राष्‍ट्रपति मुहम्‍मद बुहारी की चिंताओं के बारे में बात कर रहे थे। फेमी पिंगजियान से कह रहे हैं, 'एक सरकार के तौर पर हम चीनी या फिर दूसरे देशों के नागरिकों के साथ होने वाले गलत बर्ताव की मंजूरी नहीं देंगें। लेकिन इसके साथ ही हम दूसरे देशों में बसे नाइजीरियाई नागरिकों के साथ भद्दा बर्ताव भी नहीं होने देंगे।' उन्‍होंने आगे क‍हा, 'आप जिस तरह से आप अपने नागरिकों के साथ बर्ताव करते है, उसी तरह की उम्‍मीद हम दूसरे देशों के नागरिकों के लिए भी करते हैं।'

चीन ने किया है 12 लाख करोड़ का निवेश

इसके बाद फेमी ने चीनी राजदूत झोउ को वॉर्निंग देते हुए कहा, 'हम यह बिल्‍कुल बदार्श्‍त नहीं करेंगे कि हमारे नागरिक आपके कानूनों को तोड़ें। मगर एक नागरिक के अपराध की सजा पूरे देश को नहीं मिलनी चाहिए। इस केस में ऐसा ही लगता है। आप एक ही नजरिए से पूरे देश को नहीं देख सकते हैं। वजहें चाहें जो भी हों मगर चीन में उसका प्रयोग पूरे समुदाय के खिलाफ नहीं होना चाहिए। अगर ऐसा हुआ तो फिर इसे बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा।'चीन के गुआनझोउ शहर में कई अफ्रीकी नागरिकों को उनके मकान मालिकों ने घरों से निकाल दिया है। चीन ने नाइजीरिया में साल 2018 तक करीब 12 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया है।

अफ्रीकी मूल के लोगों पर हो रहे हैं हमले

अफ्रीकी मूल के लोगों पर हो रहे हैं हमले

चीन में पिछले दिनों विदेश से आने वाले मामलों की वजह से कोरोना वायरस के नए मामले देखे गए हैं। लेकिन अफ्रीकी मूल के जिन लोगों के साथ गलत बर्ताव किया गया, उनकी ट्रैवल हिस्‍ट्री के बाद भी उनके साथ मारपीट की गई हैं। अफ्रीकी महाद्वीप में अब चीन को लेकर खासी नाराजगी है। चीनी राजदूत ने अपने बचाव में कहा कि चीन की अथॉरिटीज नाइजीरिया के साथ रिश्‍तों को गंभीरता से लेती हैं। जो वीडियो वायरल हो रहा है उसे नाइजीरिया के सांसद ओलोयो अकीन अलाबी की तरफ से शेयर किया गया है।

पूरे अफ्रीका में चीन को लेकर नाराजगी

पूरे अफ्रीका में चीन को लेकर नाराजगी

अफ्रीका में सरकारों के अलावा मीडिया और नागरिकों में चीन को लेकर बहुत गुस्‍सा है। ऐसे कई वीडियोज ट्विटर पर आए हैं जिसमें चीन की पुलिस को सड़कों पर सो रहे अफ्रीकी नागरिकों या फिर घरों में रह रहे अफ्रीका के नागरिकों को परेशान किया जा रहा है। अफ्रीकी नागरिकों पर चीनी अथॉरिटीज वायरस फैलाने का आरोप लगा रही हैं। आपको बता दें कि अफ्रीका में चीन ने कई प्रोजेक्‍ट्स में निवेश किया है।

English summary
Coronavirus Impact: Nigerian President slams China says maltreatment of Nigerians is not acceptable.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X