• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

चीनी छात्रों ने किया 'करामाती कोट' का आविष्कार, ओढ़ने पर कैमरे के सामने अदृश्य हो जाएगा इंसान

चीनी प्रोफेसर का मानना है, कि इंसानों को अदृश्य करने वाले इस कोट का इस्तेमाल युद्ध में किया जा सकता है। इस कोट के जरिए दुश्मनों के सर्विलांस कैमरे से सैनिक खुद को बचा सकते हैं।
Google Oneindia News
invisibility cloak

China invent invisibility cloak: विज्ञान की दुनिया में नये नये करामात करने वाले चीन में ग्रेजुएशन के छात्रों ने करामाती चादर का आविष्कार किया है, जिसमें अविश्वसनीय क्षमता है। चीन के ग्रेजुएशन के छात्रों ने एक करामाती चादर का आविष्कार किया है, जिसमें इंसानी शरीर को आसानी से छिपाया जा सकता है, यानि उस चादर को ओढ़ने के बाद इंसान सीसीटीवी कैमरे में दिखाई नहीं देगा। रिपोर्ट के मुताबिक, चीनी छात्रों ने जिस अदृश्य लबादे का आविष्कार किया है, उसका इस्तेमाल करने पर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस द्वारा संचालित कैमरों में इंसान अपने आप को छिपा सकता है।

करामाती कोट का आविष्कार

करामाती कोट का आविष्कार

रिपोर्ट के मुताबिक, दक्षिण चीन के एक यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले छात्रों का कहना है, कि उन्होंने इंसानी शरार को कैमरों के सामने छिपने वाले मशीन का आविष्कार किया है, जिसे 'इनविसडिफेंस कोट' नाम दिया गया है। इस कोट को हालांकि, नंगी आंखों से तो आसानी से देखा जा सकता है, लेकिन सीसीटीवी में ये कोट गायब हो जाएगा। यानि, अगर किसी ने ये कोट पहन लिया है, तो फिर वो दिखाई नहीं देगा। रिपोर्ट के मुताबिक, ये यंत्र एक चादर की तरह डिजाइन में है, जिसे कोट की तरह पहना जा सकता है। ये चादर एक ऐसे पैटर्न में शामिल है, जो दिन के समय कैमरों को 'अंधा' कर सकता है और रात में इन्फ्रारेड कैमरों को धोखा देने के लिए गर्मी पैदा करने वाले तत्व हैं भी इसमें शामिल है।

रहस्यमयी चादर में कई खासियत

रहस्यमयी चादर में कई खासियत

वुहान विश्वविद्यालय में स्कूल ऑफ कंप्यूटर साइंस के प्रोफेसर वांग झेंग ने परियोजना का निरीक्षण किया है और उन्होंने अपनी इस रिसर्च रिपोर्ट में बताया है कि, "आजकल, कई सर्विलांस इन्स्ट्रूमेंट इंसानी शरीर का पता लगा सकते हैं। सड़क पर लगे कैमर पैदल चलने वालों का पता लगाते हैं और आजकल की स्मार्ट कारें सड़कों पर पैदल चलने वाले लोगों के अलावा सड़क पर उनके सामने कोई स्पीड ब्रेकर है या कुछ और, इसका पता लगाने में सक्षम हो गई हैं, लेकिन, हमारे इनविसडिफेंस (कोट) को पहनकर अगर कोई सड़क पर चलता है, तो फिर कमरे में कोट तो कैद होगा, लेकिन कैमरे में इस बात की पहचान नहीं हो सकती है, कि कोट के अंदर कौन है।

कैसा है करामाती कोट का डिजाइन

कैसा है करामाती कोट का डिजाइन

प्रोफेसर वांग झेंग के मुताबिक, InvisDefense की सतह पर एक विशेष रूप से डिजाइन किया गया छलावरण पैटर्न है, जो मशीन को इंसानों की पहचान करने की क्षमता को खत्म कर देता है, यानि मशीन की पहचान करने की एल्गोरिथ्म में हस्तक्षेप कर सकता है, इस प्रकार ये टेक्नोलॉजी कैमरे को अंधा कर देता है, जो पहनने वाले को मानव के रूप में नहीं पहचान सकता है। एक सर्विलांस कैमरा मूल रूप से मानव शरीर को कई खास तरह की टेक्नोलॉजी से पहचान करता है, लेकिन अगर किसी तरह से उस टेक्नोलॉजी को ही धोखा दे दिया जाए, तो फिर कैमरा इंसानी शरीर की पहचान करने में बेअसर हो जाएगा और कैमरे के लिए इंसान अदृश्य नजर आएगा।

कैमरे को धोखा देता है कोट

कैमरे को धोखा देता है कोट

प्रोफेसर वांग झेंग के मुताबिक, रात के वक्त भी इनविसडिफेंस कोट एक असामान्य तापमान पैटर्न का निर्माण करता है, जिससे कैमरे इंसानों की पहचान करने में भ्रमित हो जाते हैं, जो आम तौर पर इन्फ्रारेड थर्मल इमेजिंग के जरिए से मानव शरीर को ट्रैक करता है। उन्होंने कहा कि, "सबसे कठिन हिस्सा छलावरण पैटर्न का संतुलन है। परंपरागत रूप से, शोधकर्ताओं ने मशीन की टेक्नोलॉजी को धोखा देने के लिए पहले काफी चमीकीली तस्वीरों का इस्तेमाल किया और फिर रिजल्ट मिलने लगा"। हालांकि, प्रोफेसर ने कहा कि, ये टेक्नोलॉजी सिर्फ सर्विलांस कैमरों को ही धोखा देने में सक्षम है और इंसानी आंखों को ये धोखा नहीं दे सकता है। उन्होंने कहा कि, इस कोट का एल्गोरिदम ऐसा नहीं है, कि ये इंसानों की खुली आंखों के लिए भ्रमजाल का निर्माण कर सके। प्रोफेसर के मुताबिक, पीएचडी छात्र वेई हुई ने इस कोर एल्गोरदम और टेक्नोलॉजी को आविष्कार किया है।

कितनी है करामाती कोट की कीमत

कितनी है करामाती कोट की कीमत

वहीं, शोधकर्ता छात्र वेई ने कहा कि, उनकी टीम ने कम से कम विशिष्ट पैटर्न डिजाइन करने के लिए एल्गोरिदम का इस्तेमाल किया, जो कंप्यूटर सर्विलांस टेक्नोलॉजी को अक्षम कर सकता है। उन्होंने कहा कि, InvisDefense कोट की कीमत 500 युआन यानि $70 डॉलर के आसपास है। छात्र वेई ने कहा कि, "इनविसडिफेंस का इस्तेमाल युद्ध के मैदान में ड्रोन रोधी युद्ध या मानव-मशीन टकराव के दौरान भी किया जा सकता है। इसके अलावा इस कोट के जरिए युद्ध के दौरान दुश्मनों के सर्विलांस कैमरों की निगरानी से भी आसानी से बचा जा सकता है।" चीनी छात्रों के इस आविष्कार ने 27 नवंबर को एक प्रतियोगिता में पहला पुरस्कार जीता है। यह कार्यक्रम हुआवेई टेक्नोलॉजीज कंपनी द्वारा चीन पोस्टग्रेजुएट इनोवेशन एंड प्रैक्टिस कंपीटिशन के हिस्से के रूप में प्रायोजित किया गया था। चीनी छात्रों का ये प्रोजेक्ट AAAI-23 सम्मेलन में भी प्रस्तुत किया जाएगा, जो फरवरी 2023 में वाशिंगटन में आयोजित किया जाएगा।

तालिबान के नये नक्शे पर बवाल, भारत का आधा हिस्सा पाकिस्तान को दिया, PAK का आधा भाग खुद लियातालिबान के नये नक्शे पर बवाल, भारत का आधा हिस्सा पाकिस्तान को दिया, PAK का आधा भाग खुद लिया

Comments
English summary
Invisibility cloak: China invented Invisibility cloak, which hide humans in front of cameras.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X