• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

चीनी शोधकर्ताओं को चमगादड़ों में मिला कोरोना वायरस का नया बैच

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 12 जून: कोरोना वायरस कब और कहां से आया, इसका राज अभी भी बरकरार है। जिस वजह से वैज्ञानिक SARS-CoV-2 की जांच कर रहे हैं। इस बीच चीनी शोधकर्ताओं ने दावा किया कि उन्होंने चमगादड़ों में कोरोना वायरस के एक नए बैच की खोज की है, जो आनुवंशिक रूप से कोविड-19 का दूसरा सबसे करीबी हो सकता है। ये शोध दक्षिण-पश्चिमी चीन के युन्नान प्रांत के एक छोटे से क्षेत्र में शेडोंग विश्वविद्यालय के वेइफेंग शी और उनके सहयोगियों की ओर से किया जा रहा है।

corona

शोधकर्ताओं ने बताया कि उनके अध्ययन से पता चलता है कि चमगादड़ में कितने कोरोना वायरस होते हैं और कितने लोगों में फैलने की क्षमता रखते हैं। उन्होंने मई 2019 और नवंबर 2020 के बीच जंगल में रहने वाले चमगादड़ों के नमूने इकट्ठे किए, जिसमें लार, मल-मूत्र का स्वैब शामिल है। जर्नल सेल में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक विभिन्न चमगादड़ प्रजातियों से कुल 24 कोरोना वायरस जीनोम को इकट्ठा किया गया। जिसमें चार SARS-CoV-2 जैसे कोरोना वायरस शामिल हैं।

कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों का सहारा बनेगी राजस्थान सरकार, हर माह मिलेगी ढाई हजार रुपए की पेंशनकोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों का सहारा बनेगी राजस्थान सरकार, हर माह मिलेगी ढाई हजार रुपए की पेंशन

जर्नल में आगे बताया गया कि एक सैंपल (RpYN06) Horseshoe प्रजाति के चमगादड़ से लिया गया था। ये आनुवंशिक रूप से SARS-CoV-2 वायरस के समान पाया गया, जो वर्तमान महामारी का कारण बन रहा है। हालांकि, स्पाइक प्रोटीन में आनुवंशिक अंतर थे। शोधकर्ताओं ने निष्कर्ष निकाला कि जून 2020 में थाईलैंड से एकत्र किए गए SARS-CoV-2 काफी ज्यादा चमगादड़ों में फैला है। साथ ही अभी तक की जांच से ये ही पता चल रहा कि चमगादड़ ही SARS-CoV-2 की उत्पत्ति का कारण हैं।

English summary
Chinese researchers found new batch of corona virus in bats
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X