• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

खराब क्‍वालिटी के हैं चीन के मिलिट्री इक्विपमेंट, अमेरिकी अधिकारी ने दी वॉर्निंग

|

बीजिंग। चीन जो पिछले कुछ समय से हथियारों की बिक्री में अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर खासी तरक्‍की कर रहा है। हथियारों की बिक्री के मामले में चीन दुनिया का पांचवां देश बन गया है। अब सिर्फ अमेरिका, चीन, फ्रांस और जर्मनी ही चीन से आगे हैं। लेकिन विशेषज्ञों की मानें तो चीन के मिलिट्री उत्‍पादों की गुणवत्‍ता बेहद खराब है और वह इस क्षेत्र में बाकी देशों के आगे नहीं टिकते हैं। यहां तक कि अमेरिकी सरकार के अधिकारी भी इस बात को मानने में नहीं हिचकते हैं।

df41-china-national-day.jpg

अपने भाषण में लगाई चीन को फटकार

अमेरिकी रक्षा विभाग के सहायक सचिव आर क्‍लार्क कूपर ने रूस और चीन दोनों को ही 31 अक्‍टूबर को दिए अपने भाषण में फटकार लगाई है। कूपर ने अपने भाषण में चीन को काफी बुरा भला कहा और कहा कि वह ड्रोन और ऐसे हथियारों की कीमतें कम करके खतरा बढ़ा रहा है। चीन इसके अलावा घूस देकर भी हथियार बिक्री के क्षेत्र में अपने कदम मजबूत करना चाहता है। चीन अपने प्रभाव और इंटलीजेंस का प्रयोग करके इस क्षेत्र में आगे बढ़ने की कोशिशों में है। यह खबर ऐसे समय आई है जब एक अक्‍टूबर को चीन ने अपना 70वें नेशनल डे के मौके पर बीजिंग में एक विशाल मिलिट्री परेड का आयोजन हुआ। इस मौके पर चीन ने अपनी खतरनाक मिसाइल डीएफ-41 का भी प्रदशर्न किया था। डीएफ-41 एक इंटर-कॉन्टिनेंटल मिसाइल है जो सिर्फ कुछ मिनटों के अंदर अमेरिका में तबाही मचा सकती है। इस मिसाइल को लेकर अमेरिकी मीडिया में भी हलचल तेज थी।

English summary
According to experts Chinese military equipment lack qualities.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X