• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Taiwan की सीमा में लगातार दूसरे दिन घुसे चीनी फाइटर, ताइवान ने भेजे अपने जेट, कहा- क्षेत्र में समस्या न बने चीन

|

ताइपेई। ताइवान (Taiwan) और चीन (China) के बीच चल रहा तनाव थमने का नाम नहीं ले रहा है। शनिवार को एक बार फिर चीन के 19 फाइटर जेट ने ताइवान की मध्य रेखा को पार करते हुए क्षेत्र में घुसपैठ की। चीन की आक्रामक कार्रवाई के जवाब में ताइवान की एयरफोर्स ने अपने जेट भेजे। ये लगातार दूसरा दिन है जब चीन की एयरफोर्स ने ताइवान के क्षेत्र में उड़ान भरी है। शुक्रवार को भी चीन के 18 फाइटर जेट ताइवान की सीमा में घुसे थे।

ली तेंग-हुई के सम्मान में ताइवान कर रहा कार्यक्रम

ली तेंग-हुई के सम्मान में ताइवान कर रहा कार्यक्रम

चीन उकसावे की ये कार्रवाई ऐसे समय में कर रहा है जब ताइवान की सरकार, अधिकारी और वरिष्ठ अमेरिकी दूत ताइवान के मिस्टर डेमोक्रेसी के नाम से मशहूर पूर्व राष्ट्रपति ली-तेंग हुई को विदाई देने के लिए इकठ्ठा हुए हैं। ली को 'ताइवान के लोकतंत्र का जनक' के रूप में जाना जाता है। वे 1988 से 2000 तक ताइवान के राष्ट्रपति रहे थे। 30 जुलाई 2020 को ली का निधन हो गया था। वे हमेशा चीनी प्रशासन की आंख की किरकिरी बने रहे थे। यही वजह है कि उनके सम्मान में आयोजित समारोह में अमेरिका के प्रतिनिधि का पहुंचना चीन को खटक रहा है और चीन अपने विमान बार-बार ताइवान की सीमा में भेज कर ये जता रहा है कि ये द्वीप उसका हिस्सा है।

    China की Taiwan पर कब्जा करने की धमकी, America से बोला- आग से न खेलो | वनइंडिया हिंदी
    क्षेत्र में समस्या न बने चीन- ताइवान रक्षा मंत्रालय

    क्षेत्र में समस्या न बने चीन- ताइवान रक्षा मंत्रालय

    चीन की कार्रवाई पर ताइवान ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए तुरंत अपने फाइटर जेट भेजे। ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने अंग्रेजी में किए ट्वीट में बताया कि "पीएलए ने आज फिर से ताइवान स्ट्रेट की मध्य रेखा को पार करके हमारी संप्रभुता का उल्लंघन किया और क्षेत्रीय शांति और स्थिरता को अस्थिर किया है। मिनिस्ट्री ऑफ नेशनल डिफेंस इसकी कड़ी निंदा करता है और पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना से आत्मसंयम बरतने और किसी भी तरह से हिंद-प्रशांत क्षेत्र में समस्या न उत्पन्न करने को कहा है।"

    ताइवान ने जवाब में भेजे अपने फाइटर जेट

    ताइवान ने जवाब में भेजे अपने फाइटर जेट

    आगे किए गए ट्वीट में रिपब्लिक ऑफ चाइना (आधिकारिक रूप से ताइवान अपना यही नाम लिखता है) के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि "19 सितम्बर को बारह J-16 फाइटर्स, दो J-10 फाइटर्स, दो J-11 फाइटर्स, दो H-6 बमवर्षक विमान और एक Y-8 ASW चीनी विमानों ने ताइवान स्ट्रेट की मध्य रेखा पार की और ताइवान के दक्षिणी पश्चिमी अदीज क्षेत्र में प्रवेश किया। इसके बाद ताइवान एयरफोर्स (ROCAF) ने अपने फाइटर्स जेट को चीनी विमानों के पीछे निगरानी के लिए भेजा। साथ ही हवाई रक्षा मिसाइल प्रणाली की तैनाती भी की है।"

    ताइवान ने पीएलए की कार्रवाई को बताया धमकी

    ताइवान ने पीएलए की कार्रवाई को बताया धमकी

    चीन की हरकतों पर ताइवान ने पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना से संयम बरतने और ताइवान के साथ तनाव बढ़ाने से बचने को कहा है। ताइवान ने कहा कि "पीएलए की एकतरफा कार्रवाई धमकी भरी है और इससे ताइवान के लोगों में नाराजगी है। हम चीन से शांति और क्षेत्रीय स्थिरता बनाए रखने की अपील करते हैं।"

    चीन ने इससे पहले ताइवान के पास युद्धाभ्यास करने की घोषणा की थी। चीन का दावा है कि ताइवान उसके अधिकार क्षेत्र के तहत आता है और उसका भूभाग है। इसके चलते वह अपने क्षेत्र में ये अभ्यास कर रहा है। जबकि ताइवान की राष्ट्रपति साइ इंग-वेन ताइवान को संप्रभु राष्ट्र के तौर पर देखती हैं और वन चाइना पॉलिसी को नहीं मानती हैं। पिछले दिनों चीनी सेना की धमकी के जवाब में उन्होंने कहा था कि हम अपनी एक इंच जमीन भी नहीं देंगे।

    अमेरिकी प्रतिनिधि के दौरे से बौखलाया है चीन

    अमेरिकी प्रतिनिधि के दौरे से बौखलाया है चीन

    चीन ने युद्धाभ्यास की कार्रवाई ऐसे समय में की है जब अमेरिका के वित्त मामलों के अंडरसेक्रेटरी कीथ क्रैच तीन दिवसीय दौरे पर ताइपेई पहुंचे हुए हैं। कीथ पिछले चार दशक में अमेरिका से आने वाले सबसे ऊंचे अधिकारी हैं। चीन किसी भी देश द्वारा ताइवान से संबंध को लेकर अपना विरोध दर्ज कराता है। लेकिन चीन के विरोध के बावजूद अमेरिकी अधिकारी के पहुंचने से चीन बौखलाया हुआ है। इसके पहले पिछले महीने भी अमेरिका के एक प्रतिनिधि के पहुंचने का चीन ने विरोध किया था। चीन का मानना है कि ताइवान उसका हिस्सा है और वह किसी भी देश से ताइवान के स्वतंत्र संबंध रखने को लेकर अपना विरोध दर्ज कराता है। हाल के दिनों में चीन से तनाव बढ़ने के बाद अमेरिका ने एक बार फिर से ताइवान से स्वतंत्र संबंधों को लेकर तेजी दिखानी शुरू की है। यही वजह है कि अमेरिकी प्रतिनिधि तीन दिवसीय दौरे पर ताइवान पहुंचे हैं।

    बीजिंग ने बताया है आवश्यक कार्रवाई

    बीजिंग ने बताया है आवश्यक कार्रवाई

    वहीं शुक्रवार को बीजिंग में रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता रेन गुओकियांग ने युद्धाभ्यास को एक उचित और आवश्यक कार्रवाई बताया था। चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था कि ताइवान चीन का क्षेत्र है और पूरी तरह से चीन का अंदरूनी मामला है। इसके साथ ही रेन ने ताइवान की सत्तारूढ़ डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी पर अमेरिका के साथ मिलीभगत का आरोप भी लगाया था। हालांकि चीनी प्रवक्ता ने युद्धाभ्यास को लेकर ज्यादा जानकारी नहीं दी थी।

    Taiwan की सीमा में घुसे 18 चीनी जेट, ताइवान एयरफोर्स ने खदेड़ा, दोनों देशों में तनाव चरम पर

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    chinese fighter again entered in taiwan air space second consecutive day tension increased
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X