• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

चाइना बोला-कोरोना की दूसरी लहर से परेशान भारत की हम हर मदद करने के लिए तैयार हैं

|

नई दिल्‍ली, अप्रैल 22: भारत में कोरोना की दूसरी लहर में स्थिति बेकाबू होती जा रही है। ऐसे में भारत के पड़ोसी देश चीन ने भारत की ओर मदद का हाथ बढ़ाया है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने गुरुवार को कहा किकि वह भारत को कोरोना के इस प्रकोप में सहायता और चिकित्सा आपूर्ति प्रदान करने के लिए तैयार है।

प्रवक्ता वांग वेनबिन

भारत में महामारी की स्थिति पर गुरुवार को चीनी राज्य मीडिया के एक प्रश्न के जवाब में, चीनी विदेश मंत्रालय के ने कहा कि बीजिंग भारत की हर मदद करने के लिए तैयार है। "कोविड -19 महामारी सभी मानव जाति का सामान्य दुश्मन है। अंतरराष्ट्रीय समुदाय को महामारी से लड़ने के लिए एकजुट होने की जरूरत है।

भारत में टूटे पिछले रिकार्ड
बता दें भारत कोरोना महामारी की एक खतरनाक दूसरी लहर का सामना कर रहा है, अचानक बढ़ी मरीजों की संख्‍या में कारण स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचा नाकाफी साबित हो रहा है। भारत में पिछले 24 घंटों में 314,835 नए कोरोनोवायरस मामले दर्ज हुए है जो पिछले साल महामारी शुरू होने के बाद दुनिया में एक दिन में दर्ज होने सर्वाधिक मामले हैं। इसी अवधि में भारत में बीमारी से मरने वालों की संख्या 2,104 हो चुकी है। यूएस-आधारित जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के कोविड -19 ट्रैकर के अनुसार, भारत में अब लगभग 16 मिलियन है, जो अमेरिका की लगभग 32 मिलियन की गिनती के बाद दूसरे स्थान पर है।

चीन ने कहा हम भारत को आवश्‍यक सहायता देंगे
चीनी पक्ष ने कहा कि भारत में महामारी की स्थिति गंभीर है और महामारी की रोकथाम और चिकित्सा आपूर्ति की अस्थायी कमी है। हम भारत को आवश्यक सहायता प्रदान करने के लिए तैयार हैं ताकि वे महामारी को नियंत्रित कर सकें। हालांकि यह तुरंत पता नहीं लगाया जा सकता है कि बीजिंग ने आधिकारिक तौर पर नई दिल्ली को मदद का प्रस्ताव बढ़ाया है या नहीं। एचटी में प्रकाशित खबर के अनुसार भारतीय निजी कंपनियाँ चीन से सोर्स सप्लाई करने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन पिछले कुछ दिनों में एयर फ्रेट की लागत में अचानक बढ़ोतरी हुई है।

पिछले साल भारत भी कर चुका है चाइना की मदद
पिछले साल जब चीन में कोविड -19 का प्रकोप सबसे गंभीर स्थिति में था, चिकित्सा आपूर्ति के साथ बीजिंग की मदद करने के लिए भारत उन देशों में शामिल था। भारत ने उस समय चीन को लगभग 2.11 करोड़ की लागत से मास्क, दस्ताने और आपातकालीन चिकित्सा उपकरण सहित 15 टन चिकित्सा आपूर्ति प्रदान की थी। पिछले साल मार्च में लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में, विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने कहा था कि चिकित्सा आपूर्ति में 100,000 सर्जिकल मास्क, 500,000 जोड़े सर्जिकल दस्ताने, 4,000 एन -95 मास्क, 75 जलसेक पंप, 30 शामिल हैं। एंटरल फीडिंग पंप, और 21 डिफाइब्रिलेटर दिए है।

पीएम ने जिनपिंग को लिखा था पत्र

भारत की वायु सेना सी -17 उड़ान में चीन को दी गई आपूर्ति को चीनी शहर वुहान में एक हुबेई चैरिटी महासंघ को सौंप दिया गया था, जो महामारी का पहला उपकेंद्र था जहां दिसंबर 2019 में वायरस उभरा था। फरवरी 2020 में, भारतीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति शी जिनपिंग को पत्र लिखा था, जो प्रकोप से लड़ने के लिए नई दिल्ली की सहायता का विस्तार कर रहे थे। इसके तुरंत बाद, भारत में चीन के राजदूत सुन वेइदॉन्ग ने भारत और कोरोनावायरस के खिलाफ अपनी लड़ाई में भारत की सहायता के लिए एकजुटता की सराहना की थी।

VIDEO: अस्पताल की हालत बताते हुए रोने लगे CEO, कहा- 2 घंटे में नहीं आई ऑक्सीजन तो कई मरीजों की होगी मौतVIDEO: अस्पताल की हालत बताते हुए रोने लगे CEO, कहा- 2 घंटे में नहीं आई ऑक्सीजन तो कई मरीजों की होगी मौत

चीन ने भारत का एहसान चुक्‍ता कर दिया था

जब भारत में महामारी की पहली लहर गंभीर हो गई थी तब चीन ने अप्रैल में भारत का एहसान वापस कर दिया था, कोविड से संबंधित चिकित्सा आपूर्ति के साथ दर्जनों विमानों को भेज दिया। 390 टन मेडिकल सप्लाई करने वाली शंघाई, ग्वांगझू, शेनज़ेन, शीआन और हॉन्गकॉन्ग से भारत की फ़्लाइट ने उड़ान भरी थी।हालांकि, इसके तुरंत बाद, पूर्वी लद्दाख में विवादित सीमा के साथ सैन्य घर्षण के बाद, दशकों से चला रहा मैत्री संबंध टूट गए। लगभग एक साल बाद, दोनों देश अभी भी स्थिति से उबर नहीं पाए हैं।

https://hindi.oneindia.com/photos/big-news-of-april-22-oi61143.html#photos-1

English summary
China said we are ready to provide outbreak-control help to India in second wave of Corona
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X