• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

चीन ने बॉर्डर पर तैनात किया रॉकेट सिस्टम, लंबी दूरी तक मार करने में सक्षम, भारत के लिए टेंशन की बात

|

बीजिंग, अप्रैल 20: भारत से तनाव के बीच चीन ने भारतीय सीमा के पास लंबी दूरी तक मार करने वाले घातक रॉकेट सिस्टम की तैनाती कर दी है। चीन की आर्मी पीएलए ने लंबी दूरी तक मार करने वाली रॉकेट लॉन्चर को हिमालय में तैनात कर दिया है। चीनी अखबार साउथ चायन मॉर्निंग पोस्ट ने लिखा है कि भारत से तनाव में कमी होते नहीं देख पीएलए ने बॉर्डर पर रॉकेट सिस्टम तैनात करने का फैसला लिया गया है। ये पहली बार है जब पीएलए ने लॉंग रेज रॉकेट सिस्टम भारतीय सीमा के पास तैनात करने की पुष्टि की है।

लॉंग रेज रॉकेट सिस्टम की तैनाती

लॉंग रेज रॉकेट सिस्टम की तैनाती

साउथ चायना मॉर्निंग पोस्ट के मुताबिक ये पहली बार है जब पीएलए ने माना है कि इंडियन बॉर्डर पर रॉकेट लॉन्चर सिस्टम की तैनाती की गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि इंडियन आर्मी से पिछले हफ्ते वार्ता विफल हो जाने के बाद पीएलए ने रॉकेट सिस्टम को इंडियन बॉर्डर के पास तैनात किया है। सोमवार को पीएलए ने अपने बयान में कहा है कि चीन के शिनजियांग से इस रॉकेट सिस्टम को इंडियन बॉर्डर के पास तैनात किया गया है। ये रॉकेट सिस्टम समुन्द्र तल से 5200 मीटर की ऊंचाई पर यानि करीब 17 हजार फीट की ऊंचाई पर तैनात है। ये रॉकेट सिस्टम किसी भी भी वक्त लड़ाई करने में सक्षम है।

रॉकेट सिस्टम पर ज्यादा खुलासा नहीं

रॉकेट सिस्टम पर ज्यादा खुलासा नहीं

हालांकि इस रॉकेट सिस्टम का रेंज कितना है, इसको लेकर पीएलए की तरफ से कोई जानकारी नहीं दी गई है लेकिन पीएलए ने अपने बयान में कहा है कि ये रॉकेट सिस्टम लंबी दूरी तक सटीक मार करने में सक्षम है। ये रॉकेट सिस्टम 2019 में चीन की सेना में शामिल किया गया था। पिछले साल जुलाई में भी खबर आई थी कि चीन ने अपने उत्तर-पश्चिम में हाई एल्टीट्यूड रेगिस्तान के सीमावर्ती इलाके में हाई रेंज वीपन सिस्टम और दक्षिण-पश्चिम में किंघई-तिब्बत पठार पर कई रॉकेट सिस्टम तैनात किए हैं। यहां पर चीन ने पीएचएल-03 समेत कई लॉंग रेंज सिस्टम रॉकेट सिस्टम एमएलआरएस तैनात किया था। जिसकी मारक क्षमता 70 किलोमीटर से 130 किलोमीटर रेंज के बीच है। हालांकि, एक्सपर्ट्स का कहना है कि पीएचएल-03 रॉकेट सिस्टम एडवांस रॉकेट सिस्टम नहीं हैं और इसकी क्षमता भी बेहद कम है।

चीन को डर

चीन को डर

चीनी मीडिया ने दावा किया है कि भारत ने भी चीनी सीमा के पास अत्याधुनिक हथियार सिस्टमों को तैनात कर दिया है, जिसको देखते हुए चीन के लिए रॉकेट लॉन्चर तैनात करना जरूरी हो गया था। चीन के एक्सपर्ट्स का कहना है कि हिमालय रीजन में भारत को जबाव देने के लिए लॉंग रेंज रॉकेट सिस्टम को तैनात करने के अलावा चीन के पास कोई और विकल्प नहीं था। और सिर्फ एमएलआरएस रॉकेट सिस्टम के जरिए ही भारतीय सेना का मुकाबला किया जा सकता है। चीनी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय सेना की चुनौती का सामना अगर चीन को करना है तो उसे सीमा पर अपनी शक्ति को बढ़ाना ही होगा। चीनी मीडिया ने संभावना जताई है कि जिस रॉकेट सिस्टम को अभी पीएलए ने तैनात किया है उसकी मारक क्षमता करीब 350 किलोमीटर रेंज की हो सकती है और ये बैलिस्टिक मिसाइल को फायर करने में भी सक्षम है।

'भारत ने कैलाश रेंज चीन को सौंप दिया और हमने अपना जमीन खो दिया, चीनी सैनिक हमपर मुस्कुराकर चले गये''भारत ने कैलाश रेंज चीन को सौंप दिया और हमने अपना जमीन खो दिया, चीनी सैनिक हमपर मुस्कुराकर चले गये'

English summary
In the midst of a dispute with India, China has deployed a long range rocket system on the border
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X