• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कनाडा की कंपनी ने किया भांग से कोरोना की दवा बनाने का दावा, भारत के मरीजों पर करना चाहती है ट्रायल

|

नई दिल्ली। भारत समेत दुनिया के कई देशों में कोरोना वायरस महामारी को ठीक करने वाले वैक्सीन का ट्रायल चल रहा है। हालांकि इतने महीने बीत जाने के बाद भी अब तक कोई ऐसा टीका नहीं इजाद किया जा सका है जो कोरोना को पूरी तरह से खत्म करने का दावा करता हो। इस बीच अब कनाडा की एक कंपनी ने भाग से कोरोना को भगाने का दावा किया है। दरअसल, कनाडा की कंपनी अकसीरा फार्मा (Akseera pharma) ने भांग यानी कैनाबिस (Cannabis) से कोरोना वायरस के मरीजों इलाज करने का दावा किया है।

भारत में करना चाहती है ट्रायल

भारत में करना चाहती है ट्रायल

अकसीरा फार्मा द्वारा तैयार की गई दवा का नाम कैनाबिडियोल (Cannabidiol-CBD) बताया जा रहा है जो जो कोरोना वायरस के लिए बनाई गई टीकों की तरह साइड इफेक्ट्स भी नहीं देगी। इसके अलावा कंपनी का दावा है कि उनकी दवा कोविड-19 से होने वाली बीमारियों से भी बचाने में सक्षम है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी चाहती है कि दवा का ट्रायल भारत में हो जिसके लिए केंद्र सरकार के साथ बातचीत जारी है।

भांग से तैयार की गई कोरोना की दवा

भांग से तैयार की गई कोरोना की दवा

गौरतलब है कि दुनिया के 30 से ज्यादा देशों में इस समय अलग-अलग कोरोना वैक्सीनों का ट्रायल चल रहा है, इनमें से कई सफलता पूर्वक ट्रायल के तीसरे फेज तक पहुंच गई हैं। वहीं कई देशों ने कुछ वैक्सीन को आपातकाल स्थिति में उपयोग करने की अनुमति भी दी है। इस बीच भांग से तैयार की गई कोरोना की दवा ने दुनियाभर का ध्यान अपनी ओर खींचा है। कंपनी का दावा है कि उनकी दवा कोरोना से होने वाले साइड इफेक्ट से भी मरीजों को बचाएगी।

भांग में होते हैं कई चमत्कारी गुण

भांग में होते हैं कई चमत्कारी गुण

इंडिया टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक कनाडा की दवा कंपनी अकसीरा का मानना है कि अमेरिका के कई राज्यों में भांग से बनने वाले उत्पाद वैध किए गए हैं। यहां तक की यूएस के कई राज्यों में भांग की लीगल भी घोषित किया गया है। कंपनी के मुताबिक भांग से बनी दवाओं में साइकोएक्टिव प्रॉपर्टी होती हो जो मानव शरीर के तंत्रिकाओं को आराम पहुंचाती है। भांग से बनी दवा से शरीर के अन्य हिस्सों में होने वाली दिक्कतों और दर्द से भी राहत मिलती है।

दिल की बीमारी से बचाती है भांग की दवा

दिल की बीमारी से बचाती है भांग की दवा

रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद मरीजों में एक दिल संबंधी एक बीमारी हो जाती है जिसे एरिथमिया (Arrhythmia) कहते हैं। इस बीमारी से पीड़ित मरीजों के दिल की धड़कन सही नहीं चलती, यह कभी धीमी तो कभी तेज चलती है। जबकि एक स्वस्थ्य मानव के दिल की धड़कन समान्य रफ्तार पर चलती है। यह बीमारी तब होती है जब दिल में जाने वाले इलेक्ट्रिकल इंपल्सेस सही से काम नहीं कर पातीं। ऐसे में दिल का दौरा पड़ने की आशंका रहती है।

कंपनी का दावा- कोरोना भी ठीक कर देगी ये दवा

कंपनी का दावा- कोरोना भी ठीक कर देगी ये दवा

कनाडा की कंपनी अकसीरा का दावा है कि उनकी बनाई दवा (Cannabidiol - CBD) कई तरह की बीमारियों का इलाज कर रही है। जो तेज दर्द, कीमोथैरेपी के होने वाले साइड इफेक्ट्स जैसी कई समस्याओं को कम करने का काम करती है। दवा में कई एंटीवायरल खूबियां भी हैं। इसलिए कंपनी का दावा है कि यह कोरोना वायरस का इलाज भी कर देगी। कंपनी के अनुसार दवा की वजह से दिल की कोशिकाओं में एरिथमिया बीमारी का असर नहीं होता।

दुनिया में जारी है कोरोना का तांडव

दुनिया में जारी है कोरोना का तांडव

गौरतलब है कि भारत समेत दुनियाभर में कोरोना का तांडव जारी है। अब तक विश्व में 3.13 करोड़ से अधिक मरीजों की पुष्टि हुई है जबकि 9.65 लाख से अधिक लोग मारे जा चुके हैं। भारत की बात करें तो यहां स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, भारत में अबतक कोरोना के कुल 55,62,664 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें 9,75,861 ऐक्टिव केस हैं जबकि 44,97,868 लोग कोरोना फ्री हो चुके हैं, बीते 24 घंटे में कोरोना के 75,083 नए मामले सामने आए हैं और 1,053 लोगों की मौत हुई है।

लोकसभा में जमकर बरसे शशि थरुर, बोले- कोरोना की वजह से सरकार को मुंह छिपाने का बहाना मिल गया है

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Canadian company claims to make coronavirus medicine from cannabis wants to trial on Indian patients
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X