• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

यहां खुल गए रेड लाइट एरिया लेकिन KISS करना और जोर से सांस लेना है बैन, सेक्स वर्कर्स की है ये तैयारी

|

बैंकाक। दुनिया भर में कोहराम मचा रहे जानलेवा कोरोना वायरस ने विश्‍व के सामने आर्थिक संकट ला दिया है। कोरोना के संक्रमण को कम करने के लिए हर देश ने लॉकडाउन का ऐलान किया था जिसके चलते कारोबार पर भारी असर पड़ा। लोग बेरोजगार हो गए। इसका असर रेड लाइट एरिया पर भी पड़ा। बैंकॉक (थाईलैंड) हो या नीदरलैंड, सेक्स वर्कर्स आज पाई-पाई को मोहताज हो चुकी हैं। अर्थ व्‍यवस्‍था को पटरी पर लाने के लिए नीदरलैंड और थाईलैंड की सरकारों ने अपने वेश्यालयों और रेड लाइट एरिया को खोलने की अनुमति दे दी है। इन दोनों देशों की सरकारें ने रेड लाइट में जाने वाले ग्राहकों के लिए कड़े नियम बनाए हैं। नियम तोड़ने पर भारी जुर्माना देना होगा। जानिए क्‍या है रेड लाइट एरिया में जाने के कानून

कस्‍टमर नहीं करेंगे KISS, तेज से सांस लेने पर भी पाबंदी

कस्‍टमर नहीं करेंगे KISS, तेज से सांस लेने पर भी पाबंदी

हर कोई जानता है कि थाईलैंड की राजधानी बैंकाक रंगीनियत के लिए फेमस है। तीन महीने बंद रहने के बाद 1 जुलाई से यहां रेड लाइट ऐरिया खोल दिए गए हैं। थाईलैंड के बार, काराओके वेन्यू, मसाज पार्लर आदि भी खुल गए हैं। क्योंकि पिछले 37 दिनों से इस देश में कोरोना का एक भी लोकल केस सामने नहीं आया है। अब हजारों सेक्स वर्कर वापस अपने काम पर लौट चुकी हैं। समाचार एजेंसी रॉयटर्स की खबर के मुताबिक रेड लाइट एरिया में जाने वालों को कुछ प्रतिबंधों के साथ जाना होगा। वे अपने चेहरे से मास्क नहीं उतारेंगे। खुद को पहले ढंग से सैनिटाइज करेंगे। किसिंग नहीं करेंगे और तेज सांस नहीं लेंगे।

ग्राहकों का लिया जाएगा तापमान, नाम-पता और पूरा डिटेल

ग्राहकों का लिया जाएगा तापमान, नाम-पता और पूरा डिटेल

रेड लाइट एरिया में जाने से पहले सभी ग्राहकों का तापमान लिया जाएगा। उनका पूरा एड्रेस, नाम, पता और फोन नंबर नोट किया जाएगा। यही नहीं डांस बार जाने वाले को स्टेज से दो मीटर की दूरी पर बैठना होगा। अंदर मौजूद लोगों से भी एक मीटर की दूरी रखनी होगी।

जो भी तोड़ेगा नियम उसे वापस भेज देंगी कॉलगर्ल्‍स

जो भी तोड़ेगा नियम उसे वापस भेज देंगी कॉलगर्ल्‍स

नीदरलैंड्स में भी 1 जुलाई से ही रेड लाइट एरिया खुल गए हैं। यहां भी ठीक वैसे ही नियम लागू किए गए हैं जैसे थाईलैंड में हैं। एमस्टरडैम की पब्लिक हेल्थ एडवाइजर डॉबी मेनसिंक कहती हैं कि रेड लाइट एरिया में रहने वाली सेक्स वर्कर्स के लिए कोविड-19 का खतरा ज्यादा है। क्योंकि उनका काम ही वैसा है। इसलिए लोगों को अपनी जरूरतों को कई सख्त प्रतिबंधों में बांधकर पूरा करना होगा। ताकि सभी सुरक्षित रहें। मोइरा मोना नाम की एक सेक्स वर्कर ने बताया कि उसने पहले ही सुरक्षा से संबंधित अपनी सारी तैयारियां कर ली हैं। उसने लेटेक्स के कपड़े, लेदर फेस मास्क, दस्ताने, सर्जिकल फेस मास्क आदि मंगवा लिए हैं। इसलिए उसे चिंता नहीं है। उसने कहा कि जो भी नियम तोड़ेगा उसे वापस भेज देंगे।

भारत में ऐसा है हाल, नो Kiss, सिर्फ न्यूड फोटोज

भारत में ऐसा है हाल, नो Kiss, सिर्फ न्यूड फोटोज

भारत में कोरोना वायरस लॉकडाउन खुल चुका है, लेकिन देश के अलग-अलग कोनों में जिस्म बेचकर घर चलाने को मजबूर सेक्स वर्कर्स के लिए अभी परेशानियां खत्म नहीं हुई हैं। कोरोना का डर अभी भी बना हुआ है इसलिए अब उनका काम पहले जैसा नहीं रहा है। सेक्स की जगह अब ई-सेक्स ने ले ली है। इसमें क्लांइट के साथ फोन पर ही न्यूड फोटोज, वीडियोज शेयर किए जा रहे है।

दादा के शव पर बिलखते मासूम की फोटो शेयर कर संबित पात्रा ने लिखा कुछ ऐसा, भड़कीं दिया मिर्जा ने पूछा- संवेदना बची है?दादा के शव पर बिलखते मासूम की फोटो शेयर कर संबित पात्रा ने लिखा कुछ ऐसा, भड़कीं दिया मिर्जा ने पूछा- संवेदना बची है?

English summary
Brothels opens in Thailand and Netherlands, Kissing-heavy breathing banned.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X