• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अमेरिकी विदेश मंत्री पॉम्पियो का बड़ा बयान, कहा- भारत और भूटान में घुसपैठ कर रहा है चीन

|

न्यूयार्क। भारत-चीन सीमा विवाद के बीच अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने चीन पर कड़ा निशाना साधा है, उन्होंने कहा कि भारत और भूटान में चीन की हालिया घुसपैठ की घटनाओं से चीन के नापाक इरादे पूरी तरह से सामने आ गए हैं, पॉम्पियो ने साफ शब्दों में कहा कि दरअसल चीन ये देखने की फिराक में हैं कि घुसपैठ पर दुनिया उसका विरोध करती है या नहीं, राष्ट्रपति शी जिनपिंग के शासन में चीन यह देखने की कोशिश कर रहा है कि अगर वो ऐसा करता है तो दूसरे देशों से उसे विरोध करेंगे कि नहीं।

    India और Bhutan में घुसपैठ के पीछे China के मकसद को America ने किया Expose !| वनइंडिया हिंदी

    चीन के ‘जीन’ में है विस्तारवाद , उसकी जमीन हड़पो नीति से भारत समेत दुनिया के 23 देश परेशान

    अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा-भारत और भूटान में घुसपैठ कर रहा

    बता दें कि हाल ही में मंत्री माइक पॉम्पियो ने चीन पर जासूसी करने का आरोप लगाया था,उन्‍होंने कहा था कि टेक्‍सास राज्‍य के शहर ह्यूस्‍टन में चाइनीज कांसुलेट जासूसी का अड्डा था। यहां बता दें कि अमेरिका ने बीते सोमवार को ही चीन को आदेश दिया था कि वह ह्यूस्‍टन स्थित अपना दूतावास बंद कर दे। इसके बाद यहां पर डॉक्‍यूमेंट्स को जलाने की घटना सामने आई थी। घटना के बाद अमेरिकी सरकार की तरफ से चीन को आदेश दिया गया था कि वह अगले 72 घंटों के अंदर बिल्डिंग को खाली कर दे और इसके बाद पॉम्पियो ने जासूसी करने वाली बात कही और चीन पर व्‍यापार की गलत प्रक्रिया, मानवाधिकार हनन और अमेरिकी समाज में घुसपैठ का आरोप लगाया।

    चीन दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा है:माइक पॉम्पियो

    अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा कि मौजूदा समय में चीन दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा है, लेकिन अमेरिका की जोरदार कूटनीति की वजह से दुनिया के सामने सीसीपी का खतरा सामने आया और लोग जागरूक हुए हैं। अब हवा बदल रही है, 30 से अधिक देश और क्षेत्र 5जी क्लीन देश हो चुके हैं। पॉम्पियो ने कहा कि हमे इस बात का गर्व है कि हमने अपने मित्र देश ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान, यूके के साथ मिलकर अपना युद्धाभ्यास बढ़ा दिया है। भारत ने 106 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया है, जिसमे टिकटॉक भी शामिल है, जोकि देश के नागरिकों की गोपनीयता और सुरक्षा के लिए खतरा थे। 10 आसियान देशों का कहना है कि साउथ चायना सी का मुद्दा अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत सुलझना चाहिए। पोंपियो ने इससे पहले कहा था कि साउथ चायना सी पर चीन अपने दावे को छोड़ दे।

    यह पढ़ें: 1 अगस्त को 'स्मार्ट इंडिया हैकथॉन' के ग्रैंड फिनाले को संबोधित करेंगे PM मोदी

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Chinese claims in Bhutan, incursion in India are indicative of their intentions said Mike Pompeo.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X