• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अमेरिका नहीं करेगा सऊदी अरब के शहजादे सलमान पर कार्रवाई की हिम्मत, जो बाइडेन भी साधेंगे ट्रंप की तरह चुप्पी

|

वाशिंगटन: आखिरकार साफ हो गया है कि अमेरिका सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करने जा रहा है। यानि, एक पत्रकार की जान लेने वाला शहजादे को कुछ भी नहीं होगा। और इसके साथ ही ये भी तय हो गया है कि दुनिया में जो शक्तिशाली होता है वो अक्षम्य गुनाह करने के बाद भी बच सकता है।

jamal Khashoggi

कीमत नहीं चुकाएगा अमेरिका

अमेरिका के राष्ट्रपति ने फैसला किया है कि सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाएगी। क्योंकि कार्रवाई करने पर अमेरिका को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। लिहाजा अमेरिका सीधे तौर पर पत्रकार की हत्या करवाने के आरोपी शहजादे सलमान पर कोई कार्रवाई नहीं करेगा। अमेरिका के सीनियर अधिकारियों का कहना है कि ये जानते हुए भी सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस के कहने पर ही पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या की गई थी फिर भी अमेरिका क्राउन प्रिंस के खिलाफ कार्रवाई नहीं करेगा। 2020 में अपने चुनावी कैम्पेनिंग के दौरान जो बाइडेन ने सऊदी अरब के खिलाफ खूब गुस्सा निलाला था और यहां तक कहा था कि सऊदी अरब में सामाजिक वैल्यू नहीं है। जो बाइडेन के चुनावी कैम्पेनिग के वक्त के तेवर को देखकर लग रहा था कि उनके राष्ट्रपति बनने के बाद सऊदी अरब क्राउन प्रिंस को अमेरिका कटघरे में खड़ा करेगा मगर अमेरिका की खुफिया एजेंसी की रिपोर्ट सार्वजनिक होने के बाद भी अमेरिका ने सऊदी प्रिंस के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने का मन बनाया है।

joe biden

अमेरिका के सिक्योरिटी एडवाइजर ने राष्ट्रपति को सलाह दी है कि सऊदी अरब प्रिंस के खिलाफ कार्रवाई करने से दोनों देशों के बीच का रिश्ता खराब हो जाएगा जिससे अमेरिका को काफी नुकसान होगा। अमेरिकी अधिकारियों के मुताबिक अमेरिका और सऊदी अरब के बीच का रिश्ता अगर खराब होता है तो ईरान के खिलाफ अमेरिकी मूवमेंट पर इसका सबसे बुरा असर पड़ेगा साथ ही आतंकवाद के खिलाफ अमेरिकी लड़ाई भी कमजोर पड़ जाएगी।

ट्रंप पर खूब निशाना साधते थे जो बाइडेन

माना जाता है कि अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन मानवाधिकारों को सबसे ज्यादा महत्व देते हैं मगर सऊदी अरब के मसले पर वो डोनाल्ड ट्रंप के की तरह की खामोश रहने के रास्ते चल सकते हैं। चुनावी कैम्पेन में जो बाइडेन ने डोनाल्ड ट्रंप पर सऊदी प्रिंस के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने के लिए खूब निशाना साधा था। वहीं, कई ऑर्गेनाइजेशन अमेरिकी राष्ट्रपति पर सऊदी क्राउन प्रिंस पर अमेरिका यात्रा पर बैन लगाने की भी मांग कर रहा है लेकिन बाइडेन प्रशासन उसके खिलाफ भी नजर आ रहा है। डोनाल्ड ट्रंप ने सऊदी क्राउन प्रिंस के कई सहयोगियों की अमेरिका आने पर बैन लगा दिया था। वहीं, राष्ट्रपति जो बाइडेन को उनके सहयोगियों ने सलाह दी है कि दिखाने के लिए ही सही मगर फिलहाल अमेरिका सऊदी क्राउन प्रिंस को किसी सरकारी दौरे के लिए अमेरिका आमंत्रित नहीं करेगा। वहीं, अमेरिका ने फिलहाल एक्शन लेते हुए सऊदी अरब के पूर्व इंटेलीजेंस चीफ, जिसका पत्रकार हत्याकांड में डायरेक्ट हाथ था, उसके अमेरिका आने पर बैन लगा दिया है।

jamal Khashoggi

अमेरिकी खुफिया रिपोर्ट में खुलासे

मेरिका की खुफिया रिपोर्ट में पत्रकार जमाल खशोगी हत्याकांड और सऊदी अरब राजकुमार को लेकर कई सनसनीखेज खुलासे किए गये हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि किस तरह से एमबीएस ने पत्रकार को मरवाने के बाद उसके शरीर के सैकड़ों टुकड़े करवाए और फिर गायब करवा दिया। अमेरिकी अधिकारियों का मानना है कि सऊदी अरब के शहजादे ने तुर्की के इस्तांबुल स्थित सऊदी उच्चायोग में पत्रकार जमाल खशोदी की पकड़ने या फिर उनकी हत्या करने के अभियान को मंजूरी दी थी। 2018 में पत्रकार जमाल खशोगी अचानक गायब हो गये थे और बाद में पता चला था कि उनकी हत्या कर दी गई है।

अमेरिकी खुफिया रिपोर्ट का खुलासा शुक्रवार को किया गया है जिसमें सीधे तौर पर सऊदी के शहजादे को जिम्मेदार ठहराया गया है। अमेरिकी खुफिया रिपोर्ट में कहा गया है कि 'हमारा मानना है कि सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने तुर्की के इस्तांबुल में एक ऑपरेशन को मंजूरी दी थी, जिसका उद्येश्य पत्रकार जमाल खशोगी को जिंदा पकड़ना या फिर मार देना था'।

दरअसल, 2018 में तुर्की की राजधानी इस्तांबुल से वाशिंगटन पोस्ट के लिए मासिक कॉलम लिखने वाले पत्रकार जमाल खशोगी के गायब होने और बाद में हत्या का खुलासा होने के बाद से ही अमेरिकी खुफिया एजेंसी CIA को पूरा यकीन था कि हत्याकांड के पीछे सऊदी अरब का शाही परिवार है। बाद में तफ्तीश के बाद सीआईए ने सऊदी अरब के शहजादे की इस हत्याकांड में सीधी भूमिका पाई थी। हालांकि, अभी तक अमेरिकी खुफिया एजेंसी ने मोहम्मद बिन सलमान का नाम सीधे तौर पर नहीं लिया था मगर शुक्रवार को रिपोर्ट सार्वजनिक होने के बाद सीधे सीधे एमबीएस को जिम्मेदार बताया गया है।

Special Report: सऊदी शहजादे सलमान की क्रूरता और जमाल खशोगी की दूतावास में हत्या की खौफनाक कहानी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Finally, it is clear that the US will not take any action against Saudi Arabia's Crown Prince Mohammed bin Salman in the journalist Jamal Khashoggi murfder.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X