रोहिंग्या कैंप में आग लगने से 4 की मौत, तीन घायल

Posted By: Amit J
Subscribe to Oneindia Hindi

ढाका। बांग्लादेश में शुक्रवार को एक रोहिंग्या कैंप पर आग लगने से 4 लोगों की मौत होने की पुष्टी की गई है। मरने वालों में से तीन बच्चे और एक महिला बताई जा रही है। यह घटना दक्षिणी बांग्लादेश के कॉक्स बाजार के निकट यूएन के उखिया कैंप में हुई है। पुलिस के मुताबिक, टेंट में एक मोमबत्ती की वजह से आग लग गई है, जिसकी चपेट में कई टेंट आ गए। चार की मौत के अलावा तीन अन्य लोग भी घायल हुए हैं। म्यांमार से भगाए जाने के बाद लाखों रोहिंग्या मुसलमानों को बांग्लादेश में शरणार्थियों के रूप में रहना पड़ रहा है।

कॉक्स बाजार के निकट कैंपों में आग

कॉक्स बाजार के निकट कैंपों में आग

ढाका ट्रिब्यून से बात करते हुए निरबाही ऑफिसर मोहम्मद निकारुज्जमान ने बताया कि कॉक्स बाजार के निकट कैंपों में आग लगने से चार की मौत हुई है। वहीं, रेड क्रेसेंट के अधिकारियों ने बताया कि इस आग में कम से कम सात लोग गंभीर रूप से जल गए हैं, जिन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

अब तक 6,55,000 रोहिंग्याओं को बांग्लादेश में शरण लेनी

अब तक 6,55,000 रोहिंग्याओं को बांग्लादेश में शरण लेनी

म्यांमार के अल्पसंख्यक रोहिंग्या मुस्लिमों को अपने ऊपर हुए अत्याचार के बाद बांग्लादेश में शरण लेनी पड़ी है। म्यांमार में सुरक्षा बलों द्वारा खदेड़ने के बाद लाखों लोगों को बांग्लादेश में शरण लेनी पड़ी है। दिसंबर 2017 तक म्यांमार से भगाए जाने के बाद करीब 6,55,000 रोहिंग्याओं को बांग्लादेश में शरण लेनी पड़ी है।

अब तक की सबसे भयनाक मानव त्रासदी

अब तक की सबसे भयनाक मानव त्रासदी

पिछले साल अगस्त में म्यांमार में हुए रोहिंग्याओं पर अत्याचार के बाद उनको समुद्री रास्तों से बांग्लादेश में मजबूरन शरण लेनी पड़ी है। संयुक्त राष्ट्र ने इसे अब तक की सबसे भयनाक मानव त्रासदी माना है, जो भूख और पानी से तरस रहे हैं। अभी तक रोहिंग्याओं को फिर से रखाइन प्रांत में बसाने के लिए अभी तक कोई समझौता नहीं हो पाया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Bangladesh: Fire at Rohingya camp, 4 kill, 3 injured

Oneindia की ब्रेकिंग न्यूज़ पाने के लिए
पाएं न्यूज़ अपडेट्स पूरे दिन.