• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

भारत में ऑक्सीजन की हालत बेहद नाजुक, कोविड-19 के खिलाफ वैक्सीनेशन ही एकमात्र उपाय- डॉ. फाउची

|

वॉशिंगटन/नई दिल्ली, मई 10: अमेरिका के सबसे बड़े महामारी विशेषज्ञ डॉक्टर और अमेरिका में कोविड-19 को करीब करीब हराने वाले डॉक्टर एंथनी फाउची ने भारत की स्थिति को लेकर बड़ा बयान दिया है। अमेरिका के मशहूर महामारी विशेषज्ञ डॉ. एंथनी फाउची ने कहा है कि अगर भारत में कोरोना संक्रमण की रफ्तार को रोकना है तो इसका एकमात्र वैक्सीनेशन है। डॉ. एंथनी फाउची ने कोरोना वायरस की वजह से भारत की हालत पर काफी गहरी चिंता जताई है और कहा है कि भारत में ऑक्सीजन की स्थिति काफी ज्यादा नाजुक है।

वैक्सीनेशन ही एकमात्र उपाय

वैक्सीनेशन ही एकमात्र उपाय

अमेरिकी डॉक्टर एंथनी फाउची वही डॉक्टर हैं, जिन्होंने सबसे पहले अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को कोरोना महामारी को लेकर आगाह किया था, लेकिन डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना महामारी को झूठ बताते हुए एंथनी फाउची को बर्खास्त कर दिया था। और फिर अमेरिका की स्थिति क्या हुई, इसे पूरी दुनिया ने देखा। मगर, जो बाइडेन ने राष्ट्रपति बनने के अगले ही दिन फिर से डॉ. एंथनी फाउची को व्हाइट हाउस का मुख्य डॉक्टर बहाल किया और अगले तीन महीने में डॉ. एंथनी फाउची ने अमेरिका को बहुत हद तक इस वायरस से मुक्ति दिला दी है। डॉ. एंथनी फाउची ने भारत को लेकर कहा है कि भारत में घरेलू स्तर पर और वैश्विक स्तर पर वैक्सीन का उत्पादन काफी तेजी से बढ़ाने की जरूरत है। एक इंटरव्यू के दौरान डॉ. एंथनी फाउची ने कहा कि 'भारत विश्व का सबसे बड़ा वैक्सीन उत्पादक देश है, जिसे वैक्सीन बनाने के लिए बाहरी सहायता भी मिल रही है, ऐसे में काफी तेजी से वैक्सीनेशन कार्यक्रम चलाने की जरूरत है।'

    US Expert Dr Anthony Fauchi ने Covid-19 से बचने के लिए India को दी ये सलाह | वनइंडिया हिंदी
    अस्थाई अस्पताल बनाने की जरूरत

    अस्थाई अस्पताल बनाने की जरूरत

    भारत की स्थिति पर गंभीर चिंता जताते हुए डॉ. एंथनी फाउची ने कहा कि भारत में बिना देर किए अस्थाई अस्पताल बनाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि एक साल पहले जब चीन में कोरोना ऑउटब्रेक हुआ था तो चीन ने भी अस्थाई अस्पतालों का निर्माण किया था। उन्होंने कहा कि भारत में तत्काल अस्थाई अस्पताल बनाना ही होगा। क्योंकि आप कोविड-19 मरीजों को सड़क पर मरने के लिए नहीं छोड़ सकते हैं। वहीं, डॉ. एंथनी फाउची ने कहा कि भारत में ऑक्सीजन की समस्या काफी नाजुक है और लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिल पाना वास्तव में काफी दुखद है। उन्होंने भारत की स्थिति पर निराशा जताते हुए कहा कि 'आखिर वहां हो क्या रहा है? तत्काल तौर पर अस्पताल, ऑक्सीजन, पीपीई किट और दूसरे मेडिकल संसाधन नहीं मिल पाना एक समस्या है।'

    देश में लॉकडाउन की वकालत

    देश में लॉकडाउन की वकालत

    सबसे बड़े महामारी विशेषज्ञ डॉक्टर ने कहा कि भारत में संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए एक लॉकडाउन की जरूरत है और लॉकडाउन लगाकर संक्रमण की चेन तोड़ते हुए बड़े स्तर पर वैक्सीनेशन प्रोग्राम चलाकर कोरोना महामारी को मात दी जा सकती है। डॉ. एंथनी फाउची ने कहा कि 'मैं जानता हूं कि भारत के ज्यादातर राज्यों में लॉकडाउन है और संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए ये जरूरी है मगर लॉकडाउन के साथ वैक्सीनेशन की रफ्तार काफी ज्यादा बढ़ाकर ही इसपर काबू पाया जा सकता है।'

    6 फीट की दूरी फिर भी खतरा बरकरार, संक्रमण फैलने के लिए ऑफिस सबसे ज्यादा खतरनाक- कोरोना पर नई गाइडलाइंस6 फीट की दूरी फिर भी खतरा बरकरार, संक्रमण फैलने के लिए ऑफिस सबसे ज्यादा खतरनाक- कोरोना पर नई गाइडलाइंस

    English summary
    Eminent epidemiologist Dr. Anthony Fauci has stated that the state of oxygen in India is critical and vaccination is the only option against the corona virus.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X