• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

तेल की बढ़ती कीमतों ने यूरोप में लगाई आग, फ्रांस के बाद नीदरलैंड और बेल्जियम में हिंसक प्रदर्शन

|

ब्रसेल्स। फ्रांस में तेल की कीमतों को लेकर जो सरकार विरोधी हिंसक प्रदर्शन हुए थे, उसका असर अब फ्रांस के पड़ोसी देशों पर देखने को मिल रहा है। बिल्कुल फ्रांस जैसे ही 'येलो वेस्ट' (पीली जर्सी पहने प्रदर्शनकारी) लाखों की संख्या में प्रदर्शनकारी तेल की कीमतों के खिलाफ नीदरलैंड और बेल्जियम की सड़कों पर उतरे हैं। ब्रसेल्स की सड़कों पर पहले शांतिपूर्ण प्रदर्शन हुआ, लेकिन उसके कुछ ही घंटे बाद प्रदर्शनकारी और सुरक्षाकर्मी आपस में भिड़ गए।

फ्रांस के बाद नीदरलैंड और बेल्जियम में हिंसक प्रदर्शन

तेल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ ब्रसेल्स की सड़कों पर उतरे प्रदर्शनाकारियों और सुरक्षाबलों के बीच झड़प होने के बाद प्रदर्शन हिंसक हो गया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने न सिर्फ सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया, बल्कि दुकानों में भी तोड़फोड़ कर दी। हिंसक प्रदर्शन पर काबु पाने के लिए सुरक्षाबलों को वॉटर कैनन और पेपर स्प्रे का इस्तेमाल करना पड़ा।

हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी सबसे पहले ब्रसेल्स के आर्ट्स-लॉइ पर एकत्रित हुए और उसके बाद यूरोपियन पार्लियामेंट की तरफ पैदल मार्च करना शुरू किया, लेकिन सुरक्षाबलों ने उन्हें वहां तक जाने से रोक दिया। उसी दौरान प्रदर्शनकारी और सुरक्षाकर्मी आपस में भिड़ गए। इस झड़प में कई लोगों को चोटें आई और 100 से अधिक प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया। प्रदर्शनकारी बेल्जियम के प्रधानमंत्री को पद से हटने की मांग कर रहे थे।

उधर नीदरलैंड के एम्सटर्डम और रॉटर्डम जैसे बड़े शहरों में भी तेल की कीमतों के खिलाफ लोग सड़कों पर आना शुरू हो चुके हैं। हालांकि, नीदरलैंड में फिलहाल प्रदर्शनकारियों को शांतिपूर्वक मार्च निकालते हुए देखा जा रहा है। एम्सटर्डम और रॉटर्डम की सड़कों पर प्रदर्शनकारी अपने हाथों में फूल लेकर चल रहे हैं और लोगों को प्रदर्शन का हिस्सा बनने के लिए आग्रह कर रहे हैं।

फिलहाल दोनों देशों में सुरक्षा के कड़े इतंजाम किए जा रहे हैं। आने वाले दिनों में इन दोनों देशों में सरकार विरोधी प्रदर्शन और तेज होने की संभावना है। उधर शनिवार को फ्रांस की राजधानी पेरिस में विरोध प्रदर्शन जारी दिखा। पेरिस में करीब पाँच हजार लोग सिटी सेंटर पर इकट्ठा हुए, जिसके बाद पुलिस ने कम से कम 272 लोगों को हिरासत में लिया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को काबू में करने के लिए आंसू गैस का इस्तेमाल किया है।

भारत में भी बढ़े तेल के दाम मगर फ्रांस में ही क्यों मचा कोहराम

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
After France, fuel hike fire arrives in Netherlands and Belgium
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X