• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जर्मनी में खोजे गए आसमान से गिरे 'इंद्रधनुष के प्याले', 2000 साल पहले हुई थी सोने के सिक्कों की बारिश

|
Google Oneindia News

बर्लिन, जनवरी 15: करीब 2 हजार साल पहले कुदरत ने आसमान से दुर्लभ खजाने की बरसात की थी और अब एक खेत से वो दुर्लभ खजाना एक वैज्ञानिक ने खोजने में कामयाबी हासिल की है। एक पुरातत्वविद ने उत्तरपूर्वी जर्मनी में स्थित ब्रेंडेनबर्ग में ये खजाना एक खेत से खोज ली है और वैज्ञानिकों ने इसे काफी दुर्लभ खोज करार दिया है।

सेल्टिक सिक्कों का मिला भंडार

सेल्टिक सिक्कों का मिला भंडार

फ्रीलांस काम करने वाले एक पुरातत्वविद ने जर्मनी के ब्रेंडेनबर्ग में सेल्टिक सिक्कों का भंडार खोजा है, जिसकी कीमत काफी ज्यादा होने की बात कही गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, एक पुरातत्वविद ने एक खेत से 41 दुर्लभ सेल्टिक सिक्कों की खोज की है और अब रिसर्च में पता चला है कि, करीब 2 हजार साल पहले इन सिक्कों को ढाला गया होगा और उस वक्त इन सिक्कों की कीमत काफी ज्यादा रही होगी। पुरातत्वविदों का कहना है कि, जर्मनी के ब्रैंडेनबर्ग में पहली बार सेल्टिक सोने का खजाना मिला है और ब्रैंडेनबर्ग के संस्कृति मंत्री मांदा शूले ने इसकी पुष्टि भी की है।

सिक्के हैं या सोने के बर्तन?

सिक्के हैं या सोने के बर्तन?

इन सिक्कों को बेहद अलग अंदाज में ढाला गया है और जर्मनी की भाषा में इसे "regenbogenschüsselchen" यानि "रेगेनबोगेन्सचुसेलचेन" से प्रेरित बताया जा रहा है, जिसका मतलब "इंद्रधनुष कप" होता है। मार्जन्को पाइलिक, जो श्लॉस फ्रिडेनस्टीन गोथा फाउंडेशन कैबिनेट में मुद्राओं पर रिसर्च करते हैं, उन्होंने इन सिक्कों का अध्ययन करने के बाद इसे काफी दुर्लभ बताया है। उन्होंने इन सिक्कों को लेकर प्राचीन जर्मन कहानी का जिक्र किया है। उन्होने कहा कि, इसका नाम और इसका आकार जर्मनी की एक प्रसिद्ध कहानी से जुड़ा हुआ है।

आसमान से उतरा है इंद्रधनुष का कप?

आसमान से उतरा है इंद्रधनुष का कप?

मार्जन्को पाइलिक ने कहा कि, इसके आकार को लेकर कहानी के मुताबिक, इंद्रधनुष के अंत में सोने का एक बर्तन लगा होता है और ऐसा माना जाता है कि, इंद्रधनुष कप वहां पाए जाते हैं, जहां आसमान से इंद्रधनुष धरती को छुते हैं। उन्होंने कहा कि, कहानी एक दूसरा हिस्सा ये है कि, इंद्रधनुष कप सीधे आसमान से धरती पर उतरते हैं।

खेतों में बारिश के बाद मिलते थे सिक्के

खेतों में बारिश के बाद मिलते थे सिक्के

मार्जन्को पाइलिक ने लाइव साइंस को बताया कि, इन सिक्कों को भाग्यशाली, आकर्षक और इलाज में इस्तेमाल करने वाली वस्तु माना जाता है। उन्होंने कहा कि, जर्मनी में ऐसा मानना है कि, आसमान से इन सिक्कों की बारिश होती है और बारिश होने के बाद अकसर किसानों को खेत में ये सिक्के मिलते रहे हैं, जो पूरी तरह से स्वच्छ और चमक से मुक्त होते हैं। जर्मनी में इन सिक्कों की खोज वोल्फगैंग हर्कट ने की है, जो ब्रेंडेनबर्ग स्टेट हेरिटेज मैनेजमेंट एंट आर्कियोसॉजिकल स्टेट म्यूजियम (बीएलडीएएम) के एक स्वयंसेवक पुरातत्वविद हैं। उन्होंने कहा कि, खेत के मालिक से इजाजत मिलने के बाद वो खेत में रिसर्च कर रहे थे, इस दौरान उन्हें खेत से 10 सेल्टिक सोने के सिक्के मिले हैं।

असाधारण खोज

असाधारण खोज

सेल्टिक सोने के 10 सिक्कों को खोजने के बाद हर्कट ने बीएलडीएएम को खोज की सूचना दी, जिसके बागद पुरातत्वविदों की टीम ने खोज की और कुल 41 सिक्कों की खोज की गई। हर्कट ने एक बयान में कहा, "यह एक असाधारण खोज है जिसे आप शायद जीवन में केवल एक ही बार कर पाते हैं।" उन्होंने कहा कि, "इस तरह की खोज के साथ देश के इतिहास के शोध में योगदान करने में सक्षम होना एक अच्छा अहसास है।"

अंटार्कटिका में मिली मछलियों की सबसे बड़ी कॉलोनी, बर्फीले समुद्र में मिले 6 करोड़ प्रजनन स्थलअंटार्कटिका में मिली मछलियों की सबसे बड़ी कॉलोनी, बर्फीले समुद्र में मिले 6 करोड़ प्रजनन स्थल

Comments
English summary
A deposit of ancient and rare gold coins has been discovered in Germany and it is said that they fell from the sky in the field in the rain.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X