• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

घर छोड़कर भागा युवा प्रेमी जोड़ा लॉकडाउन में फंस गया, और फिर क्वॉरेंटाइन में रचानी पड़ी शादी!

|

नई दिल्ली। देश में कोरोनावायरस प्रेरित लॉकडाउन को दो महीने से अधिक हो चुके हैं, जिसने कईयों को अजीबोगरीब तरीके से फंसा दिया। ऐसा ही एक मामला ओड़िसा से भागे दो युवा प्रेमी जोड़े की सामने आई है, जो राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के घोषणा से पूर्व ओडिशा भागकर अहमदाबाद चले गए थे, लेकिन लॉकडाउन ने उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया और उन्हें क्वारेंटाइन सेंटर में पहुंचा दिया।

दिल्ली: 10 दिन में तैयार हुई दुनिया की सबसे बड़ी Covid-19 केयर फैसिलिटी के बारे में सबकुछ जानिए

marriage

खबर के मुताबिक दोनों युवा प्रेमी जोड़े गत जनवरी माह में ओड़िसा राज्य के पुरी जिले से भागकर अहमदाबाद पहुंच गए थे। अहमदाबाद की फ्लास्टिक फैक्टरी में काम करने वाला युवा प्रेमी और उसके ही गांव सगाडा की रहने वाली प्रेमिका ओड़िसा से भागने के बाद साथ-साथ रहने लगे।

लॉकडाउन में नहीं मिल रहा था काम, प्रवासी मजदूर ने 22 हजार में कर दिया अपने बच्चे का सौदा

मार्च में लॉकडाउन लागू होने के बाद जब प्लास्टिक फैक्टरी बंद हो गई

मार्च में लॉकडाउन लागू होने के बाद जब प्लास्टिक फैक्टरी बंद हो गई

लेकिन मार्च में लॉकडाउन लागू होने के बाद जब प्लास्टिक फैक्टरी बंद हो गई। अब दोनों वहां बुरी तरह फंस गए, क्योंकि घऱ से भागे युवा प्रेमी जोड़े पकड़े जाने के डर से घर भी वापस जाना भी खतरे से खाली नहीं था।

काम छूटने के बाद अहमदाबाद में रहना और जीवन गुजारना मुश्किल था

काम छूटने के बाद अहमदाबाद में रहना और जीवन गुजारना मुश्किल था

पूरी जिले से सगाडा गांव के 19 वर्षीय युवा प्रेमी सौरभ दास और प्रेमिका पिंकी रानी दास के लिए लॉकडाउन के चलते बंद हुए फैक्टरी से काम छूटने के बाद अहमदाबाद में रहना और जीवन गुजारना मुश्किल था और अब उनके पास घर वापस लौटने के अलावा दूसरा कोई चारा नहीं था।

दो महीने जैसे-तैसे लॉकडाउन के बीच की कठिनाईयों को पार किया

दो महीने जैसे-तैसे लॉकडाउन के बीच की कठिनाईयों को पार किया

करीब दो महीने उन्होंने जैसे-तैसे लॉकडाउन के बीच की कठिनाईयों को पार किया और मई में जब श्रमिक स्पेशन ट्रेनें शुरू हुईं तो दोनों युवा जोड़े अपने गांव सगाड़ा पहुंचे, लेकिन सगाड़ा गांव में पहुंचने के बाद प्रशासन ने दोनों जोड़ों को14 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन में भेज दिया।

अहमदाबाद से लौटने के बाद 10 मई को क्वॉरेंटाइन सेंटर में ले जाए गए

अहमदाबाद से लौटने के बाद 10 मई को क्वॉरेंटाइन सेंटर में ले जाए गए

निमापारा के खंड विकास अधिकारी मनोज बेहरा ने बताया कि दोनों के अहमदाबाद से लौटने के बाद 10 मई को क्वॉरेंटाइन सेंटर में उनका जांच किया गया, लेकिन सुखद बात यह थी कि परीक्षण में दोनों युवा प्रेमी जोड़े के Covid-19 टेस्ट नेगेटिव आया, लेकिन बिन ब्याही प्रेमिका पिंकी रानी दास गर्भवती पाई गईं, यह खबर दोनों युवा प्रेमी जोड़ों के मां-बाप के लिए भयावह था।

जांच के दौरान युवा प्रेमिका के गर्भवती होने की पुष्टि हुई

जांच के दौरान युवा प्रेमिका के गर्भवती होने की पुष्टि हुई

निमापारा के खंड विकास अधिकारी ने बताया कि प्रेमिका के गर्भवती होने की पुष्टि होने के बाद तय किया कि दोनों की शादी करवा दी जाए और गत 24 मई को ही दोनों युवा प्रेमी जोड़े की सागदा गांव में संस्थागत क्वॉरेंटाइन सेंटर में अनिवार्य 14 दिन क्वॉरेंटाइन अवधित पूरी करने के बाद शादी करवा दी गई। दिलचस्प बात यह थी कि दोनों युवा प्रेमी जोड़े की शादी क्वॉरेंटाइन सेंटर के प्रभारी दो शिक्षकों ने उनकी शादी का अनुष्ठान पूरा कराया।

क्वॉरेंटाइन सेंटर में प्रभारी दो शिक्षकों ने युवा प्रेमी जोड़े की शादी कराई

क्वॉरेंटाइन सेंटर में प्रभारी दो शिक्षकों ने युवा प्रेमी जोड़े की शादी कराई

चूंकि दोनों युवा प्रेमी जोड़े के परिवार के सदस्य क्वॉरेंटाइन केंद्र में प्रवेश नहीं कर सकते थे, तो ऐसे में क्वॉरेंटाइन सेंटर में प्रभारी दो शिक्षकों को उनका मां-बाप की भूमिका निभाया और स्थानीय सरपंच, वार्ड सदस्य, आशा कार्यकर्ता और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता ने विवाह को आयोजित करने में मदद की।

बुधवार को ओडिशा में Covid-19 के लिए 76 लोग संक्रमित पाए गए

बुधवार को ओडिशा में Covid-19 के लिए 76 लोग संक्रमित पाए गए

ओड़िसा में स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि गत बुधवार को ओडिशा में Covid-19 के लिए 76 लोग संक्रमित पाए गए हैं, जिसमें वहां संक्रमित मामलों की संख्या 1,593 हो गई।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The two young lovers had fled from Puri district of Odisha state to Ahmedabad in January. The young lover, who works at Ahmedabad's Flastic Factory and girlfriend from his village Sagada, started living together after fleeing Odisha, but the plastic factory was shut down after the lockdown was implemented in March. Now both of them got stuck there badly, because the young lover couple who had run away from the house, fearing to be caught back home was also not empty of danger.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more