• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अब तक बाहुबलियों की 500 करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्त कर चुकी है योगी सरकार, ये रही लिस्ट?

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली। यूपी के मुखिया योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल में अपराध और अपराधियों पर सबसे अधिक नकेल कसी गई है। प्रदेश के विभिन्न जिलों में छोटे क्राइम करने वाले अपराधियों से लेकर गैंगस्टर टर्न बाहुबली नेताओं के खिलाफ योगी सरकार लगातार कार्रवाई बताती है कि सीएम योगी क्राइम और क्राइम से जुड़े सरगनाओं को समूल नाश करने की ओर लगातार बढ़ रहे हैं। प्रशासन अब तक राज्य में माफिया और अपराधियों की करीब 500 करोड़ की अवैध संपत्तियां या तो जब्त-कुर्क कर चुकी हैं या ढहा दी है।

yogi

Lockdown Impact: 2021 में रिकॉर्ड बच्चों का होगा जन्म,14 करोड़ बच्चों के पैदा होने के हैं अनुमानLockdown Impact: 2021 में रिकॉर्ड बच्चों का होगा जन्म,14 करोड़ बच्चों के पैदा होने के हैं अनुमान

बाहुबली नेताओं और भू माफियाओं के खिलाफ अभियान छेड़ रखा है

बाहुबली नेताओं और भू माफियाओं के खिलाफ अभियान छेड़ रखा है

गौरतलब है 2017 में यूपी के मुख्यमंत्री बनने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ पिछले 8 महीने से अब प्रदेश के बाहुबली नेताओं, अपराधियों और भू माफियाओं के खिलाफ अभियान छेड़ रखा है। इनमें मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद, सुंदर भाटी समेत पूर्वांचल और पश्चिमी यूपी के कई माफियाओं के खिलाफ जबर्दस्त कार्रवाई की गई है और उनके अवैध कामों पर नकेल कसते हुए उनके द्वारा जब्त की गई जमीनों पर खड़ी की गई अवैध बिल्डिंग्स को जमींदोज करने के साथ-साथ उनकी संपत्तियों कुर्क करने की कार्रवाई जारी है।

मुख्तार अंसारी की ही 100 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति जब्त हो चुकी है

मुख्तार अंसारी की ही 100 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति जब्त हो चुकी है

अपराधियों के खिलाफ छेड़े गए इस अभियान में अभी तक अकेले मुख्तार अंसारी की ही 100 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति जब्त हो चुकी है, जो सरकारी अभिलेखों के मुताबिक अवैध तरीके से कब्जा करके अर्जित की गई थी। इसके अलावा भी मुख्तार अंसारी का मछली पालन का अवैध धंधा, जमीन कब्जे का धंधा और हथियार का नेटवर्क ध्वस्त कर दिया गया है। वहीं, अंसारी के 50 से ज्यादा लोगों पर गैंगस्टर एक्ट लगाकर उन्हें जेल भेजा जा चुका है।

मऊ सदर विधायक मुख्तार अंसारी के सदस्यों के अवैध संपत्तियों की कुर्की

मऊ सदर विधायक मुख्तार अंसारी के सदस्यों के अवैध संपत्तियों की कुर्की

यूपी पुलिस ने पूर्वांचल के माफिया और मऊ सदर विधायक मुख्तार अंसारी के सदस्यों के अवैध संपत्तियों की कुर्की के अलावा उनके दोनों बेटों उमर और अब्बास पर एफआईआर और इनाम घोषित करने के बाद अब उनकी पत्नी और दोनों साले पर भी कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है। इससे पहले उनकी करोड़ों की संपत्ति जब्त या जमींदोज कर चुकी है। जिनमें लखनऊ स्थित उसके दो घर, पत्नी और सालों के कब्जे वाली जमीन, मऊ में अवैध बूचड़खाना और कई अन्य संपत्तियां शामिल हैं।

अंसारी के बाद दूसरी बड़ी गाज माफिया डॉन अतीक अहमद पर गिरी है

अंसारी के बाद दूसरी बड़ी गाज माफिया डॉन अतीक अहमद पर गिरी है

अंसारी के बाद दूसरी बड़ी गाज माफिया डॉन अतीक अहमद पर गिरी है और उनकी 25 करोड़ की संपत्ति कुर्क की जा चुकी है। वहीं, अतीक के प्रयागराज स्थित दफ्तर, दो मकानों, कोल्ड स्टोरेज समेत कई अन्य संपत्तियों पर प्रशासन का बुलडोजर चल चुका है। प्रयागराज प्रशासन अब तक अतीक अहमद की 300 करोड़ की अवैध संपत्ति जमींदोज कर चुकी है। इसके अलावा 25 से ज्यादा रसूख वाले नेताओं के खिलाफ कार्रवाई जारी है। इनमें सपा के कद्दावर नेता आजम खान, सपा एमएलसी कमलेश पताहक, भदोही से विधायक विजय मिश्रा जैसे लोग प्रमुख हैं।

दोनों बाहुबली मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद जेल के अंदर बंद है

दोनों बाहुबली मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद जेल के अंदर बंद है

दिलचस्प बात यह है कि यूपी के दोनों बाहुबली क्रमशः मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद जेल के अंदर बंद है, लेकिन दोनों का अवैध धंधा खूब फल-फूल रहा था, लेकिन अब तक दर्जनों संपत्तियों समेत उसके कई साथियों पर पुलिस की कार्रवाई हो चुकी है। योगी सरकार ने भू-माफिया, हिस्ट्रीशीटर और गैंगस्टर के खिलाफ बड़ी कार्रवाई के लिए 'ऑपरेशन नेस्तनाबूद' अभियान चलाया, जिसके तहत सरकारी जमीनों पर माफिया और अपराधियों के अवैध कब्जे और संपत्तियां ढहाने, सरकारी जमीन पर कब्जे अवधि का हर्जाना उन्हीं से वसूलने का आदेश जारी किया गया था।

'ऑपरेशन नेस्तनाबूद' के तहत माफियाओं के खिलाफ प्लान तैयार किया गया

'ऑपरेशन नेस्तनाबूद' के तहत माफियाओं के खिलाफ प्लान तैयार किया गया

सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद पुलिस और प्रशासन ने 'ऑपरेशन नेस्तनाबूद' के तहत प्रयागराज में अतीक अहमद और मऊ और लखनऊ में मुख्तार अंसारी समेत यूपी के 25 से ज्यादा लिस्टेड माफियाओं के खिलाफ चल रही कार्रवाई का मास्टर प्लान तैयार किया। अतीक अहमद की अब तक 100 करोड़ से ज्यादा की संपत्तियों को लेकर कार्रवाई हुई है। वहीं, प्रशासन अब तक अतीक की 15 से ज्यादा संपत्तियों को प्रशासन कुर्क कर चुका है।

अतीक अहमद के करीबी जुल्फिकार उर्फ तोता का आशियाना ध्वस्त हुआ

अतीक अहमद के करीबी जुल्फिकार उर्फ तोता का आशियाना ध्वस्त हुआ

इस कड़ी में प्रयागराज में माफिया घोषित किए गए पूर्व बाहुबली सांसद अतीक अहमद के बेहद करीबी और उसके गैंग के सक्रिय सदस्य जुल्फिकार उर्फ तोता के अवैध आशियाने को ध्वस्त किया जा चुका है। तोता को अतीक गैंग का शार्प शूटर कहा जाता है, जो इन दिनों आगरा जेल में बंद है। तोता हिस्ट्रीशीटर है, उस पर गैंगस्टर भी लगा हुआ है। उसके खिलाफ तकरीबन दो दर्जन से अधिक आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।

सीएम योगी के निर्देश पर कुल 40 माफिया की कुंडली तैयार की गई थी

सीएम योगी के निर्देश पर कुल 40 माफिया की कुंडली तैयार की गई थी

उल्लेखनीय है सीएम योगी के निर्देश पर यूपी में अपराध, अपराधियों और भू-माफियाओं के खिलाफ जीरो टॉलरेंस नीति अभियान के तहत कुल 40 माफिया सरगनाओं के अपराधों की कुंडली तैयार की गई थी, जिनके खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए गए थे। योगी सरकार ने पिछले 41 महीनों में बड़े भू-माफियाओं को चिन्हित कर उनके विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही की जा चुकी है और अवैध रूप से कमाई गई उनकी संपत्तियों को जब्त कर चुकी है।

प्रदेश भर में गैंगस्टर एक्ट के तहत अब तक 10,484 मामले दर्ज किए हैं

प्रदेश भर में गैंगस्टर एक्ट के तहत अब तक 10,484 मामले दर्ज किए हैं

रिपोर्ट कहती है कि यूपी सरकार ने अब तक प्रदेश भर में गैंगस्टर एक्ट के तहत अब तक 10,484 मामले दर्ज किए हैं। इनमें से धारा 14(1) के तहत 495 मुकदमों में करीब 330 करोड़ रुपए की संपत्तियां जब्त और कुर्क की जा चुकी हैं। आगरा जोन में 48 करोड़, वाराणसी जोन में 47 करोड़, नोएडा कमिश्नरेट में 28 करोड़ और बरेली जोन में 25 करोड़ की संपत्तियां जब्त हो चुकी हैं। इनमें सबसे ज्यादा मामले मु्ख्तार अंसारी के गुर्गों और करीबियों के खिलाफ है।

योगी सरकार के एक्शन मोड से बाहुबलियों में इतना खौफ है कि...

योगी सरकार के एक्शन मोड से बाहुबलियों में इतना खौफ है कि...

योगी सरकार के एक्शन मोड से बाहुबलियों में इतना खौफ है कि जेल में बंद अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी डर से यूपी नहीं आना चाहते हैं। इसका खुलासा तब हुा जब मुख्तार को कोर्ट में पेशी के लिए वारंट लेकर पंजाब के रोपड़ जेल से लाने गई गाजीपुर पुलिस को पंजाब सरकार के मेडिकल बोर्ड ने मुख्तार की बीमारी का बहाना करके भेजने से इनकार कर दिया, जिससे कोर्ट को वर्चुअल सुनवाई करनी पड़ी। इसी तरह मध्य प्रदेश के जेल में बंद माफिया अतीक अहमद ने स्पेशल कोर्ट द्वारा तलब किए जाने पर हत्या की आशंका जताकर यूपी नहीं आए और वर्चुअली कोर्ट में पेश हुए थे।

English summary
During the tenure of UP chief Yogi Adityanath, crime and criminals have been tapped the most. From small crime criminals to gangster turn Bahubali leaders in various districts of the state, the Yogi Government consistently shows that CM Yogi is constantly moving towards the destruction of crime and crime-related gangsters. The administration has so far confiscated or demolished illegal assets worth about 500 crore of mafia and criminals in the state.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X