• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Flashback 2020: इस साल जम्‍मू-कश्‍मीर में मारे गए 46 कमांडर सहित 225 आतंकी

|

नई दिल्‍ली। साल 2020 का आज आखिरी दिन है। कल नई सुबह के साथ नए साल की शुरूआत होगी। हर चीज में साल भर लेखा जोखा किया जा रहा है। इसे लेकर जम्‍मू-कश्‍मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने पाकिस्‍तान की नापाक हरकतों के बारे में बताया है। उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान द्वारा कई प्रयासों के बावजूद इस साल घुसपैठ के मामले पिछले तीन-चार सालों में सबसे कम किए गए हैं। इसलिए पाकिस्‍तान को स्‍थानीय भर्ती पर भरोसा करना पड़ा। जिन्‍हें ड्रोन के माध्‍यम से हथियार, विस्‍फोटक सामग्री और नकदी की आपूर्ति करने की कोशिश की। इनमें से अधिकांश नापाक हरकतों को नाकाम कर दिया गया।

इस साल 100 से अधिक ऑपरेशन चलाए गए, 225 आतंकवादी मारे गए

इस साल 100 से अधिक ऑपरेशन चलाए गए, 225 आतंकवादी मारे गए

दिलबाग सिंह ने बताया कि साल 2020 में आतंकवादियों के खिलाफ जम्मू-कश्मीर में 100 से अधिक ऑपरेशन चलाए गए हैं। इनमें अभी तक 225 आतंकवादी मारे गए हैं जिनमें विभिन्न आतंकवादी संगठनों के 46 टॉप कमांडर शामिल हैं। यही नहीं घाटी में आतंकवादियों संगठनों के नेटवर्क को मजबूत बना रहे करीब 735 ओवरग्राउंड वर्करों को भी पकड़ा गया है। मुठभेड़, आतंकी ठिकानों व उनके सहयोगी साथियों से 428 हथियार बरामद किए गए हैं। अफसोस की बात है कि इन अभियानों के दौरान हमारे 40 जवानों ने शहादत पाई।

साल 2018 और 2019 की तुलना में इस साल आतंकवादी-संबंधित घटनाओं में गिरावट

साल 2018 और 2019 की तुलना में इस साल आतंकवादी-संबंधित घटनाओं में गिरावट

सिंह ने कहा कि 2018 और 2019 की तुलना में इस साल आतंकवादी-संबंधित घटनाओं में गिरावट आई है। 2019 की तुलना में आतंकवादी रैंकों में शामिल होने वाले लोगों की संख्या में थोड़ी वृद्धि हुई है। हालांकि, सकारात्मक पहलू यह है कि उनमें से 70 प्रतिशत या तो समाप्त हो गए या गिरफ्तार कर लिए गए।

साल 2020 तसल्लीबख्श रहा

साल 2020 तसल्लीबख्श रहा

डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा कि साल 2020 तसल्लीबख्श रहा, सबसे बड़ी उपलब्धि डीडीसी चुनाव रही। यह बड़ी उपलब्धि इसलिए भी है क्योंकि पाकिस्‍तान लगातार इसके खिलाफ साजिश रचता रहा। पुँछ और जम्मू और कश्मीर में चुनावो में खलल डालने की कोशिश की गई। डीजीपी ने कोरोना काल में राज्य पुलिस के कार्यों की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा, ''जम्मू कश्मीर पुलिस ने कोरोना काल में भी युद्धस्तर पर काम किया। दवाइयां, राशन, अस्पताल पहुंचाना जैसे काम किये। कोविड काल मे पुलिस और अवाम का रिश्ता मजबूत हुआ। कोरोना काल मे 15 जवानों और अधिकारियों की जान गई, जबकि 3500 जवान और अधिकारी इस संक्रमण से ग्रस्त रहे।''

नए साल पर रिलायंस जियो का बड़ा धमाका, 1 जनवरी से किसी भी डोमेस्टिक नेटवर्क पर वॉयस कॉल बिल्‍कुल FREE

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Year 2020 saw over 100 anti-militancy operations, 46 top commanders among 225 militants killed: Jammu-Kashmir DGP Dilbagh Singh.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X