• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Women's Day 2020: ब्रांड रेडियेटर की वो इंटरप्रन्योर जो खुद बन गईं एक ब्रांड, पढ़ें Exclusive Interview

By अंकुर शर्मा
|

अंकुर शर्मा

सीनियर सब-एडिटर
मैं वनइंडिया में सीनियर सब-एडिटर के रूप में कार्यरत हूं।

Exclusive Interview by Ankur Sharma : 'अपना जमाना आप बनाते हैं अहले दिल, हम वो नहीं कि जिसको जमाना बना गया'... जिगर मुरादाबादी की ये लाइनें 39 वर्षीय ब्रांड रेडिएटर की सीईओ हिमानी मिश्रा पर बिल्कुल फिट बैठती हैं क्योंकि इन्होंने वाकई अपनी मेहनत, जोश और अपनी नई सोच के जरिए एक ऐसा मुकाम तय किया है, जहां तक पहुंचना आसान नहीं होता है। महिला दिवस के मौके पर वनइंडिया परिवार उद्यमी हिमानी मिश्रा को तहे दिल से सलाम करता है और उन्हें समाज के सामने सफलता का एक नया इतिहास लिखने के लिए बधाई भी देता है। वर्ल्ड इनोवेशन सम्मान से सम्मानित और देश की 50 Fabulous Innovative Leaders में से एक हिमानी मिश्रा ने वनइंडिया से Exclusive बातचीत की और अपनी अब तक की जर्नी के बारे में अनुभव साझा किए, पेश हैं उनसे बातचीत के कुछ खास अंश।

बेटियां अभिशाप नहीं होती हैं: हिमानी मिश्रा

बेटियां अभिशाप नहीं होती हैं: हिमानी मिश्रा

  • वनइंडिया: वनइंडिया में स्वागत है हिमानी मिश्रा आपका, सबसे पहले आपको आपकी सक्सेस की बहुत-बहुत बधाई।
  • हिमानी मिश्रा: बहुत-बहुत धन्यवाद और आभार आपका
  • वनइंडिया: मैं आपके बारे आपसे जानना चाहूंगी, आखिर कौन हैं हिमानी?
  • हिमानी मिश्रा: जी बिल्कुल, मेरा नाम हिमानी मिश्रा है, मैं बिहार की पटना से पली-बढ़ी हूं, मैं तीन बहनों में सबसे बड़ी हूं, मेरे पिता प्रोफेसर रहे हैं और मेरी मां हाउसवाइफ , मैं उस क्षेत्र से आती हूं जहां बेटियों का होना अभिशाप माना जाता था, मेरे मां-बाप को बेटियों के लिए काफी सुनना पड़ा है, लेकिन मेरे मां-बाप ने मेरा पूरा साथ दिया और समाज की परवाह ना करते हुए मुझे पढ़ाया-लिखाया और मेरी हर संभव मदद की, मुझे आज भी याद है कि मेरी 12वीं पास करने पर घरवालों को कहा गया था कि इसकी शादी कर दो लेकिन मेरे पापा ने ये बात नहीं मानी और मुझे पढ़ने और आगे बढ़ने का मौका दिया, मैंने IIIT कोलकाता से बीटेक किया और फिर मैं आगे ही बढ़ती गई, मैं विप्रो, टाटा, मोटोरोला में काम करते हुए वापस पटना तक पहुंची और आज मेरे पास 14 साल के कार्य का अनुभव है, मुझे अपनी लाइफ में यह साबित करना था कि बेटियां अभिशाप नहीं है इसलिए मैंने स्टार्टअप शुरू किया और आज गर्व के साथ कह सकती हूं कि मैंने ये सिद्ध कर दिया कि बेटियों का पिता होना शर्म की बात नहीं।

यह पढ़ें: Coronavirus से बचाव ही नहीं बल्कि 'नमस्ते' करने के और भी हैं फायदे, जानिए इस परंपरा से जुड़े राज को

बदल रहा है मेरा राज्य बिहार: हिमानी

बदल रहा है मेरा राज्य बिहार: हिमानी

  • वनइंडिया: आपने अपनी कंपनी के लिए बिहार राज्य को ही क्यों चुना?
  • हिमानी मिश्रा: बहुत बढ़िया सवाल, जब मैं बेंगलुरु में थी, मुझे ये सुनने को मिलता था कि अच्छा तुम बिहार से हो, लगता तो नहीं है, ये बात मुझे बहुत चुभती थी, लोगों की मानसिकता बन गई है कि बिहार पिछड़ा राज्य है, या छोटे शहर वाले कुछ नहीं कर सकते, यह बात मुझे काफी अखरती थी, यहां लोग सोचते हैं कि मेट्रो में काम करेंगे तो ज्यादा पैसा कमाएंगे, जबकि ये वो गलती करते हैं, वो तो बड़े शहर को और बड़ा बना रहे हैं, जबकि अपने शहर और राज्य को नजर अंदाज करते जा रहे हैं, यह मानसिकता बदलनी चाहिए इसलिए मुझे लगा कि मुझे स्टार्ट अप बिहार से ही शुरू करना है और मैंने किया क्योंकि मुझे साबित करना था कि बिहार के लोगों का काम खराब नहीं होता वो भी मेहनती और सक्सेसफूल हो सकते हैं।
  • वनइंडिया: पहले के बिहार और आज के बिहार में क्या फर्क महसूस करती हैं आप?
  • हिमानी मिश्रा: काफी फर्क है, बदलाव हुआ है, लोगों की सोच बदल रही है, लोग आज लड़कियों को पढ़ा रहे हैं, ये एक बहुत बड़ा चेंज है, बिजनेस के हिसाब से भी परिवर्तन देखा जा रहा है, आज लोगों का झुकाव बिहार के प्रति बढ़ा है, लोग यहां अब इनवेस्ट करने को तैयार है, डिजिटल के क्षेत्र में भी लोग यहां अच्छा कर रहे हैं।
'स्टार्टअप की बहुत जरूरत है'

'स्टार्टअप की बहुत जरूरत है'

  • वनइंडिया: स्टार्टअप के बारे में क्या कहना है आपका?
  • हिमानी मिश्रा: स्टार्टअप को बिल्कुल बढ़ावा दीजिए लेकिन सही डायरेक्शन में, लोगों को रिजल्ट देकर ही इस बारे में समझाया जा सकता है, स्टार्टअप की बहुत जरूरत है, मैं इसके लिए बिजनेस शब्द प्रयोग करना चाहूंगी, इसे फैशन वर्ल्ड की तरह नहीं देखना चाहिए, जॉब करना बेकार नहीं है लेकिन बिजनेस से आप आने वाली जनरेशन के लिए जॉब पैदा कर सकते हैं इसलिए स्टार्टअप को बढ़ावा जरूर मिलना चाहिए।आज की दुनिया डिजिटलाइजेशन पर भी निर्भर है इसलिए डिजिटल माध्यमों के जरिए से एक स्थायी भविष्य की योजना बनाना एक अच्छा विकल्प है।
  • वनइंडिया: बिहार में ऐसी कौन सी तीन चीज है जिसमें तुरंत बदलाव की जरूरत है?
  • हिमानी मिश्रा: सबसे पहले आईटीइंट्रास्ट्रक्चर मजबूत होने की जरूरत है, दूसरी स्टार्टअप के लिए सपोर्ट पॉलिसी बहुत जरूरी है, तीसरी चीज इनवेस्ट प्वाइंट के रूप में सरकार को काम करने की बहुत जरूरत है, जिससे बाहर के लोग यहां आकर पैसा इन्वेस्ट करें।
  • वनइंडिया: इंडियन इकोनॉमी इस वक्त डाउन चल रही है, इस बारे में आपका क्या कहना है?
  • हिमानी मिश्रा: तो क्या यूएस की इकोनॉमी डाउन नहीं है, हर चीज के लिए सरकार को कोसना जरूरी नहीं है, अगर कुछ चेंज अच्छे के लिए हो रहा है तो उसे स्वीकार करें, एक नागरिक होने के नाते हमें भी इस ओर सोचना चाहिए और बार-बार अर्थ व्यवस्था के लिए किसी को दोषी नहीं ठहराना चाहिए, चीजें बदल रही हैं और वो बदलेंगी।
'ऊपरवाले ने महिला को डबल शक्ति दी है'

'ऊपरवाले ने महिला को डबल शक्ति दी है'

  • वनइंडिया: हिमानी आप एक मां भी हैं, पत्नी भी हैं, कैसे मैनेज करतीं है आप घर और बाहर, वर्किंग वूमन को आप क्या संदेश देना चाहती हैं?
  • हिमानी मिश्रा: भगवान ने महिला को काफी ताकतवर बनाया है, उसके पास स्पेशल पावर है, वो घर-बाहर दोनों संभाल सकती है, मुझे लगता है कि महिला दोनों जगह सफल हो सकती है,आप सबको खुश नहीं कर सकते हैं लेकिन आपके खुश रहने की जरूरत है, मेरा मानना है कि आप अपनी 20 प्रतिशत की शक्ति से 80 प्रतिशत की समस्या का समाधान कर सकती हैं, जिस दिन आप यह बात समझ लेंगी आप आसानी से घर और बाहर मैनेज कर लेंगी।
  • वनइंडिया: आपकी सफलता के पीछे किसका हाथ है?
  • हिमानी मिश्रा: मेरी सफलता के पीछे बहुत सारे लोग को हाथ है, मेरे पति, मेरे मां-बाप, मेरे दोस्त इसलिए मैं किसी एक का नाम नहीं लूंगी क्योंकि ये थोड़ा सा इनजस्टिस हो जाएगा।
  • वनइंडिया: आपके शौक क्या है?
  • हिमानी मिश्रा: मुझे कुकिंग का शौक है, संगीत सुनना पसंद है, मुझे वर्कआउट करना भी अच्छा लगता है।
'महिला का मुकाबला खुद महिला से है'

'महिला का मुकाबला खुद महिला से है'

  • वनइंडिया: अपने पति के बारे में कुछ शेयर करना चाहेंगी?
  • हिमानी मिश्रा: हां, वो बहुत सपोर्टिव हैं, वो रूढ़िवादी मानसिकता से ग्रसित नहीं हैं, उनका सहयोग और मार्गदर्शन हमेशा मेरे लिए होता है।
  • वनइंडिया: फिल्में देखती हैं आप, फेवरेट हीरो कौन हैं, कौन सी हिरोईन पसंद है?
  • हिमानी मिश्रा: यस, शाहरुख खान की फैन हूं, 'दंगल' फिल्म मेरे दिल के काफी करीब है और माधुरी दीक्षित और दीपिका पादुकोण का काम पसंद है।
  • वनइंडिया: महिला दिवस पर देश की महिलाओं को क्या संदेश देना चाहेंगी?
  • हिमानी मिश्रा: मैं बस यही कहना चाहूंगी कि महिलाओं को स्पेशल पावर के साथ भगवान ने धरती पर भेजा है और पूरे ब्रह्मांड में उसे कोई हरा नहीं सकता है इसलिए अपनी शक्ति को पहचानिए और आप सकारात्मक रहते हुए सही दिशा में हर वो काम कीजिए, जिसमें आप खुश रहती हैं। महिला ही सर्वशक्तिशाली है, जिसका मुकाबला और किसी से नहीं बल्कि खुद से ही होता है।

खास बात : एक सशक्त उद्यमी के तौर पर जानी जाने वाली महिला उद्यमी हिमानी मिश्रा, ने अपने कुशल नेतृत्व में बिहार और बाहर के राज्यों की बहुत सारी नामी कम्पनियों का डिजिटल प्लेटफॉर्म पर ब्रांडिंग और मार्केटिंग का काम संभाला है। अपने संस्थापना के महज 20 महीनों में 'ब्रांड रेडियेटर' ने सफलता का मुकाम हासिल किया है और 35 लोगों को नौकरी दी, बता दें कि अभी तक बिहार के 9 लोग, जो बिहार के बाहर की कंपनियों में काम कर रहे थे, उन्हें बिहार में ब्रांड रेडियेटर ने नौकरी दे कर वापस आपने घर के पास काम करने का मौका प्रदान किया है।

ब्रांड रेडियेटर' का उद्देश्य

• हम एक बड़ी तस्वीर के साथ परिप्रेक्ष्य बदलते हैं

• भविष्य के लिए तैयार समाधान और सेवाएं

• मापने योग्य और कार्रवाई परिवर्तनीय विश्लेषिकी

यह पढ़ें: कंगना की बहन रंगोली का Tweet-इन्हें मिलना चाहिए पीएम मोदी का सोशल अकाउंट

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Oneindia Exclusive Interview with Brand Radiator CEO Himani Mishra, she is Youth Icon.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X