• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

हर दिन अलग रंग की साड़ी क्यों पहनती थीं सुषमा स्वराज, पत्रकार के सामने खोला था राज

|

नई दिल्ली। पूर्व विदेश मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की कद्दावर नेता सुषमा स्वराज अब हमारे बीच नहीं हैं। मंगलवार रात दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में उनका निधन हो गया, वे 67 वर्ष की थीं। एक राजनेता के तौर पर सुषमा स्वराज का अंदाज बेहद खास रहा। एक अच्छी वक्ता के साथ-साथ वो जिस शालीनता से अपनी बात रखती थीं ये इसी का असर था कि विरोधी दलों के नेता भी उनका बेहद आदर करते थे। भाषण कला के साथ-साथ सुषमा स्वराज का ड्रेसिंग सेंस भी उनकी खास पहचान रहा। आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन सुषमा स्वराज हर दिन अलग-अलग रंग की साड़ी पहनती थीं। उनके इस कदम के पीछे खास वजह भी थी।

इसलिए पहनती थीं अलग-अलग दिन अलग-अलग रंग की साड़ी

इसलिए पहनती थीं अलग-अलग दिन अलग-अलग रंग की साड़ी

सुषमा स्वराज के बारे में कहा जाता है कि उनका वार्डरोब मैनेजमेंट बेहद खास था। इसे उन्होंने खुद ही डेवलप किया था, किस दिन कौन से रंग की साड़ी पहननी है, ये सब कुछ उन्होंने प्लान कर रखा था। जानकारी के मुताबिक, सुषमा स्वराज सोमवार को सफेद या क्रीम रंग की साड़ी पहनती थीं। मंगलवार को लाल या फिर मैरून रंग की, बुधवार को हरे रंग की, गुरुवार को पीले रंग की, शुक्रवार को पर्पल, शनिवार को नीले रंग की और रविवार का कोई तय रंग नहीं था।

इसे भी पढ़ें:- बॉलीवुड के ही-मैन धर्मेंद्र ने ऐसे किया सुषमा स्वराज को याद

अंधविश्वास या ज्योतिष! साड़ी के रंग को लेकर सुषमा ने किया ये बड़ा खुलासा

अंधविश्वास या ज्योतिष! साड़ी के रंग को लेकर सुषमा ने किया ये बड़ा खुलासा

सुषमा स्वराज के अलग-अलग दिन अलग-अलग रंग की साड़ी पहनने को लेकर कई तरह की चर्चाएं थीं। ऐसा माना जाता था कि शायद ज्योतिष या फिर अंधविश्वास की वजह से वो ऐसा करती हैं। हालांकि सुषमा स्वराज ने खुद ही इन बातों का खारिज कर दिया। मई 2009 मे जब सुषमा स्वराज मध्य प्रदेश के विदिशा से पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रही थीं उस समय उन्होंने इस मुद्दे पर अपनी बात रखी। पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने बताया कि इसके पीछे कोई धार्मिक कारण या फिर अंधविश्वास नहीं है।

खुद डेवलप किया अपना वार्डरोब मैनेजमेंट

खुद डेवलप किया अपना वार्डरोब मैनेजमेंट

सुषमा स्वराज ने उस समय बताया था, "नेताओं के पास अपने लिए ज्यादा समय नहीं होता है, खास तौर से तैयार होने के दौरान कपड़े चुनने की फुरसत नहीं होती। इसलिए, मैंने अपना खुद का वार्डरोप मैनेजमेंट विकसित किया। मैंने अपने ड्रेस को रंगों के अनुसार व्यवस्थित किया। मुझे दिन के अनुसार उन्हें चुनना आसान लगा, इसलिए मैंने रंग के मुताबिक इसे आगे बढ़ाया।"

पाकिस्तान दौरे पर हरी साड़ी पहनने पर हुआ था विवाद

पाकिस्तान दौरे पर हरी साड़ी पहनने पर हुआ था विवाद

हालांकि, सुषमा स्वराज एक बार साड़ी के रंग को लेकर विवाद में फंस गई थी। हुआ ये कि 9 दिसंबर, 2015 को विदेश मंत्री के तौर पर जब वो पाकिस्तान की यात्रा पर गई थीं तो हरी रंग की साड़ी पहनी थीं, जिसको लेकर उनकी आलोचना हुई थी। भारत लौटने पर, उन्होंने 14 दिसंबर, 2015 को संसद में इस मुद्दे को स्पष्ट किया। उन्होंने कहा, 'लोगों को आलोचना करने के लिए इस तरह की अजीब चीजें मिलती हैं... मेरी साड़ी हरी क्यों थी? मैं उर्दू में क्यों बोल रही थी?... मैं पहनती हूं हर बुधवार को हरी साड़ी, और उस दिन बुधवार था।'

इसे भी पढ़ें:- सुषमा स्वराज के निधन पर कांग्रेस के इस दिग्गज नेता ने कहा- मैंने अपनी बहन खो दी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Why Sushma Swaraj would have worn different colour saree different day.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X