• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सुशांत केसः CBI जांच से अब तक महाराष्ट्र सरकार भाग रही थी, अब गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती हुईं फरार?

|

बेंगलुरू। एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की रहस्यमयी मौत के 45-46 दिन बाद जब जब पटना में सुशांत के पिता केके सिंह द्वारा कथित गर्लफ्रेड व अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के बाद फिल्म इंडस्ट्री में संदिग्ध को बचाने की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। सुशांत की संदिग्ध मौत के बाद करीब एक महीने बाद उनकी लिव इन पार्टनर रिया चक्रवर्ती बाहर आती हैं और खुद को उनकी गर्लफ्रेंड बताते हुए मामले की सीबीआई जांच के लिए विनती करती नज़र आईं रिया अब फरार बताई जा रही हैं।

    Sushant Suicide Case:SC ने खारिज की CBI जांच की मांग,SIT जांच की याचिका मुंबई HC में |वनइंडिया हिंदी

    reha

    अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती पर सुशांत के पिता ने दर्ज एफआईआर में दिवंगत सुशांत को सुसाइड के लिए मजबूर करने और धोखाधड़ी करने सहित कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। उधर, एफआईआर दर्ज हुआ औ इधर संभावित गिरफ्तारी से बचने के लिए रिया सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच जाती हैं। उसके बाद खबर फैली कि पुलिस रिया से फोन पर भी संपर्क नहीं कर पा रही। वहीं, पटना पुलिस जब मुंबई स्थित उनके घर पहुंची थी, तो रिया वहा नहीं मिली। हालांकि जांच करने मुंबई पहुंची पटना पुलिस ने रिया के फरार होने की खबर से इनकार किया है।

    CM गहलोत के हाथों दो बार धोखा खा चुकी मायावती अब कांग्रेस से दो-दो हाथ करने के मूड में हैं

    reha

    हालिया रिलीज फिल्म दिल बेचारा में दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत का एक डॉयलाग है, जिसमें वो कहते हैं, जन्म कब लेना है और कब मरना है, यह हम डिसाइड नहीं कर सकते, लेकिन कैसे जीना है, यह हम डिसाइड कर सकते हैं। लगता है सुशांत असल जिंदगी में कही न कहीं ऐसे विचारों वाले थे, तो कहीं पारंपरिक समाज और उसकी परिपाटियों को धता बताने वाली और ढर्रे से इतर जिंदगी जीने की सजा तो सुशांत को नहीं मिल गई, क्योंकि जो जिंदगी सुशांत ने चुनी थी, वो उसमें बेहद खुश थे, क्योंकि वो छोड़कर आए थे, जो विरले ही छोड़ पाते हैं।

    कंगना रनौत ने कहा, मैं सुशांत सिंह राजपूत को न्याय दिलाने में मदद के लिए प्रतिबद्ध हूं

    AIEEE परीक्षा 6वीं रैंक लाने वाला मायानगरी में संघर्ष करके खड़ा हुआ था

    AIEEE परीक्षा 6वीं रैंक लाने वाला मायानगरी में संघर्ष करके खड़ा हुआ था

    जी हां, हम बात कर रहे इंजीनियरिंग छात्र सुशांत सिंह राजपूत की, जो एआईईईई की परीक्षा 6वीं रैंक लाने के बावजूद सपनों को फॉलो करता हुआ मायानगरी में संघर्ष करके खुद को खड़ा किया था। उसके पास धन-दौलत की कोई कमी नहीं थी, उसने इतने पैसे जोड़ लिए थे कि वह आराम से जिंदगी बसर कर सकता था। फिर चाहें फिल्में मिलती या नहीं मिलती। जैसा कंगना भी कह चुकी हैं कि अगर उन्हें फिल्में नहीं मिलती हैं तो मनाली लौट जाएंगी।

    कंगना की तरह सुशांत भी प्रोडक्शन हाउस कंपनी खोलने की कोशिश में थे

    कंगना की तरह सुशांत भी प्रोडक्शन हाउस कंपनी खोलने की कोशिश में थे

    सुशांत सिंह राजपूत के साथ भी कुछ ऐसा ही था। कंगना की तरह सुशांत सिंह राजपूत भी प्रोडक्शन हाउस कंपनी खोलने की कोशिश में थे, जिसके लिए उन्होंने निवेश की संभावनाएं भी तलाश रहे थे। उनकी पिछली फिल्म छिछोर सुपरहिट हुई थी। उनकी हालिया रिलीज दिल बेचारा भी सुपरहिट की कैटेगरी में शुमार हो चुकी है। मौत से पहले निर्देशक रूमी जाफरी की फिल्म उन्होंने साइन की थी। इतना कुछ काफी था, किसी की जिंदगी में रवानगी के लिए?

    आत्महत्या लायक परिस्थितियां सुशांत के आस पास बिल्कुल नहीं दीखती हैं

    आत्महत्या लायक परिस्थितियां सुशांत के आस पास बिल्कुल नहीं दीखती हैं

    सुशांत सिंह राजपूत की जिंदगी कैसी भी रही हो, आत्महत्या लायक परिस्थितियां उनके आस पास बिल्कुल नहीं दीखती हैं। कहीं सुशांत सिंह राजपूत को कथित गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती और मैनेजर दिशा सालियान की निजी जिंदगी की दरख्तों से जुड़ा कोई राज उन्हें मौत के मुंह तक ले गया होगा। इसका आकलन सुब्रमण्यन स्वामी द्वारा सबूत के तौर पर ऱखे गए 26 में से 24 प्लाइंट ही क्लीयर करते हैं, जो किसी फॉल प्ले की ओर इशारा करते हैं।

    सीबीआई जांच के लिए विनती करती नज़र आईं रिया फरार बताई जा रही हैं

    सीबीआई जांच के लिए विनती करती नज़र आईं रिया फरार बताई जा रही हैं

    सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह द्वारा कथित गर्लफ्रेड व अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराते ही कभी मामले की सीबीआई जांच के लिए विनती करती नज़र आईं रिया अब फरार बताई जा रही हैं। रिया पर सुशांत को सुसाइड के लिए मजबूर करने और धोखाधड़ी करने सहित कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। कहां जा रहा है कि संभावित गिरफ्तारी से बचने के लिए रिया सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच चुकी हैं। खबर फैली कि पुलिस रिया से फोन पर भी संपर्क नहीं कर पा रही। पटना पुलिस जब मुंबई स्थित उनके घर पहुंची थी, तो रिया वहा नहीं मिली। हालांकि जांच करने मुंबई पहुंची पटना पुलिस ने इससे इनकार किया है।

    सुशांत सिंह राजपूत की रहस्यमयी केस को मर्डर करार दे चुके हैं स्वामी

    सुशांत सिंह राजपूत की रहस्यमयी केस को मर्डर करार दे चुके हैं स्वामी

    सुब्रमण्यन स्वामी ने सुशांत सिंह राजपूत की रहस्यमयी केस को बकायदा मर्डर करार दे चुके हैं, जिसके लिए उन्होंने 24 प्लाइंट्स को ट्वीटर पर अपने हैंडल से शेयर भी किया है और उन्हीं प्वाइंट्स को आधार बनाकर उन्होंने सरकार से मामले की एनआईए से जांच कराने और एसआईटी गठित करने की मांग की हैं। सुब्रमण्यम स्वामी द्वारा सोशल मीडिया पर रखे 26 में से 24 प्वाइंट्स सुशांत के मर्डर की ओर इशारा कर हैं।

    स्वामी के मुताबिक सुशांत के रूम में एंटी डिप्रेशन ड्रग्स जो मिले हैं

    स्वामी के मुताबिक सुशांत के रूम में एंटी डिप्रेशन ड्रग्स जो मिले हैं

    स्वामी के मुताबिक सुशांत के रूम में एंटी डिप्रेशन ड्रग्स जो मिले हैं, वो हो सकता है किसी ने वहां प्लांट कर दिए हो। उन्होंने फंदा बनाने के लिए इस्तेमाल किए गए कपड़े पर भी सवाल खड़े किए हैं। सुशांत की गर्दन पर मिले निशान बेल्ट जैसी चीज के हैं। ऐसा भी कहा गया है कि सुशांत 14 जून को सुबह के वक्त वीडियो गेम खेल रहे थे। कोई डिप्रेस्ड शख्स वीडियो गेम नहीं खेल सकता, मकान पर किसी सुसाइड नोट का न मिलना भी खटक रहा है।

    नीतीश कुमार ने भी सुशांत सिंह राजपूत मामले में इच्छा जाहिर की है

    नीतीश कुमार ने भी सुशांत सिंह राजपूत मामले में इच्छा जाहिर की है

    मामले पर पहल करते हुए सुब्रमण्यम स्वामी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बातचीत की। स्वामी ने बताया कि नीतीश कुमार ने भी सुशांत सिंह राजपूत मामले में इच्छा जाहिर की है कि एक्टर को न्याय मिले और दोषियों को कड़ी सजा मिले। यही वजह है कि नीतीश कुमार ने मामले की सीबीआई जांच को लेकर मुखर हुए हैं।

    हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट भी सीबीआई जांच का निर्देश दे सकते हैंः स्वामी

    हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट भी सीबीआई जांच का निर्देश दे सकते हैंः स्वामी

    सुब्रमण्यन स्वामी ने सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच सीबीआई को सिफारिश नहीं करने के लिए महाराष्ट्र की उद्धव सरकार पर निशाना साधा है। उन्होने कहा कि उद्धव मंत्रिमंडल को यह तय नहीं करना चाहिए कि राज्य सीबीआई जांच की अनुमति नहीं देगा, क्योंकि हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट भी मामले की सीबीआई जांच का निर्देश दे सकते हैं। उन्होंने बताया कि तमिलनाडु में एक प्रमुख जाति ने 100 फीसदी अनुसूचित जाति के गांव में धावा बोल दिया, तब उन्होंने ऐसा किया था, जबकि सीएम जेजे ने इसका विरोध किया था।

    बिसरा रिपोर्ट आने के बाद मुंबई पुलिस केस रिपोर्ट तैयार कर रही थी कि

    बिसरा रिपोर्ट आने के बाद मुंबई पुलिस केस रिपोर्ट तैयार कर रही थी कि

    चूंकि अब सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच पूरी हो चुकी है और बिसरा रिपोर्ट आने के बाद मुंबई पुलिस केस रिपोर्ट तैयार करने रही थी, तभी अचानक मंगलवार को एक लंबे अंतराल तक खामोश बैठा सुशांत सिंह राजपूत का परिवार मीडिया और कानून दोनों के सामने आवाज बुलंद की है। मामले में न्याय के लिए सुशांत के पिता केके सिंह ने कथित गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती पर सनसनीखेज आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज करवा दिए है।

    सुशांत के पिता ने रिया चक्रवर्ती पर फैमिली से दूर करने का आरोप लगाया

    सुशांत के पिता ने रिया चक्रवर्ती पर फैमिली से दूर करने का आरोप लगाया

    पटना के राजीव नगर पुलिस स्टेशन में 7 पेज के एफआईआर में सुशांत के पिता ने रिया और उनके परिवार वालों पर एक्टर को उनकी फैमिली से दूर करने का आरोप लगाया है। उन्होंने रिया पर आरोप लगाया है कि एक्ट्रेस ने उनके बेटे से कॉन्टैक्ट करने का हर जरिया बंद कर रखा था। इस एफआईआर में रिया द्वारा सुशांत के अकाउंट से 15 करोड़ निकालने की बात भी कही गई है, जिससे धीरे-धीरे हत्या और आत्महत्या के बीच पड़ी धुंध साफ हो रही है।

    मुंबई पुलिस को अब नए सिरे से मामले की जांच की जद्दोजहद करनी पड़ेगी

    मुंबई पुलिस को अब नए सिरे से मामले की जांच की जद्दोजहद करनी पड़ेगी

    पूरी संभावना है कि सुशांत सिंह राजपूत के परिवार द्वारा किए गए ताजा खुलासे के बाद केस फाइल बंद करने जा रही मुंबई पुलिस अब नए सिरे से मामले की जांच के लिए जद्दोजहद करनी पड़ेगी, जो संभवत शुरूआत से ही मामले की जांच सुसाइड का एंगल पकड़कर रही थी और इसी एंगल को पुख्ता करने में अपनी पूरी मेहनत झोंक बैठी थी।

    अब मुंबई पुलिस या पटना पुलिस अब जांच को अंजाम तक पहुंचाएगी?

    अब मुंबई पुलिस या पटना पुलिस अब जांच को अंजाम तक पहुंचाएगी?

    चूंकि एफआईआर के बाद पटना पुलिस मुंबई पहुंच चुकी है और रिया चक्रवर्ती से पूछताछ की कोशिश में है, इसलिए सवाल उठ रहे हैं कि मामले की जांच अब मुंबई पुलिस ही करेगी या पटना पुलिस अब जांच को अंजाम तक पहुंचाएगी। फिलहाल, पटना पुलिस सुशांत के अंकाउंट की जांच के लिए बैंकों से सम्पर्क कर रही हैं, रिया पर आरोप है कि उन्होंने सुशांत के अकाउंट से अपने अकाउंट में 15 करोड़ रुपए ट्रांसफर करवाए। पटना पुलिस सुशांत के CA से भी इस बारे में पूछताछ करेगी ताकि उनके पैसों और इसके लेन-देन का पता चल सके।

    बिहार पुलिस ने सुशांत की पूर्व गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे से बात की है

    बिहार पुलिस ने सुशांत की पूर्व गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे से बात की है

    बिहार पुलिस ने सुशांत सिंह की मौत के मामले में सुशांत की पूर्व गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे से बात की है। अंकिता ने मामले में संदिग्धता जाहिर करते हुए पुलिस को बताया कि कैसे रिया चक्रवर्ती सुशांत को परेशान कर रही थीं। उन्होंने पुलिस को बताया कि सुशांत ने काफी भावुक होकर उन्हें बताया था कि वो इस रिलेशनशिप में काफी परेशान हो चुके हैं और वो इसे ख़त्म करना चाहते हैं, क्योकि रिया चक्रवर्ती उन्हें काफी हैरस कर रही हैं। अंकिता ने सुशांत और उनके बीच हुए चैट विवरण भी पटना पुलिस के साथ शेयर किया है।

     कई आरोप लगने के बावजूद सीबीआई जांच से क्यों कतरा रही है सरकार

    कई आरोप लगने के बावजूद सीबीआई जांच से क्यों कतरा रही है सरकार

    सवाल यह है कि महाराष्ट्र सरकार, जो कई बार छोटे-छोटे मसले की जांच सीबीआई से करवाने की अनुशंसा कर देती है, वह इस सनसनीखेज मामले में कई आरोप लगने के बावजूद सीबीआई जांच से क्यों कतरा रही है। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख कई बार साफ-साफ कह चुके हैं कि केस की जांच सीबीआई को नहीं सौंपी जाएगी। ऐसा तो नहीं कोई सफेदपोश सुशांत सिंह मर्डर के पीछे छिपा हुआ, जिसे पुलिस और सरकार बचाने की कोशिश कर रही है। हालांकि सच तो बाहर जल्द ही आ जाएगा, लेकिन कब यह बड़ा सवाल बना हुआ है।

    क्या बिहार सरकार के पास मामले की सीबीआई सिफारिश का अधिकार है?

    क्या बिहार सरकार के पास मामले की सीबीआई सिफारिश का अधिकार है?

    गंभीर सवाल यह है कि क्या महाराष्ट्र सरकार के इनकार के बाद बिहार सरकार के पास यह अधिकार है कि व‍ह मामले की सीबीआई जांच की अनुशंसा करे?, क्योंकि पटना में मामले में एक एफआईआर दर्ज होने के बाद राज्य सरकार मामले की जांच के लिए उच्च स्तर पर जाने के लिए स्वतंत्र होती है, भले ही घटना राज्य में हुआ हो अथवा राज्य की परिसीमा से बाहर। आखिर सुशांत सिंह राजपूत का गृह राज्य बिहार ही है।

    दिल्ली इस्टेब्लिशमेंट एक्ट के तहत प्रदेश सरकार के पास शक्ति है

    दिल्ली इस्टेब्लिशमेंट एक्ट के तहत प्रदेश सरकार के पास शक्ति है

    कानून के जानकारों के मुताबिक चूंकि पटना के राजीव नगर थाना में यह मामला दर्ज हो गया है, तो इसकी जांच फिलहाल पटना पुलिस कर रही है, तो बिहार सरकार के पास इसकी सीबीआई जांच की अनुशंसा करने का पूरा अधिकार है। दिल्ली इस्टेब्लिशमेंट एक्ट के तहत प्रदेश सरकार के पास शक्ति है कि वह सीबीआई जांच की सिफारिश कर सकती है। हालांकि लार्जर इंट्रेस्ट ऑफ जस्टिस के तहत देखा जाए तो प्रॉपर इन्वेस्टिगेशन के लिए मामले की जांच सीबीआई से ही करवानी चाहिए, क्योंकि इससे एक बड़ा तबका जुड़ा है।

    शरद पवार के पोते पार्थ पवार ने भी सीबीआई जांच की मांग कर दी है

    शरद पवार के पोते पार्थ पवार ने भी सीबीआई जांच की मांग कर दी है

    बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी के अलावा सांसद रूपा गांगुली, एक्टर शेखर सुमन, एक्ट्रेस कंगना रनौत और पूर्व सासंद पप्पू यादव और लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान मामले की सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं। अब इसमें बसपा सुप्रीमो मायावती का नाम जुड़ गया है और उन्होंने सीबीआई जांच की मांग दोहराई है। और तो और अब महाराष्ट्र गठबंधन सरकार में शामिल एनसीपी चीफ शरद पवार के पोते पार्थ पवार ने भी सीबीआई जांच की मांग कर दी है।

    सुशांत सिंह राजपूत केस की सीबीआई जांच अब राजनीति रंग लेने लगा है।

    सुशांत सिंह राजपूत केस की सीबीआई जांच अब राजनीति रंग लेने लगा है।

    एनसीपी नेता और एनसीपी प्रमुख शरद पवार के पोते पार्थ पवार ने सुशांत सिंह राजपूत मामले में सीबीआई जांच को लेकर महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख से मुलाकात के बाद एक पत्र सौंपा है। उन्होंने ट्वीट में लिखा, पूरे देश के साथ, विशेष रूप से युवाओं, स्व. सुशांत सिंह राजपूत की मौत की उचित जांच की मांग करते हुए मैंने माननीय अनिल देशमुख से सीबीआई जांच की मांग की है। यह अलग बात है कि गृह मंत्री अनिल देशमुख एनसीपी विधायक हैं। ऐसा लगता है कि सीबीआई जांच की मांग एक शिगूफा बन गया, जो महज खानापूर्ति बनता जा रहा है और मामला अब राजनीति रंग लेने लगा है।

    खुद गर्लफ्रेड रिया चक्रवर्ती ने भी की थी सीबीआई जांच की मांग

    खुद गर्लफ्रेड रिया चक्रवर्ती ने भी की थी सीबीआई जांच की मांग

    बीते दिनों रिया चक्रवर्ती ने सुशांत सिंह राजपूत खुदकुशी मामले में सीबीआई जांच की मांग की थी। रिया ने इंस्टाग्राम पर सुशांत की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, अमित शाह सर, मैं सुशांत सिंह राजपूत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती हूं। सुशांत के असमय निधन को एक महीना पूरा हो चुका है। मुझे सरकार पर पूरा भरोसा है, इंसाफ के लिए मैं आपसे हाथ जोड़कर आग्रह करती हूं, इस मामले में जल्द से जल्द सीबीआई जांच कराई जाए। मैं सिर्फ ये जानना चाहती हूं कि आखिर सुशांत ने किस प्रेशर में आकर यह कदम उठाया।

    मुंबई पुलिस केस में अब तक करीब 40 लोगों से पूछताछ की जा चुकी है

    मुंबई पुलिस केस में अब तक करीब 40 लोगों से पूछताछ की जा चुकी है

    मुंबई पुलिस केस में अब तक करीब 40 लोगों से पूछताछ की जा चुकी है, लेकिन सुसाइड एंगल में टिकी मुंबई पुलिस की जांच अब पटना पुलिस की छानबीन के बाद बिखरती नजर आ रही है। इस बीच कंगना रनौत ने एक बाऱ फिर एक ट्वीट से चर्चा शुरू हो गई है कि कही न कहीं सुशांत सिंह राजपूत बॉलीवड में भाई-भतीजवाद के शिकार थे। इसके कई उदाहरण पहले सामने आ चुके हैं।

    2019 के पूरे साल सुशांत ने किसी भी फिल्म के लिए शूटिंग नहीं की: कंगना

    2019 के पूरे साल सुशांत ने किसी भी फिल्म के लिए शूटिंग नहीं की: कंगना

    ताजा ट्वीट में कंगना ने लिखा, वर्ष 2019 के पूरे साल सुशांत ने किसी भी फिल्म के लिए शूटिंग नहीं की थी, क्योंकि फिल्म माफिया ने उनका बहिष्कार कर दिया था, उनके पिता ने बता चुके है कि तंग आकर सुशांत बॉलीवुड छोड़ जैविक खेती करना चाहते थे। कंगना ने बॉलीवुड में मौजूद नेपोटिज्म पर सवाल उठाते हुए कहा कि प्रतिभा का ऐसा पावर हाउस जिसने साइंस में शानदार कैरियर को छोड़ दिया, अब खेती क्यों करना चाहता था?

    रिया ने सुशांत को मीडिया माफिया का डर दिखाकर डराया-धमकाया

    रिया ने सुशांत को मीडिया माफिया का डर दिखाकर डराया-धमकाया

    बकौल कंगना, 'रिया चक्रवर्ती ने सुशांत को मीडिया माफिया का डर दिखाकर डराया और धमकाया और बैन कराने की धमकी दी। बहुत अधिक स्ट्रगल के कारण मानसिक स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं होना बहुत आम बात है। हॉलीवुड में भी लोग इस संघर्ष को फेस करते हैं। कंगना ने पूछा, सुशांत ने उनको बदनाम करने के लिए चलाए जा रहे अभियानों का सामना करने बजाए मरना बेहतर क्यों समझा?'

    मुंबई पुलिस की अब तक की जांच पर उठते रहे हैं सवाल

    मुंबई पुलिस की अब तक की जांच पर उठते रहे हैं सवाल

    सांसद रूपा गांगुली समेत कई नामचीनों ने मुंबई पुलिस की कार्यशैली और जांच पर शुरूआत से ही सवाल उठा चुके हैं। अभी ताजा खुलासा हुआ है कि मुंबई पुलिस अभी तक सुशांत सिंह राजपूत मामले में सीआरपीसी 174 के तहत (यूडीआर के आधार पर) जांच कर रही है, जो कि सवालों के घेरे में है, क्योंकि अगर अप्राकृतिक मौत भी होती है तो भी पुलिस को इसकी जांच करनी है और इसकी बजाप्ता एक रिपोर्ट बननी है। इसे कानूनी भाषा में Abetment of suicide कहते हैं। ये IPC 306 के अंतर्गत दंडनीय है। इसके तहत 10 वर्ष की सजा का प्रावधान है।

    45-46 दिन होने के बाद भी मुंबई पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं की

    45-46 दिन होने के बाद भी मुंबई पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं की

    बांद्रा पुलिस ने सुशांत सिंह राजपूत मामले में 45-46 दिन बीतने के बाद अब तक FIR नहीं किया था, बल्कि UDR दर्ज कर ही मुम्बई पुलिस मामले की जांच कर रही थी और इस मामले में अभिनेता मनोज तिवारी और निर्भया की वकील सीमा कुशवाहा ने सवाल उठाए हैं। वकील कुशवाहा ने कहा, मेरा डाउट यह है कि आखिर जब करीब 45-46 दिन होने के बावजूद भी मुंबई पुलिस ने अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं की थी।

    मनोज तिवारी ने मामले को लेकर मुंबई पुलिस के रवैये पर सवाल उठाए

    मनोज तिवारी ने मामले को लेकर मुंबई पुलिस के रवैये पर सवाल उठाए

    सीआरपीसी 174 में यूडीआर प्रावधान है, जिसमें कहा जाता है कि जांच होने के बाद पुलिस केस के नेचर को देखते हुए फिर एफआईआर दर्ज करती है। इसी को लेकर मनोज तिवारी ने सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले को लेकर मुंबई पुलिस के रवैये पर सवाल उठाए। यही कारण था कि सुशांत के पिता केके सिंह ने मजबूर होकर पटना में एफआईआर दर्ज करवाना पड़ा। पटना पुलिस मुंबई पहुंच चुकी है, तब जाकर मुंबई पुलिस की आंख खुली है।

    परिजन भी सुप्रीम कोर्ट से केस की सीबीआई जांच की मांग कर सकते हैं

    परिजन भी सुप्रीम कोर्ट से केस की सीबीआई जांच की मांग कर सकते हैं

    सुशांत सिंह के परिजन भी सुप्रीम कोर्ट जाकर मामले की सीबीआई जांच की मांग कर सकते हैं, क्योंकि सभी कोर्ट का यह पहला उद्देश्य होता है कि वांछित को न्याय मिले, ऐसे में अगर परिजन सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष अपनी बात रखते हैं तो कोर्ट जरूर सहानुभूतिपूर्व विचार करेगा और सुप्रीम कोर्ट सीबीआई को जांच सौंप देगा।

    सदमे में था पूरा परिवार, जांच में निराशा के बाद पटना में दर्ज किया FIR

    सदमे में था पूरा परिवार, जांच में निराशा के बाद पटना में दर्ज किया FIR

    सुशांत के चचेरे भाई के मुताबिक दिवंगत सुशांत सिंह राजपूत का परिवार सदमे से थोड़ा उबरा है और मुंबई पुलिस की जांच से निराशा के बाद परिवार ने पटना में रिया चक्रवर्ती समेत 7 लोगों के खिलाफ एफआईआर करने को मजूबर हुई है। सुशांत के चचेरे भाई और छातापुर के पूर्व विधायक नीरज कुमार सिंह ने मीडिया को बताया कि घटना के बाद कुछ बातें पता चली तब प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    In the recently released film Dil Bechara of the late Sushant Singh Rajput, Sushant Singh Rajput says in a dialogue that we cannot disguise when to be born and when to die, but how to live, we can dissect it. Sushant never had such thoughts anywhere in real life, so Sushant did not get the punishment for defying the traditional society and its practices and living life outside the framework, because the life Sushant had chosen, he was very happy in it. Were, because they came, who rarely leave.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more