• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

47 साल बाद मुंबई क्राइम ब्रांच के पास आखिर क्यों पहुंचा अमिताभ की फिल्म 'जंजीर' का मामला, जानिए

|

नई दिल्ली। Zanjeer movie copyright case. बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन की सुपर हिट एक्शन थ्रिलर फिल्म 'जंजीर' का मामला 47 साल बाद मुंबई पुलिस की क्राइम इंटेलीजेंस यूनिट (सीआईयू) के पास पहुंचा है। 1973 में फिल्म निर्माता प्रकाश मेहरा के प्रोडक्शन-डायरेक्शन में बनी 'जंजीर' में अमिताभ बच्चन के अलावा जया भादुरी, प्राण और अजीत ने मुख्य भूमिकाएं निभाईं थी। मंगलवार को इस फिल्म से जुड़े एक मामले को लेकर क्राइम इंटेलीजेंस यूनिट की टीम ने मुंबई के मलाड इलाके में स्थित बॉक्स सिनेमा के दफ्तर पर छापा मारा और कई जरूरी दस्तावेजों सहित कंपनी के सर्वर को सीज कर दिया। आइए जानते हैं कि क्या है पूरा मामला?

    Amitabh की Zanjeer का मामला क्यों पहुंचा Mumbai Crime Branch के पास, जानें वजह | वनइंडिया हिन्दी
    क्या है पूरा मामला

    क्या है पूरा मामला

    दरअसल ये पूरा मामला फिल्म जंजीर के कॉपीराइट से जुड़ा हुआ है। बीते 7 अक्टूबर 2020 को फिल्म निर्माता प्रकाश मेहरा के बेटे पुनीत प्रकाश मेहरा ने फिल्म जंजीर के कॉपीराइट मामले को लेकर मुंबई के जुहू पुलिस स्टेशन में एक केस दर्ज कराया था। अपनी शिकायत में पुनीत प्रकाश मेहरा ने आरोप लगाया कि फिल्म जंजीर के कॉपीराइट के अधिकार केवल उनके परिवार के पास हैं, लेकिन 12 मार्च 2020 को बिना उनके परिवार की अनुमति लिए बॉक्स सिनेमा चैनल पर यह फिल्म दिखाई गई।

    राजू खान व घनश्याम सूरज गिरी हुए गिरफ्तार

    राजू खान व घनश्याम सूरज गिरी हुए गिरफ्तार

    पुनीत प्रकाश मेहरा की तरफ से केस दर्ज कराए जाने के बाद मुंबई पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई की और राजू खान व घनश्याम सूरज गिरी नाम के दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक इन दोनों लोगों ने ही बॉक्स सिनेमा के मालिक को फिल्म जंजीर का प्रिंट बेचा था। इसके बाद 1 जनवरी 2021 को इस मामले को मुंबई पुलिस की क्राइम इंटेजीजेंस यूनिट को सौंप दिया गया।

    कौन हैं केस में वांटेड

    कौन हैं केस में वांटेड

    इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक, फिल्म जंजीर के कॉपीराइट केस में कई लोग आरोपी हैं, जिन्हें पुलिस ने वांटेड घोषित किया हुआ है। इनमें जोया फिल्म्स के प्रवीण शेख का नाम भी शामिल है। इनके अलावा हजरा फिल्म्स, सोनम फिल्म्स और वीआईपी फिल्म्स के मालिकों को भी पुलिस ने वांटेड घोषित किया हुआ है। यहां गौर करने वाली बात ये है कि बॉक्स सिनेमा के मालिक नारायण शर्मा को पुलिस ने हाल ही में टीआरपी घोटाले में गिरफ्तर किया था और नारायण शर्मा फिलहाल जमानत पर हैं।

    प्रकाश मेहरा के फर्जी दस्तखत का किया इस्तेमाल

    प्रकाश मेहरा के फर्जी दस्तखत का किया इस्तेमाल

    जंजीर फिल्म के कॉपीराइट मामले की जांच कर रहे असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर सचिन वाजे ने जानकारी देते हुए बताया, 'जिन एजेंटों ने फिल्म जंजीर का प्रिंट बेचा, उन्होंने एग्रीमेंट के ऊपर प्रकाश मेहरा के फर्जी दस्तखत का इस्तेमाल किया था। ये लोग इस काम को 1998 से लगातार अंजाम देते हुए आ रहे थे।' आपको बता दें कि फिल्म जंजीर के निर्माता-निर्देशक प्रकाश मेहरा का निधन 2009 में हुआ था।

    ये भी पढ़ें- कौन है मुच्छड़ पानवाला, मुंबई की करोड़पति हस्तियों में होती है गिनती

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Why Case Of Film Zanjeer Reached Mumbai Crime Intelligence Unit After 47 Years.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X