• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

अरुण सिंह कौन हैं और कर्नाटक बीजेपी संकट में उनकी भूमिका क्‍यों है अहम?

|
Google Oneindia News

बेंगलुरु, 17 जून। कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी के अंदर बड़ी उथल-पुथल चल रही हैं। राज्‍य के मुख्‍यमंत्री बीएस युदियुरप्‍पा की कार्यशैली के खिलाफ कई विधायकों ने मोर्चा खोल दिया है और खुलकर खिलाफत कर रहे हैं। इस स्थिति से निपटने के लिए केंद्रीय अलाकमान ने राज्यसभा सांसद अरुण सिंह को कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु तीन दिवसीय मिशन पर भेजा है। राज्यसभा सांसद होने के अलावा, अरुण सिंह को भाजपा ने अन्‍य भी कई दायित्‍व दिया हुआ है। बुधवार से शुरू हुए राज्य के अपने महत्वपूर्ण दौरे के दौरान वह कई भाजपा नेताओं के साथ बंद कमरे में बैठक कर रहे हैं, इसलिए सभी की निगाहें उन पर हैं। आइए जानते हैं आखिर अरुण सिंह कौन है जिनको कर्नाटक की समस्‍या दूर करने की जिम्‍मेदारी सौपी गई है

pic

अरुण सिंह कौन हैं?
अरुण सिंह उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सांसद हैं। वह भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और कर्नाटक और राजस्थान के लिए पार्टी के प्रभारी भी हैं। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) में शामिल होने के बाद संपर्क प्रमुख के साथ काम करते हुए प्रमुखता से उभरे। भाजपा की युवा शाखा भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के नेता बनने के बाद उनका राजनीतिक करियर शुरू हुआ । 1994 से 2004 तक, उन्होंने भाजयुमो के उपाध्यक्ष और राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष के रूप में कार्य किया, इसके अलावा इसके निवेशक प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय संयोजक भी बने।

कर्नाटक संकट के लिए वह कैसे महत्वपूर्ण हैं?
कर्नाटक में बीजेपी के अंदर चल रही समस्‍या और सीएम येदियुरप्‍पा के खिलाफ चल रहे संकट के बीच अरुण सिंह को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का भरोसा है। वो अपने तीन दिवसीय इस दौरे में जमीनी हकीकत और कर्नाटक भाजपा में संकट के बारे में जानकारी देंगे। उनसे कर्नाटक में भाजपा के भीतर चल रही कलह और विरोध के बारे में बात करने की उम्मीद की गई है, साथ ही हाल के उपचुनाव परिणामों का विश्लेषण भी किया जाएगा जिसमें भाजपा बेलगाम में बस परिमार्जन करने में सफल रही।

येदियुरप्‍पा सीएम बने रहेंगे कि नहीं ये अरुण सिंह की रिपोर्ट ही तय करेगी

कोर कमेटी से एक दिन पहले 17 जून यानी आज अरुण सिंह बीजेपी विधायकों से मुलाकात करने वाले हैं । उनसे व्यक्तिगत रूप से मिलने के लिए कम से कम 10 विधायकों को आमंत्रित किया गया है। एक महासचिव और पीएम मोदी और अमित शाह के भरोसेमंद सहयोगी के रूप में, पार्टी आलाकमान को उनकी रिपोर्ट महत्वपूर्ण रहेगी यदि भाजपा बीएस येदियुरप्पा को बदलने का फैसला करती है।

"पार्टी में कोई मतभेद नहीं है"

हालांकि कर्नाटक यात्रा के पहले दिन पत्रकारों से बात करते हुए अरुण सिंह ने कहा कि वह हाल के राजनीतिक घटनाक्रम पर चर्चा करने के लिए राज्य में हैं। अरुण सिंह ने दावा किया कि "पार्टी में कोई मतभेद नहीं है" और सभी राज्य भाजपा नेता "एक साथ" हैं। उन्‍होंने कहा मैं यहां राजनीतिक विकास को समझने के लिए हूं और हम इसे सुधारने की कोशिश करेंगे। सरकार, मुख्यमंत्री और मंत्रियों ने महामारी के दौरान लोगों के लिए काम किया है। कांग्रेस नेता बना रहे थे झूठे आरोप और जद (एस) आइसोलेशन में था। यह केवल सीएम येदियुरप्पा थे जिन्होंने संकट को हल किया। हमारे नेता एक साथ हैं और कोई फर्क नहीं पड़ता। अगर किसी को कोई समस्या है, तो उन्हें आने दें और मुझसे बात करें।

अरुण सिंह बोले- कर्नाटक में नेतृत्‍व को लेकर मैंने बात नहीं की,2-3 विधायक हैं जो पार्टी की छवि खराब कर रहे हैंअरुण सिंह बोले- कर्नाटक में नेतृत्‍व को लेकर मैंने बात नहीं की,2-3 विधायक हैं जो पार्टी की छवि खराब कर रहे हैं

युदियुरप्‍पा के खेमे में हैं कांग्रेस से भाजपा में आए बागी विधायक

कांग्रेस के दलबदलू जिन्होंने राज्य में पार्टी को सत्ता हासिल करने में मदद की थी और वर्तमान कैबिनेट में मंत्री हैं, बुधवार को अरुण सिंह के बेंगलुरु आते ही उनमें हडकंप मच गया। इसमें एसटी सोमशेखर, बिरती बसवराज, बीसी पाटिल, के सुधाकर और आनंद सिंह शामिल हैं। इन सभी विधायकों ने सीएम येदियुरप्पा के साथ खड़े होने का फैसला किया है। बता दें यदि पार्टी आलाकमान उन्हें हटाने का फैसला करती क्योंकि उन्हें डर है कि एक नए नेतृत्व के तहत उनके विभागों को छीन लिया जाएगा। सूत्रों ने कहा कि ये मंत्री येदियुरप्पा के वादे पर भाजपा में शामिल हुए और इसलिए उनके साथ खड़े हैं।

https://hindi.oneindia.com/photos/delhi-heavy-rains-weather-update-news-oi62989.html

English summary
Who is Arun Singh and why is his role in the Karnataka BJP crisis important?
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X