• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जब मुकेश अंबानी ने ट्रंप को बताया, Jio में नहीं इस्तेमाल हुआ एक भी चाइनीज पुर्जा

|

नई दिल्ली- अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी भारत यात्रा के आखिरी दिन भारतीय कंपनियों के सीईओ से मुलाकात की और उनसे अपने यहां निवेश को लेकर विस्तार से बात की। इस दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी भी मौजूद थे। इस मौके पर ट्रंप ने भारतीय बिजनेस लीडर्स से कहा कि आप लोगों ने अमेरिका में कितना निवेश किया, मेरी उसपर नजर रहती है। हालांकि, इस बातचीत में ट्रंप और मुकेश अंबानी के बीच की बातचीत काफी दिलचस्प रही और अंबानी की बातें सुनकर ट्रंप काफी उत्साहित नजर आए। खासकर जब अंबानी ने ट्रंप से ये कह दिया कि उनके जियो में नहीं हुआ कोई चाइनीज पुर्जे का इस्तेमाल तो ट्रंप पूरी से चकित ही रह गए और अंबानी की काफी तारीफ भी की।

आपने बहुत बढ़िया काम किया है- अंबानी से बोले ट्रंप

आपने बहुत बढ़िया काम किया है- अंबानी से बोले ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत के टेलिकॉम सेक्टर में बड़े बदलाव और अमेरिका में ऊर्जा क्षेत्र में रणनीतिक निवेश के लिए मुकेश अंबानी की काफी सराहना की है। ट्रंप ने अंबानी को टैक्स-फ्रेंडली देश में और निवेश करने के लिए भी आमंत्रित किया। अमेरिकी दूतावास में सीईओ के साथ चर्चा के दौरान जब अंबानी ने उन्हें भारत और अमेरिका में रिलायंस इ़ंडस्ट्रीज के निवेश के बारे में जानकारी दी तो ट्रंप बोले, 'आपने बहुत बढ़िया काम किया है। धन्यवाद।' दरअसल, अंबानी ने ट्रंप को बताया कि 'हम अमेरिका में ऊर्जा क्षेत्र के निवेशक हैं और उस क्षेत्र में 7 अरब डॉलर का निवेश किया है। ' अंबानी के इतना बोलते ही ट्रंप ने फौरन जवाब दिया, '7 अरब डॉलर, हां, यह बहुत बड़ा है।'

जब अंबानी की बात सुनकर चौंक गए ट्रंप

जब अंबानी की बात सुनकर चौंक गए ट्रंप

अंबानी की बातों से ट्रंप की दिलचस्पी बढ़ी और उन्होंने उनसे पूछ लिया, 'आप 4जी में बढ़िया काम कर रहे हैं। क्या आप 5जी में भी काम करने जा रहे हैं?' इस पर मुकेश अंबानी ने ट्रंप से कहा कि रिलायंस जियो ही दुनिया में एकमात्र ऐसा नेटवर्क है, जिसने 5जी ट्रायल के लिए एक भी चाइनीज पुर्जे का इस्तेमाल नहीं किया है। यह सुनकर ट्रंप दंग रह गए। उन्होंने कहा, 'यह अच्छा है! एक में बोली लगाइए।' बता दें कि भारत की बड़ी टेलिकॉम ऑपरेटर रिलायंस जियो ने सिर्फ गैर-चाइनीज उपकरण निर्माताओं से पार्टनरशिप की है, जिसमें सैमसंग जैसी टेलिकॉम उपकरण निर्माता कंपनियां शामिल हैं। बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति सोमवार को ही भारत के दो दिवसीय दौरे पर आए थे और भारतीय बिजनेस लीडर्स के साथ उनकी मुलाकात उनके भारत सरकार के साथ द्विपक्षीय चर्चा के बाद आयोजित की गई थी।

ट्रंप ने जताई फिर से राष्ट्रपति बनने की उम्मीद

ट्रंप ने जताई फिर से राष्ट्रपति बनने की उम्मीद

इस दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन ने ट्रंप को उनकी लीडरशिप के लिए भी शुक्रिया अदा किया। उनके मुताबिक ट्रंप के रहते भारतीय कंपनियों को अमेरिका में बिजनेस करना ज्यादा आसान हुआ है। तमाम प्रक्रियाएं तेज और आसान हो गई हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि यह प्रक्रिया आगे भी जारी रहेगी। हालांकि, इसपर ट्रंप ने कहा कि जरूर, लेकिन इसके लिए मुझे अमेरिका का राष्ट्रपति बने रहना होगा। यहां उन्होंने अपनी जीत की भी उम्मीद जताई। उन्होंने यह भी कहा कि अगर कोई गलत आदमी चुन लिया गया तो यह सब नहीं हो पाएगा। सब कुछ रुक जाएगा। बेरोजगारी दर 8 या 9 या 10 फीसदी तक पहुंच जाएगी, बहुत कुछ गड़बड़ हो जाएगा। डोनाल्ड ट्रंप अपने साथ अपने भारी-भरकम प्रतिनिधिमंडल लेकर भारत आए हैं और मंगलवार रात में ही उनकी स्वदेश वापसी होनी है।

इसे भी पढ़ें- ताजमहल देख थैंक्यू इंडिया कहने वाले डोनाल्ड ट्रंप भी थे एक 'ताजमहल' के मालिक, जानिए फिर क्या हुआ ?इसे भी पढ़ें- ताजमहल देख थैंक्यू इंडिया कहने वाले डोनाल्ड ट्रंप भी थे एक 'ताजमहल' के मालिक, जानिए फिर क्या हुआ ?

English summary
When Mukesh Ambani told Trump, not a single Chinese part used in Jio
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X