• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

जब ड्राइवर ने कोरोना मृतक का शव ले जाने से किया इनकार तो खुद डॉक्टर ने चलाई गाड़ी

|

नई दिल्ली। पूरा देश इस वक्त कोरोना महामारी से लड़ रहा है। डॉक्टर, नर्स, हेल्थ वर्कर्स और तमाम फ्रंट लाइन वर्कर्स अपनी जान की परवाह किए बगैर दिन-रात कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। देश में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में तमाम फ्रंट लाइन वर्कर्स की जान तक जा चुकी है, लेकिन बावजूद इसके ये फ्रंटलाइन वर्कर्स अपनी जा की परवाह किए बगैर कोरोना के खिलाफ मैदान में डटे हुए हैं। तेलंगाना में एक ऐसा मामला सामने आया है, जब कोरोना मरीज की मौत हो गई। मरीज की मौत के शव को अंतिम संस्कार के लिए ले जाने से ड्राइवर ने मना कर दिया। ड्राइवर के ऐसा करने से मना करने के बाद खुद डॉक्टर ने गाड़ी चलाकर शव को लेकर निकल पड़े।

    Telangana: Coronavirus से हुई मौत, खुद ट्रैक्टर चलाकर शव को श्मशान ले गया Doctor | वनइंडिया हिंदी

    doctor

    दरअसल तेलंगाना के पेडापल्ली जिले में एक कोरोना मरीज की मौत हो गई थी। मरीज के बाद जब उसके शव को अंतिम संस्कार के लिए भेजे जाने के लिए ट्रैक्टर में रखा गया तो ड्राइवर ने गाड़ी चलाने से मना कर दिया। ड्राइवर के गाड़ी चलाने से इनकार करने के बाद खुद डिस्ट्रिक्ट सर्विलांस ऑफिसर डॉक्टरर श्रीराम ट्रैक्टर की ड्राइवर सीट पर बैठ गए और शसव को अंतिम संस्कार के लिए लेकर चल पड़े। डॉक्टर श्रीराम के इस जज्बे को हर कोई सलाम कर रहा है। इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है जोकि सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है।

    बता दें कि इससे पहले तेलंगाना के निजामाबाद में एक घटना सामने आई थी जहां कोरोना मृतक के शव को ऑटोरिक्शा पर लादकर ले जाया जा रहा था। 50 वर्षीय कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मौत के बाद उसके शव को परिजनों को सौंप दिया गया। परिजनों को एंबुलेंस तक मुहैया नहीं कराई गई और अंतिम संस्कार के लिए शव को ऐसे ही परिजनों के हवाले कर दिया गया। जिसके बाद परिजन शव को ऑटोरिक्शा में अंतिम संस्काार के लिए लेकर गए। निजामाबाद सरकारी अस्पताल के सुप्रिटेंडेंट डॉक्टर नागेश्वर राव का कहना है कि मृतक के परिजन अस्पताल में काम करते हैं और शव को उनकी अपील के बाद उनके सुपुर्द किया गया था। डॉक्टर राव ने बताया कि रिश्तेदार शव को ऑटोरिक्शा में लेकर गए। इस दौरान अस्पताल में ही काम करने वाले व्यक्ति ने उनकी मदद की और शव को ऑटो रिक्शा में रखा और ले गए, इन लोगों ने एंबुलेंस का इंतजार नहीं किया।

    इसे भी पढ़ें- सारा अली खान का ड्राइवर निकला कोरोना पॉजिटिव , एक्ट्रेस के परिवार का भी हुआ टेस्ट

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    When doctor himself drove the tractor with covid-19 dead body for cremation.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X