• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पाकिस्तान के उर्दू अख़बारों में भारत के कोरोना संकट पर क्या छप रहा?

By BBC News हिन्दी

कोरोना से बचने की कोशिश
Getty Images
कोरोना से बचने की कोशिश

पाकिस्तान से छपने वाले उर्दू अख़बारों में इस हफ़्ते कोरोना के अलावा फ़्रांस के राजदूत को देश से वापस भेजे जाने का मुद्दा सबसे ज़्यादा सुर्ख़ियों में रहा. सबसे पहले बात कोरोना की. पाकिस्तान में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार की गाइडलाइन्स को पूरी तरह लागू करने के लिए सेना की मदद लेने का फ़ैसला किया गया है. अख़बार एक्सप्रेस के अनुसार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने शुक्रवार को राष्ट्रीय राब्ता कमिटी के साथ बैठक करने के बाद कहा कि "देश में कोरोना के मामले तेज़ी से बढ़ते जा रहे हैं लेकिन अफ़सोस की बात है कि कोई भी नेशनल कमांड एंड ऑपरेशन सेंटर (एनसीओसी) के दिशा-निर्देशों का पालन नहीं कर रहा है, इसलिए हमने पुलिस और रेंजर्स के अलावा सेना से भी कहा है कि वो सड़कों पर आएं और कोरोना की गाइडलाइन्स पर अमल करवाएं."

इमरान ख़ान ने कहा कि वो नहीं चाहते कि लॉकडाउन लागू किया जाए क्योंकि इससे देश की अर्थव्यवस्था को तो नुक़सान होता ही है लेकिन सबसे ज़्यादा परेशानी ग़रीबों और रोज़ाना मज़दूरी करके कमाने वालों को होती है. इमरान ख़ान ने कहा कि अगर लोगों ने कोरोना गाइडलाइन्स का पालन नहीं किया तो मजबूरन उन्हें पूर्ण लॉकडाउन लगाना पड़ेगा.

कोरोना टेस्ट
Getty Images
कोरोना टेस्ट

एनसीओसी के अनुसार पिछले 24 घंटों में पाकिस्तान में संक्रमण के 5870 नए मामले सामने आए और 144 लोगों की मौत हुई. पाकिस्तान में अब तक सात लाख 84 हज़ार संक्रमित हो चुके हैं जिनमें इस वक़्त 84 हज़ार से ज़्यादा एक्टिव केस हैं.

भारत में कोरोना के बढ़ते मामलों पर पाकिस्तान में चिंता

इस हफ़्ते पाकिस्तानी मीडिया में भारत में कोरोना के बिगड़ते हालात पर भी ख़ूब चर्चा हुई. अख़बार उम्मत ने ब्रितानी अख़बार डेली मेल की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए लिखा है कि भारत में मई के पहले हफ़्ते में रोज़ाना पाँच लाख से ज़्यादा संक्रमण के मामले आएंगे और क़रीब 5700 लोगों की रोज़ाना मौत होगी.

मरीज़
Reuters
मरीज़

शनिवार को भारत में 3,46,786 नए मामले आए और 2624 लोगों की मौत हुई. अख़बार के अनुसार मोदी सरकार कोरोना के आँकड़ों को छुपा रही है और मरने वालों की संख्या 10 गुना ज़्यादा हो सकती है. भारत में पिछले तीन दिनों से रोज़ाना तीन लाख से ज़्यादा नए मामले आ रहे हैं और दो हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हो रही है. इस पर पाकिस्तान में ने केवल लोग चिंता जता रहे हैं बल्कि वहां से लोग मदद की भी पेशकश कर रहे हैं. अख़बार जंग के अनुसार पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने कहा कि इस्लामाबाद स्थित भारतीय उच्चायुक्त को विदेश मंत्रालय के दफ़्तर में बुलाकर आधिकारिक रूप से उन्हें पाकिस्तान की तरफ़ से मानवीय आधार पर भारत को मदद की पेशकश की गई.

क़ुरैशी ने कहा कि वो भारत के जवाब का इंतज़ार कर रहे हैं. उनका कहना था, "हम भारत को वेंटिलेटर, एक्स-रे मशीन, बाईपैप, मास्क और हमसे जो हो पाएगा वो मदद करेंगे. और इसे वाघा बॉर्डर के ज़रिए भारत भेजा जा सकता है."

इमरान ख़ान
Reuters
इमरान ख़ान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने भी ट्वीट कर भारत के लोगों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त कीं और कहा कि मानवता के सामने इस वैश्विक चुनौती का मिलकर सामना करना होगा.

https://twitter.com/ImranKhanPTI/status/1385864226925842433

पाकिस्तान के कई फ़िल्म स्टार और खिलाड़ियों समेत आम लोगों ने भी भारत के लिए दुख की इस घड़ी में साथ खड़े रहने का संदेश भेजा है. अख़बार एक्सप्रेस के अनुसार गायक और एक्टर अली ज़फ़र ने कहा है, "इस मुश्किल वक़्त में हम भारतीयों के साथ हैं क्योंकि इंसानियत से बड़ा कोई मज़हब नहीं." पूर्व क्रिकेटर शोएब अख़्तर ने भी एक वीडियो जारी कर भारत के साथ हमदर्दी जताई है. फ़्रांस के राजदूत को निकालने पर बहस को लेकर संसद में हंगामा

पाकिस्तान में हिंसा
EPA
पाकिस्तान में हिंसा

फ़्रांस से रिश्ता ख़त्म करने और फ़्रांस के राजदूत को पाकिस्तान से निकालने के मुद्दे पर पिछले हफ़्ते काफ़ी हिंसा हुई थी. ईश निंदा विरोधी गुट तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) ने धमकी दी थी कि अगर पाकिस्तानी सरकार ने फ़्रांस के राजदूत को देश से निकालने की उनकी माँग पूरी नहीं की तो वो पूरे पाकिस्तान को बंद कर देंगे. इमरान ख़ान की सरकार ने इससे निपटने के लिए संगठन पर पाबंदी लगी दी और संगठन के प्रमुख साद रिज़वी को गिरफ़्तार कर लिया.

पाकिस्तान में हिंसा
EPA
पाकिस्तान में हिंसा

इससे पाकिस्तान के कई शहरों में हिंसा भड़क गई और आख़िरकार 20 अप्रैल को सरकार ने संसद में फ़्रांस के राजदूत को बाहर निकालने का प्रस्ताव पेश किया. सरकार ने जो प्रस्ताव पेश किया था उसमें कहा गया था कि फ्रांसीसी राजदूत को देश से बाहर भेजने के मुद्दे पर संसद में बहस होगी. शुक्रवार को इस मसले पर संसद में बहस होनी थी लेकिन बहस नहीं हो सकी और विपक्ष के भारी हंगामे के बीच सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई.

पाकिस्तान में हिंसा
EPA
पाकिस्तान में हिंसा

यह बहस शुक्रवार को होनी थी लेकिन शुक्रवार को कार्यवाही शुरू होते ही डिप्टी स्पीकर ने कहा कि पहले प्रश्नकाल होगा उसके बाद सदस्यों को इस पर बोलने का मौक़ा दिया जाएगा. लेकिन विपक्षी सांसदों ने बात नहीं मानी और वो वेल में आकर हंगामा करने लगे. सत्ताधारी पाकिस्तानी तहरीक-ए-इंसाफ़ के कई सांसद भी ईश निंदा को लेकर नारेबाज़ी कर रहे थे और फ़्रांस के राजदूत को देश से निकाले जाने की माँग कर रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

ब्राजील की तरह ही कोरोना से कराह रहा है भारत, बार बार मिली चेतावनी लेकिन बने रहे शुतुरमुर्ग

BBC Hindi
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The newspaper Ummat has written that the Modi government is hiding the figures of Corona and the death toll could be 10 times more.
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X