• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

बाबरी विध्वंस पर फैसला: बरी होने के बाद आडवाणी ने रामजन्मभूमि आंदोलन पर क्या कहा

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली- भारतीय जनता पार्टी के बुजुर्ग नेता और पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी ने 1992 के बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में स्पेशल कोर्ट के फैसले का तहे-दिल से स्वागत किया है। उन्होंने कहा है कि लखनऊ की सीबीआई स्पेशल कोर्ट का यह फैसला रामजन्मभूमि आंदोलन को लेकर उनके व्यक्तिगत और भाजपा की आस्था और प्रतिबद्धता को दिखाता है। अयोध्या में 6 दिसंबर, 1992 को बाबरी मस्जिद गिरा दी गई थी और उसी दिन दायर हुए दो एफआईआर में से दूसरे में भाजपा, आरएसएस, विश्व हिंदू परिषद के 8 वरिष्ठ नेताओं को नामजद अभियुक्त बनाया गया था, जिनमें से पहला बड़ा नाम लालकृष्ण आडवाणी का था।

    Babri Demolition Case में सभी आरोपी बरी, जानिए Lal Krishan Advani ने क्या कहा? | वनइंडिया हिंदी

    What LK Advani said on Ram Janmabhoomi movement after being acquitted in Babri demolition case

    भाजपा के वरिष्ठ नेता और पार्टी के मार्गदर्शक मंडल के सदस्य लालकृष्ण आडवाणी ने अयोध्या की बाबरी मस्जिद विध्वंस केस में आज आए सीबीआई की विशेष अदालत के फैसले पर अत्यधिक खुशी जाहिर की है। उन्होंने कहा है, 'बाबरी विध्वंस केस में स्पेशल कोर्ट के फैसले का मैं पूरे हृदय से स्वागत करता हूं। यह फैसला मेरे व्यक्ति और बीजेपी की राम जन्मभूमि आंदोलन के प्रति आस्था और प्रतिबद्धता को दिखाता है।' गौरतलब है कि स्पेशल कोर्ट के जज सुरेंद्र कुमार यादव ने आज सुनाए गए 28 साल पुराने इस केस में आडवाणी समेत सभी 32 जीवित आरोपियों को बरी कर दिया है। आडवाणी समेत बाकी वरिष्ठ नेताओं पर बाबरी मस्जिद विध्वंस के दौरान करीब 200 मीटर दूर रामकथा पार्क स्थित मंच से भड़काऊ भाषण देने का आरोप था। बाद में उनके अलावा बाकी नेताओं पर सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर आपराधिक षड़यंत्र की भी धारा लगाई गई थी। लेकिन, आखिरकार सीबीआई की विशेष अदालत ने फैसला दिया कि मस्जिद गिराने की घटना पूर्वनियोजित नहीं थी।

    गौरतलब है कि इस केस में एलके आडवाणी को एक बार रायबरेली कोर्ट ने भी पुख्ता सबूतों के अभाव में बरी कर दिया था। लेकिन, 2005 में इलाहाबाद हाइकोर्ट ने रायबरेली कोर्ट के फैसले को पलट दिया था और आदेश दिया था कि आडवाणी और अन्यों के खिलाफ केस चलते रहेंगे।

    गौरलतब कि लखनऊ स्थित सीबीआई की विशेष अदालत ने 6 दिसंबर, 1992 को अयोध्या में विवादित बाबरी मस्जिद ढांचा को गिराने के केस में सभी 32 आरोपियों को बरी कर दिया। स्पेशल सीबीआई जज सुरेंद्र कुमार यादव ने अपने फैसले में साफ कहा है कि उस दिन की घटना पूर्वनियोजित नहीं थी और भीड़ ने अनियंत्रित होकर बाबरी ढांचे को गिरा दिया था।

    इसे भी पढ़ें- बाबरी केस में फैसला सुनाते समय विशेष सीबीआई जज ने क्या-क्या कहाइसे भी पढ़ें- बाबरी केस में फैसला सुनाते समय विशेष सीबीआई जज ने क्या-क्या कहा

    English summary
    What LK Advani said on Ram Janmabhoomi movement after being acquitted in Babri demolition case
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X