• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कठुआ रेप-मर्डर केस में सांजी राम समेत 6 आरोपी दोषी करार, 1 बरी, जानिए अहम बातें

|
    Kathua Case : Sanjhi Ram समेत 6 आरोपी दोषी करार, नाबालिक विशाल बरी | वनइंडिया हिंदी

    नई दिल्ली। देश को झकझोर कर रख देने वाले कठुआ गैंगरेप और मर्डर केस में पठानकोट सेशन कोर्ट ने तीन दोषियों दीपक खजुरिया, सांजी राम और परवेश कुमार को उम्रकैद की सजा सुनाई हैं। इन पर कोर्ट ने एक-एक लाख का जुर्माना भी लगाया है, वहीं, सबूतों से छेड़छाड़ करने वाले तीन अन्य दोषी पुलिसकर्मियों को कोर्ट ने 5 साल की सजा दी है। इन तीनों पर 50-50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। इससे पहले सोमवार सुबह सुनवाई के दौरान कोर्ट ने 7 में से 6 आरोपियों को दोषी करार दिया था, जबकि 1 आरोपी को बरी कर दिया गया है।

    जानिए इस केस से जुड़ी बेहद अहम बातें

    बच्ची को अगवा करके किया रेप फिर मर्डर

    15 पन्नों के आरोपपत्र में पिछले साल 10 जनवरी को अगवा की गयी आठ साल की बच्ची को कठुआ जिले के एक गांव के मंदिर में बंधक बनाकर उसके साथ दुष्कर्म किया गया था, उसे चार दिन तक बेहोश रखा गया और बाद में उसकी हत्या कर दी गई थी।

    54 गवाहों को कोर्ट में पेश किया जा चुका है

    54 गवाहों को कोर्ट में पेश किया जा चुका है

    • कठुआ गैंगरेप मामले को लेकर एक वकील ने बताया है कि पीड़िता का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर ने कोर्ट को बताया है कि बच्ची का यौन शोषण हुआ था और उसकी मौत दम घुटने से हुई थी।
    • 8 साल की बच्ची से गैंगरेप करने और फिर उसकी हत्या करने के मामले की सुनवाई में 54 गवाहों को कोर्ट में पेश किया जा चुका है।
    • पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर की भी गवाही हुई है।
    • इस मामले को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद पठानकोर्ट स्थानांतरित कर दिया गया था।
    • सातों आरोपियों के खिलाफ बलात्कार और हत्या का चार्ज

      सातों आरोपियों के खिलाफ बलात्कार और हत्या का चार्ज

      • जिला और सत्र अदालत ने इस केस के सातों आरोपियों के खिलाफ बलात्कार और हत्या का चार्ज लगाया है।
      • क्राइम ब्रांच ने संजी राम, जो कि मंदिर का संरक्षक है, और उसके बेटे विशाल और नाबालिग भतीजे के खिलाफ आरोप लगाए हैं क्योंकि ये घृणित काम मंदिर में हुआ था।
      • किशोर आरोपी के खिलाफ मुकदमा अभी शुरू नहीं हुआ

        किशोर आरोपी के खिलाफ मुकदमा अभी शुरू नहीं हुआ

        इस मामले में दो विशेष पुलिस अधिकारियों दीपक खजुरिया और सुरेंद्र वर्मा को भी गिरफ्तार किया गया था, जिन्हें कोर्ट ने एक-एक लाख का जुर्माना भी लगाया है, वहीं, सबूतों से छेड़छाड़ करने वाले तीन अन्य दोषी पुलिसकर्मियों को कोर्ट ने 5 साल की सजा दी है।

    यह पढ़ें:'बेटी गुड़िया हम शर्मिंदा हैं, इंसानियत के दुश्मन तेरे कातिल अभी जिंदा हैं'

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    The verdict in the rape-and-murder case of an eight-year-old nomadic girl in Jammu and Kashmir's Kathua will be delivered by a special court in Pathankot today.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X