• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

वरुण गांधी ने कहा- भारत अकेला देश है जो चीन से नजरें मिलाकर जवाब देने में सक्षम है

|

नई दिल्ली। पिछले कई महीनों से पूर्वी लद्वाख सीमा पर लगातार घुसपैठ करने वाले चीन को भारत एक बाद एक मुंह तोड़ जवाब दे रहा है। वहीं अब भाजपा नेता वरुण गांधी ने कहा कि भारत ही एकमात्र देश है जो सीमा पर अपने सैनिकों की बदौलत चीन से नजरें मिलाकर उसे घूर सकाह हैं। गुरुवार को वरुण गांधी ने कहा कि भारत ही केवल ऐसा देश है जो चीन को घूरने में सक्षम है और चीन को अपने शक्तिशाली पड़ोसी को उकसाने की रणनीतिक भूल का अहसास करने के लिए मजबूर किया है।

varun
पीटीआई के साथ एक साक्षात्कार में, पीलीभीत (उत्तर प्रदेश) के भाजपा के सांसद वरुण गांधी ने ये भी कहा कि वर्षों के संघर्ष के बाद अयोध्या में राम मंदिर बनते देखना यह भगवान हनुमान के भक्त के रूप में उनके लिए यह एक सपना सच में सकार होने जैसा है। वरुण गांधी ने 5 अगस्त को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राम मंदिर भूमिपूजन को देश के स्वतंत्रता दिवस के साथ जोड़ते हुए कहा कि "अगस्त 1947 में भारत ने एक बार नियति के साथ मंदिर की आधारशिला रखी, गांधी ने कहा, "अगस्त 1947 में भारत ने एक बार नियति के साथ प्रयास किया था। अब हमारे देश का पुनर्जागरण हुआ हे यह नए सिरे से जाग गया है, अपनी सभ्यता के साथ फिर से जुड़ता दिख रहा है।
राम जन्मभूमि मंदिर की नींव रखना मेरे लिए एक सपना सच होने जैसा

राम जन्मभूमि मंदिर की नींव रखना मेरे लिए एक सपना सच होने जैसा

वरुण गांधी ने कहा कि अयोध्या विवाद का एक सफल संकल्प भारत की शासन प्रणाली, लोकतंत्र और न्यायपालिका की बानगी है, साथ ही ये हमारे देश में विभिन्न पंथों और धर्मों के लोगों के बीच एक उल्लेखनीय समानता को दर्शाता है। 40 वर्षीय नेता ने कहा, हनुमानजी के भक्त के रूप में, राम जन्मभूमि मंदिर की नींव रखना मेरे लिए एक सपना सच होने जैसा है। उन्होंने कहा, "भगवान राम सिर्फ हिंदुओं के लिए नहीं हैं, वे भारतीय सभ्‍यता के प्रतीक हैं।"

भारत के पास दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे अनुभवी सेना है

भारत के पास दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे अनुभवी सेना है

LAC में भारत और चीन के बीच हालिया गतिरोध पर, गांधी ने कहा कि चीन हाल के दिनों में अपने अधिकांश सीमा क्षेत्रों में आक्रामकता दिखाई है और दक्षिण चीन सागर, सेंकाकू द्वीप, ताइवान और तिब्बत में तनाव है लेकिन "भारत एकमात्र ऐसा देश है जो अपनी सीमा के सैनिकों का उपयोग करते हुए, चीन को घूरने में सक्षम है।" वरुण गांधी ने कहा कि कई नीति टिप्पणीकार चीन की सशस्त्र ताकत के बारे में आशंका जताते हैं, लेकिन अक्सर यह भूल जाते हैं कि भारत के पास दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे अनुभवी पर्वतीय लड़ाई लड़ सकने वाले सैनिक हैं।

भारत जैसे आर्थिक महाशक्ति को खोना चीन को महंगा पड़ेगा

भारत जैसे आर्थिक महाशक्ति को खोना चीन को महंगा पड़ेगा

15 जून को गालवान घाटी में भारत के सैनिकों की शहादत को "वीरतापूर्ण क्षण" बताते हुए, भाजपा नेता ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि पीएम नरेन्‍द्र मोदी भारत के रक्षा बलों को सशक्त बनाने पर जोर देने के साथ पूरी रणनीतिक भावमुद्रा में बदलाव हमें लंबे समय के लिए सक्षम बनाएंगे। उन्‍होंने कहा कि वे भारत को उकसाने में लगे हुए हैं लेकिन भारत चीन को उसकी रणनीतिक गलती का एहसास करने के लिए और मजबूर करेंगा। गांधी ने कहा कि एक सहयोगी के रूप में भारत जैसे आर्थिक महाशक्ति को खोना चीन को महंगा पड़ेगा।

गांधी ने कहा- कमजोर नेता ऐसा करने में सक्षम नहीं होगा

गांधी ने कहा- कमजोर नेता ऐसा करने में सक्षम नहीं होगा

29 साल की उम्र में पहली बार सांसद बनने वाले भाजपा नेता ने COVID-19 महामारी के संकट से निपटने में पीएम मोदी के प्रयासों की सराहना की। गांधी ने कहा कि पीएम मोदी के मजबूत प्रतिनिधित्‍व के लिहाज से पहले से देश मजबूत स्थिति में हैं। उन्‍होंने कहा कि यह मोदी जी के मजबूत नेतृत्व और दूरदृष्टि की ही एक सफलता के दम पर ही उन्‍होंने देश में सख्‍त लॉकडाउन लागू किया। गांधी ने कहा कि एक कमजोर नेता ऐसा करने में सक्षम नहीं होगा।

यह सब

यह सब "लेजर माइंडेड फोकस" के बिना संभव नहीं

वरुण गांधी ने कहा कि सरकार ने स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए लॉकडाउन अवधि का प्रभावी ढंग से उपयोग किया, जिसके कारण देश में अब प्रति दिन 10 लाख की परीक्षण क्षमता है और यह एक शुद्ध निर्यातक को पीपीई किट के आयातक बनने से बदल गया है। मोदी सरकार द्वारा उठाए गए विभिन्न नीतिगत उपायों ने भी कोविड 19 की रिकवरी दर को बेहतर बनाने में मदद की है, गांधी ने कहा कि यह सब मोदी सरकार के "लेजर माइंडेड फोकस" के बिना संभव नहीं होगा। उन्होंने आगे कहा कि आर्थिक मोर्चे पर महामारी से निपटने के लिए देश अब बहुत मजबूत स्थिति में है। उन्होंने कहा, '' किसी भी संकट को व्यर्थ नहीं जाने देना दिया। सरकार ने पूर्ण उदारीकरण को आगे बढ़ाया। कमजोर सार्वजनिक उपक्रमों बेच दिया गया या निजीकरण कर दिया गया।

आयुध कारखानों को दशकों तक सरकारी विभागों की तरह चलाया जाता रहा: पीएम मोदी

WHO ने कहा- कोरोना महामारी लाखों लोगों के मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित कर रही

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Varun Gandhi said- India is the only country which is able to stare down China
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X