• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

वाराणसी की Flt Lt शिवांगी सिंह उड़ाएंगी राफेल जेट, विंग कमांडर अभिनंदन के साथ उड़ा चुकी हैं मिग

|

अंबाला। हरियाणा के अंबाला स्थित राफेल की 17 गोल्‍डन एरो स्‍क्‍वाड्रन को पहली महिला पायलट मिल गई है। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी सिंह, इंडियन एयरफोर्स (आईएएफ) की पहली महिला पायलट हैं जिन्‍होंने राफेल की अंबाला स्थित स्‍क्‍वाड्रन को ज्‍वॉइन करने की तैयारी कर ली है। फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी सिंह जल्‍द ही अंबाला में अपनी ड्यूटी ज्‍वॉइन कर लेंगी। वह फिलहाल अंबाला पहुंच चुकी हैं। दो दिन पहले ही खबर आई थी कि राफेल की अंबाला स्थित स्‍क्‍वाड्रन को जल्‍द ही पहली महिला फाइटर मिलने वाली है।

यह भी पढ़ें-लद्दाख में चीन बॉर्डर के करीब उड़ान भर रहे हैं राफेल

साल 2017 में मिला कमीशन

साल 2017 में मिला कमीशन

फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी सिंह साल 2017 में आईएएफ के उस दूसरे महिला पायलट के बैच का हिस्‍सा थीं जिसे फाइटर पायलट के तौर पर कमीशन हासिल हुआ था। वाराणसी की रहने वाली फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी इस समय ट्रेनिंग प्रक्रिया से गुजर रही हैं और कुछ ही दिनों में वह गोल्‍डन एरो स्‍क्‍वाड्रन से औपचारिक तौर पर जुड़ जाएंगी। आपको बता दें कि साल 2016 में आईएएफ में पहली बार फाइटर पायलट के तौर पर महिलाओं को कमीशन मिला था। फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी अंबाला से पहले राजस्‍थान में पाकिस्‍तान बॉर्डर से सटे एयरबेस पर तैनात थी।

IAF के बेस्‍ट पायलट के साथ उड़ाया मिग

IAF के बेस्‍ट पायलट के साथ उड़ाया मिग

कमीशन हासिल करने के बाद से ही फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी मिग-21 बाइसन को उड़ा रही हैं। वह जिस एयरबेस से ट्रांसफर होकर अंबाला आई हैं, वहां पर ही विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान भी पोस्‍टेड हैं। फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी आईएएफ के बेस्‍ट फाइटर पायलट अभिनंदन के साथ मिग को उड़ा चुकी हैं। विंग कमांडर अभिनंदन ने ही 27 फरवरी 2019 को लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर पाकिस्‍तान के फाइटर जेट एफ-16 को ढेर किया था। इसके बाद वह पाकिस्‍तान में जा गिरे थे और पाक ने उन्‍हें बंदी बना लिया था।

हमेशा से पायलट बनना था सपना

हमेशा से पायलट बनना था सपना

फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी हमेशा से ही एक पायलट बनने का सपना देखा करती थीं। स्‍कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्‍होंने प्रतिष्ठित बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी(बीएचयू) में एडमिशन लिया था। यहां पर वह नेशनल कैडेट कोर यानी एनसीसी के साथ जुड़ी और 7 यूपी एयर स्‍क्‍वाड्रन का हिस्‍सा बन गईं। इसके बाद वह साल 2016 में एयरफोर्स एकेडमी में ट्रेनिंग के लिए पहुंची थीं। जहां फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी आईएएफ के सबसे पुराने फाइटर जेट मिग-21 बाइसन को उड़ा चुकी हैं तो वह इसके सबसे नए फाइटर जेट राफेल को भी उड़ा सकेंगी। उनकी कोर्समेट और एक और फाइटर पायलट फ्लाइट लेफ्टिनेंट प्रतिभा इस समय सुखोई-30 एमकेआई को उड़ा रही हैं।

IAF में 10 महिला फाइटर पायलट

IAF में 10 महिला फाइटर पायलट

साल 2016 में आईएएफ में पहली बार तीन महिला पायलट को शामिल किया गया था। फ्लाइट लेफ्टिनेंट अवनि चतुर्वेदी, फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कंठ और फ्लाइट लेफ्टिनेंट मोहना सिंह को बतौर फाइटर पायलट कमीशन दिया गया था। आईएएफ में इस समय 10 महिला फाइटर हैं। ये पायलट सुखोई-30 जेट से लेकर मिग-29 यूपीजी तक को उड़ा रही हैं। आईएएफ में इस समय 4,231 पायलट हैं और 300 पायलट की कमी से वायुसेना जूझ रही है। चार हजार से ज्‍यादा पायलट फाइटर जेट्स के अलावा ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट और हेलीकॉप्‍टर तक उड़ाते हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Varanasi's Flt Lt Shivangi Singh first woman pilot joins Rafale jet Golden Arrow Squadron.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X