• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

वंदे भारत मिशन: दूसरे चरण में 32000 भारतीयों की वतन वापसी का अनुमान, 188000 ने कराया है पंजीकरण

|

नई दिल्ली। कोरोनावायरस प्रेरित लॉकडाउन के बीच अलग-अलग देशों में फंसे लाखों भारतीयों की घर वापसी में जुटी भारत सरकार वंदे भारत मिशन के तहत दूसरे चरण में करीब 32000 भारतीयों को वापस लाने का अनुमान है। यह आंकड़ा पहले चरण की तुलना में दोगुने से अधिक है। हालांकि विभिन्न देशों में फंसे करीब 1,88,000 भारतीयों ने पोर्टल पर वतन वापसी के लिए खुद को रजिस्टर करवाया है।

जानिए, कितनी होगी उस वैक्सीन की कीमत, जिसे कोरोना के खिलाफ तैयार कर रहा सीरम इंस्टीट्यूट

    Vande Bharat Mission : Corona संकट में Dubai,Kuwait में फंसे भारतीयों की वतन वापसी | वनइंडिया हिंदी

    stranded

    रिपोर्ट के मुताबिक वंदे भारत मिशन के दूसरे चरण के लिए एयर इंडिया और घरेलू विमानन सेवा एयर इंडिया एक्सप्रेस की कुल 149 विमानों का उपयोग 31 देशों में इस ऑपरेशन को अंजाम देगी, जिनमें फीडर फ्लाइट भी शामिल हैं। इस तरह पहले चरण की तुलना में वंदे भारत मिशन के दूसरे चरण में 18 अतिरिक्त देशों को शामिल किया गया है।

    stranded

    Coronavirus: जानिए कैसे काम करती है ऑक्सफोर्ड की वैक्सीन और क्या हैं उसके साइड इफेक्ट्स?

    वंदे भारत मिशनः काफी महंगा है विदेश से घर वापसी का खर्च, टिकट से लेकर क्वॉरेंटाइन तक चुकाने होंगे इतने?

    दूसरे चरण में एयर इंडिया और एयर इंडिया एक्सप्रेस फ्लाइट्स की मदद से इंडोनेशिया, थाईलैंड, ऑस्ट्रेलिया, इटली, फ्रांस, जर्मनी, आयरलैंड, कनाडा, जापान, नाइजीरिया, कजाकिस्तान, यूक्रेन, किर्गिस्तान, बेलारूस, जॉर्जिया, ताजिकिस्तान और आर्मेनिया में फंसे भारतीयों को वापस लिया जाएगा।

    stranded

    गौरतलब है पहले चरण में अधिकतर पश्चिमी एशियाई देशों में फंसे भारतीयों की वतन वापसी पर केंद्रित था,जिसमें कुल 64 विमान ही ऑपरेशन की हिस्सा रहीं थी। पहले चरण में कुल 12 देशों से करीब 15000 भारतीयों की वतन वापसी का अनुमान था।मिशन का पहला चरण गत 15 मई का समाप्त हो गया और 56 विमानों की मदद से 12000 से अधिक भारतीय पहले ही सकुशल वतन पहुंच चुके हैं।

    stranded

    19 मई से शुरू हो सकता है विमानों का संचालन, सिर्फ इन शहरों के लिए रहेंगी उड़ानें

    इसके अलावा दो भारतीय युद्धपोतों के माध्यम में 11 और 12 मई के अंतराल में मालदीव से अतिरिक्त 904 भारतीयों को वतन लाया जा चुका है जबकि कुछ अन्य भारतीय विभिन्न देशों से डिपोर्टेशन फ्लाइट्स से वतन पहुंच चुके हैं। इसी महीने की 7 तारीख को वंदे भारत मिशन के तहत पहला चरण शुरू हुआ था।

    stranded

    वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण अधिक व्यापक और संपूर्ण होगा। विदेश में यात्रा करने के लिए अल्पावधि वीजा की समाप्ति सामना करने वाले, चिकित्सा आपातकालीन, गर्भवती महिलाओं और बुजुर्गों कोप्राथमिकता दी जा रही है। हालांकि यात्रा का खर्च यात्रियों को खुद वहन करना होगा। इस मिशन के तहत भारतीयों को उनके वतन वापस लाने के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय विदेश मंत्रालय और राज्य सरकारों के साथ समन्वय कर रही है।

    stranded

    'वंदे भारत मिशन' के तहत 5 दिनों में 31 विमानों से 6,037 भारतीय वापस लौटे

    भारत सरकार दूसरे चरण में कुल 149 फ्लाइट्स का संचालन करने वाली है, जिसमें 7 फ्लाइट्स अकेले अमेरिका में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए भेजा रहा है और पहले की तरह दूसरे चरण में भी भारतीय नागरिक, अमेरिका के स्थायी निवासी, ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया (OIC) कार्ड धारक और अन्य अमेरिकी व्यक्ति फ्लाइट्स पर उड़ान भरने के लिए पात्र हैं।

    stranded

    अमेरिकी भेजी जाने वाली 7 फ्लाइट्स में सेन फ्रांसिस्कों, न्यूयॉर्क और शिकागो के लिए 1-1 फ्लाइट्स हैं और वाशिंगटन के लिए दो उड़ानें होंगी। एयर इंडिया के अनुसार सभी वैध यूएस वीजाधारी भारतीय पासपोर्ट धारक वतन वापसी के लिए उड़ान भर सकते हैं, लेकिन पिछले 14 दिनों में जिन्होंने किसी देश में यात्रा की है या कर रहे हैं, तो उड़ान से वंचित होना पड़ सकता है, क्योंकि उन्हें संयुक्त राज्य में प्रवेश करने की अनुमति नहीं है।

    stranded

    वंदे भारत मिशन के दूसरे चरण में कुल 19 फ्लाइट्स कोचीन इंटरनेशनल हवाई अड्डे पर भारतीयों को लेकर लैंड करेगी। ये भारतीय खाड़ी देशों के अलावा अमेरिकी, आस्ट्रेलिया और यूरोप के विभिन्न हिस्सों लाए जाएंगे।

    एयर इंडिया के 5 पायलट पाए गए कोरोना पॉजिटिव, चीन से भरी थी उड़ान

    एयर इंडिया बुकिंग के अनुसार दूसरा चरण 16 मई से 3 जून तक चलेगा। इनमें मुख्य कैरियर एयर इंडिया मई 19 से 3 जून के बीच कोच्चि तक 10 फ्लाइट्स का संचालन करेगी जबकि 16 मई से 23 के बीच एयर इंडिया एक्सप्रेस की 9 फ्लाइट्स का संचालन करेंगी।

    stranded

    दूसरे चरण में विदेशों में फंसे भारतीयों को लेकर पहली फ्लाइट कोच्चि 16 मई को पहुंचेगी, जिसका संचलान एयर इंडिया एक्सप्रेस दुबई से करेगी। दुबई, अबूधाबी, मस्कट, दोहा और कुआलालांपुर से संचालित की जाने वाली फ्लाइट्स सीधे कोच्चि में उतरेगी जबकि सेन फ्रांसिस्कों, मेलबर्न, पेरिस, रोम, डबलिन, अरमेनिया, यूक्रेन और मनीला से उड़ान भरने वाली अन्य फ्लाइट्स कोच्चि के अलावा देश के दूसरे हवाई अड्डों पर रूकेंगी।

    वंदे भारत मिशन: 9 दिनों में 14 हजार भारतीयों को एयरलिफ्ट करेगी एयर इंडिया, ये है पूरा शेड्यूल

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    A total of 149 aircraft of Air India and domestic aviation service Air India Express will be used for the second phase of the Vande Bharat Mission to operate in 31 countries, including feeder flights. In this way, 18 additional countries have been included in the second phase of the Vanda Bharat Mission compared to the first phase.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more