• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

लोनी घटना पर ट्विटर इंडिया के एमडी को मिला नोटिस, 7 दिन के भीतर पुलिस स्टेशन में आकर दर्ज कराएं बयान

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 18 जून। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद स्थित लोनी में मुस्लिम बुजुर्ग के साथ मारपीट का वीडियो सामने आने के बाद से ही यह मामला सुर्खियों में हैं। कई दिग्गज नेताओं और चर्चित हस्तियों ने इस वीडियो को साझा करते हुए इस मामले को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी थी,जिसकी वजह से यह घटना चर्चा में है। आरोप था कि यह सांप्रदायिक मामला है लेकिन जिस तरह से खुद बुजुर्ग व्यक्ति ने इस बात से इनकार किया उसके बाद यूपी पुलिस एक्शन में है। यूपी पुलिस ने ट्विटर के खिलाफ भी कार्रवाई करने मन बना लिया है। फर्जी वीडियो को रोकने में विफल रहने के चलते यूपी पुलिस ने ट्विटर इंडिया को नोटिस भेजा है।

    UP Man Assault Case: Ghaziabad Police ने Twitter India के MD को भेजा नोटिस | वनइंडिया हिंदी

    ghaziabad

    सांप्रदायिक तनाव बढ़ाने के लिए शेयर किया गया वीडियो

    गाजियाबाद पुलिस ने ट्विटर इंडिया के एमडी को लोनी मामले में वायरस वीडियो को लेकर लीगल नोटिस भेजा है। साथ ही एमडी से कहा गया है कि वह लोनी बॉर्डर पुलिस स्टेशन में सात दिन के भीतर अपना बयान दर्ज कराएं। बता दें कि ट्विटर पर लोनी की घटना का जो वीडियो वायरल हुआ है उसको लेकर आरोप है कि लोगों ने इस वीडियो को सांप्रदायिक तनाव बढ़ाने के इरादे से शेयर किया है और ट्विटर इंडिया पर आरोप है कि वह इस वीडियो को रोकने में विफल रहा है, जिसके चलते गाजियाबाद पुलिस ने यह नोटिस जारी किया है।

    पुलिस स्टेशन आकर बयान दर्ज कराएं

    नोटिस में कहा गया है कि ट्विटर का इस्तेमाल करके समाज में घृणा और विद्वेश फैलाने के लिए इस वीडियो को शेयर किया गया और ट्विटर ने इसपर कोई कार्रवाई नहीं की। देश प्रदेश के विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता बढ़ाने और सौहार्द को प्रभावित करने वाले कार्य और लेख को बढ़ावा दिया गया, ऐसे समाज विरोधी संदेश को लगातार वायरल होने दिया गया। इस मामले में हम जांच कर रहे हैं, लिहाजा आपका भी बयान लिया जाना आवश्यक है। ट्विटर इंडिया के एमडी मनीष माहेश्वरी को कहा गया है कि वह सात दिन के भीतर लोनी बॉर्डर पुलिस स्टेशन आकर अपना बयान दर्ज कराएं।

    इसे भी पढ़ें- Sushant Case: शादी के लिए 10 दिन की सिद्धार्थ पिठानी को मिली पैरोल, 2 जुलाई को करना होगा सरेंडरइसे भी पढ़ें- Sushant Case: शादी के लिए 10 दिन की सिद्धार्थ पिठानी को मिली पैरोल, 2 जुलाई को करना होगा सरेंडर

    क्या कहना है पुलिस का

    उत्तर प्रदेश पुलिस के अनुसार गाजियाबाद के लोनी में मुस्लिम बुजुर्ग व्यक्ति को बुरी तरह से पीटा गया, लेकिन इस पिटाई के वीडियो को गलत जानकारी क साथ लोगों के बीच साझा किया गया। पुलिस का कहना है कि ट्विटर को इस वीडियो की सत्यता की जांच करनी चाहिए थी और इसके बाद जिन लोगों ने गलत जानकारी साझा की उन्हें चेतावनी देने के साथ इस तरह की पोस्ट को डिलीट करना चाहिए था। लेकिन ट्विटर की ओर से ऐसा नहीं किया गया। इस पूरे मामले की बात करें तो पुलिस का कहना है कि पीड़ित अब्दुल समद ताबीज बनाने का काम करता है, आरोपियों का कहना है कि उसकी बनाई ताबीज काम नहीं कर रही, यही वजह है कि लोगों ने बुजुर्ग की पिटाई कर दी और उसकी दाढ़ी काट दी। लेकिन इस घटना को सांप्रदायिक रंग देकर साझा किया गया। इस मामले में स्वरा भाष्कर के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है, जिन्होंने इस वीडियो को शेयर किया था।

    English summary
    UP Police sends notice to Twitter India MD over Loni issue ask him to come to police station.
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X