• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

रेल मंत्री पीयूष गोयल बोले-अगले 3.5 वर्षों में रेलवे में होगा 100% विद्युतीकरण

|

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को कहा कि भारत ने अक्षय ऊर्जा क्षेत्र में कई अहम कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार अंतरराष्ट्रीय सौर ग्रिड में बदलाव लाने की दिशा में काम कर रही है। उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय रेलवे अगले साढ़े तीन वर्षों में 100% इलेक्टिरफाइड रेल नेटवर्क बनने वाला है जो कि 120,000 किलोमीटर का ट्रैक होगा। 2030 तक हम उम्मीद करते हैं कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा ग्रीन रेलवे होगा।

    Indian Railways 42 महीनों में रचेगा ये कीर्तिमान, होगा अब तक का सबसे बड़ा बदलाव | वनइंडिया हिंदी

    Union minister Piyush Goyal says Railways will move to 100 per cent electrification in next 3.5 years

    गोयल ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के एक कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि पीएम ने 'वन सन, वन वर्ल्ड, वन ग्रिड' को बढ़ावा दिया है। भारत अंतर्राष्ट्रीय नवीकरणीय समुदाय में अग्रणी भूमिका निभा रहा है। अंतरराष्ट्रीय सौर ग्रिड में संक्रमण कुछ ऐसा है जिस पर हम सभी काम कर रहे हैं। पीएम-कुसुम योजना के साथ हम किसानों को भी अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में ला रहे हैं।

    रेलवे अगले 3.5 वर्षों में 100% विद्युतीकरण और अगले 9-10 साल में 100% नेट ज़ीरो ऑपरेटर कर देगी। 2030 तक, हम में से प्रत्येक एक गर्वित नागरिक होगा, जिसके यहां दुनिया के पहले बड़ा 'स्वच्छ रेलवे' है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले सप्ताह मध्य प्रदेश के रीवा में एशिया के सबसे बड़े सौर संयंत्र का उद्घाटन किया था।

    प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 750 मेगावाट सौर ऊर्जा संयंत्र को राष्ट्र को समर्पित किया। उन्होंने कहा कि यह न केवल राज्य को बल्कि पूरे विश्व को स्वच्छ पर्यावरण के लिए एक सुरक्षित नींव के रूप में मदद करेगा। प्रधानमंत्री ने कहा। "सौर ऊर्जा आज ही नहीं बल्कि 21 वीं सदी में भी ऊर्जा का एक प्रमुख माध्यम बनने जा रही है। क्योंकि सौर ऊर्जा सुनिश्चित, शुद्ध और सुरक्षित है।

    उन्होंने यह भी कहा कि जिस तरह से भारत सौर ऊर्जा का उपयोग कर रहा है, उस पर आगे चर्चा की जा रही है और इसे स्वच्छ ऊर्जा का सबसे आकर्षक बाजार माना जा रहा है। 2030 तक 'ग्रीन रेलवे' में बदलने के लिए रेल मंत्रालय ने कई पहल की हैं। भारतीय रेलवे ने 40,000 से अधिक रूट किलोमीटर (आरकेएम) (जो कि कुल ब्रॉड-गेज मार्गों का 63 प्रतिशत है) का विद्युतीकरण पूरा कर लिया है, जिसमें 2014-20 के दौरान 18,605 किलोमीटर का विद्युतीकरण कार्य किया गया है। भारतीय रेलवे ने वर्ष 2020-21 के लिए 7,000 आरकेएम के विद्युतीकरण का लक्ष्य तय किया है।

    स्पीकर के नोटिस के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाल सकते हैं सचिन पायलट

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Union minister Piyush Goyal says Railways will move to 100 per cent electrification in next 3.5 years
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X