• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

डॉ. हर्षवर्धन बने 'स्टॉप टीबी पार्टनरशिप बोर्ड' के चेयरमैन, अगले 3 साल तक रहेंगे अध्यक्ष

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली: कोरोना महामारी से देश के साथ पूरी दुनिया जंग लड़ रही है। इसके अलावा और भी ऐसी बीमारियां है, जो देश के लिए चिंता का विषय हैं। जिसमें टीबी सबसे ऊपर है। ऐसे में केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन को 'स्टॉप टीबी पार्टनरशिप बोर्ड' का चेयरमैन नियुक्त किया गया है, यह एक अंतरराष्ट्रीय मंच है, जो 2025 तक भारत से टीबी के खात्मे के आंदोलन में योगदान दे रहा है।

Union minister harsh vardhan

टीबी के खिलाफ लड़ाई में दुनियाभर की शक्तियों के साथ स्टॉप टीबी पार्टनरशिप एक अंतरराष्ट्रीय निकाय है, जो वैश्विक स्तर को टीबी को हराने के लिए आवश्यक चिकित्सा, सामाजिक और वित्तीय विशेषज्ञता की मदद मुहैया कराती है। इस प्रतिष्ठित वैश्विक संस्था के अध्यक्ष के रूप में डॉ. हर्षवर्धन की नियुक्ति भारत के लिए गर्व की बात है। स्वास्थ्य मंत्री का कार्यकाल जुलाई से शुरू होगा और वो अगले तीन साल तक इस पद पर बने रहेंगे।

45 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को जल्द मिल सकती है वैक्सीन, स्वास्थ्य मंत्रालय ने रखा प्रस्ताव45 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को जल्द मिल सकती है वैक्सीन, स्वास्थ्य मंत्रालय ने रखा प्रस्ताव

'स्टॉप टीबी पार्टनरशिप बोर्ड' की स्थापना 2000 में हुई थी। इसका मकसद दुनियाभर से टीबी को खत्म करना है। मार्च 1998 में लंदन में आयोजित टीबी महामारी पर समिति के पहले सत्र की बैठक के बाद संगठन की कल्पना की गई थी। अपने शुरुआती वर्ष में ही एम्स्टर्डम घोषणा के माध्यम से स्टाप टीबी पार्टनरशिप ने 20 देशों के मंत्रिस्तरीय प्रतिनिधिमंडलों से सहयोगात्मक कार्रवाई का आह्वान किया, जो टीबी की समस्या से सबसे ज्यादा जूझ रहे हैं।

Comments
English summary
Union minister harsh vardhan appointed as chairman of stop tb partnership board
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X