• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने UN पर उठाए सवाल, जम्‍मू कश्‍मीर के मसले पर अमेरिकी सांसद को दी परेशान न होने की सलाह

|

म्‍यूनिख। जर्मनी के म्‍यूनिख में इस समय म्‍यूनिख सिक्‍योरिटी कॉन्‍फ्रेंस का आयोजन हो रहा है। इस मौके पर भारत से विदेश मंत्री एस जयशंकर पहुंचे हैं। जम्‍मू कश्‍मीर के मुद्दे पर एस जयशंकर ने कई पहलुओं पर भारत का रुख पेश किया तो वहीं यूनाइटेड नेशंस (यूएन) पर भी सवाल उठाए हैं। वहीं, एक अमेरिकी सीनेटर ने जब जम्‍मू कश्‍मीर के मुद्दे पर विदेश मंत्री को घेरने की कोशिश की तो जयशंकर ने उन्‍हें भी करारा जवाब दे दिया।

S-jaishankar

यह भी पढ़ें-तुर्की को भारत की दो टूक, कहा-हमारे आंतरिक मामलों से दूर रहें

UN में 75 साल पुरानी चीजें

एस जयशंकर ने म्‍यूनिख में कहा, 'यूनाइटेड नेशंस (यूएन) की विश्‍वसनीयता पहले की तरह अब नहीं रह गई है ताकि बहुत ही हैरानी वाली बात नहीं है। जब आप इस बारे में अपनी रोजाना की जिंदगी में सोचते हो तो पता लगता है कि यहां पर बहुत सी चीजें ऐसी हैं जो 75 साल पुरानी हैं। आज दुनिया में नई चुनौतियां हैं, तकनीकी से जुड़ी चुनौतियां और आपसी संपर्क बनाने की चुनौतियां।' अमेरिकी सीनेटर लिंडसे ग्राहम ने इस बीव जम्‍मू कश्‍मीर का मसला उठाने की कोशिश की। उन्‍होंने कहा, 'जब बात कश्‍मीर की होती है तो मुझे नहीं पता कि यह कैसे खत्‍म होगा। लेकिन इस बात को सुनिश्चित करना होगा कि दो लोकतंत्र इसे अलग-अलग तरह से खत्‍म करेंगे।' इस पर जयशंकर ने जवाब दिया, 'आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है सीनेटर। एक लोकतंत्र ही इसे सुलझा लेगा और आप जानते हैं कि वह कौन सा है।'

English summary
UN is far less than crdible says S Jaishankar in Munich Germany.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X