• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

राम मंदिर भूमिपूजन से पहले उमा भारती का बड़ा बयान, बोलीं- राम का नाम भाजपा की बपौती नहीं है...

|

नई दिल्ली। 'राम के नाम पर किसी का पेटेंट नहीं हो सकता है। राम का नाम अयोध्या या बीजेपी के बाप की बपौती नहीं है। ये सबकी हैं, जो बीजेपी में हैं या नहीं हैं। जो किसी भी धर्म को मानते हो। जो राम को मानते हैं, राम उन्हीं के हैं।' ये शब्द शब्द किसी और के नहीं बल्कि भाजपा की ही फायर ब्रांड नेता उमा भारती के हैं। जानकारी के मुताबिक, हाल ही में उन्होंने ये बयान मध्य प्रदेश में दिया है। उमा भारती के इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है।

    राम मंदिर भूमिपूजन से पहले उमा भारती का बड़ा बयान, बोली- राम का नाम भाजपा की बपौती नहीं है
    5 अगस्त 2020 का ऐतिहासिक दिन

    5 अगस्त 2020 का ऐतिहासिक दिन

    अयोध्या में कल यानि 5 अगस्त 2020 को राम मंदिर का भूमिपूजन होगा। भगवान राम में आस्था रखने वाले करोड़ों लोगों के साथ भारतीय जनता पार्टी के लिए यह दिन ऐतिहासिक और महत्वपूर्ण है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमि पूजन करेंगे। साथ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी मौजूद रहेंगी। कयास लगाए जा रहे थे कि भूमि पूजन कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री और बीजेपी की वरिष्ठ नेता उमा भारती को भी आमंत्रित किया जाएगा, लेकिन वह इस कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगी। उमा भारती ने ट्वीट कर खुद इस बात की जानकारी दी थी।

    'मैं नरेंद्र मोदी जी के लिए चिंतित हूं'

    'मैं नरेंद्र मोदी जी के लिए चिंतित हूं'

    पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने सोमवार को एक साथ कई ट्वीट करते हुए कहा, 'कल जबसे मैंने अमित शाह जी तथा यूपी भाजपा के नेताओं के बारे में कोरोना पॉजिटिव होने का सुना, तभी से मैं अयोध्या में मंदिर के शिलान्यास में उपस्थित लोगों के लिए खासकर नरेंद्र मोदी जी के लिए चिंतित हूं। इसीलिए मैंने रामजन्मभूमि न्यास के अधिकारियों को सूचना दी है कि शिलान्यास के कार्यक्रम के मुहूर्त पर मैं अयोध्या में सरयू के किनारे पर रहूंगी।'

    'लोगों के जाने के बाद रामलला के दर्शन करूंगी'

    'लोगों के जाने के बाद रामलला के दर्शन करूंगी'

    इसके बाद एक और ट्वीट करते हुए उमा भारती ने कहा, 'मैं भोपाल से आज रवाना होऊंगी। कल शाम अयोध्या पहुंचने तक मेरी किसी संक्रमित व्यक्ति से मुलाकात हो सकती है। ऐसी स्थिति में जहां नरेंद्र मोदी और सैकड़ों लोग उपस्थित हों, मैं उस स्थान से दूरी रखूंगी तथा नरेंद्र मोदी और सभी समूह के चले जाने के बाद ही मैं रामलला के दर्शन करने पहुंचूंगी। यह सूचना मैंने अयोध्या में रामजन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ अधिकारी और पीएमओ को भेज दी है कि माननीय नरेंद्र मोदी के शिलान्यास कार्यक्रम के समय उपस्थित समूह की सूची में से मेरा नाम अलग कर दें।'

    मंच पर पीएम मोदी सहित चार लोग होंगे मौजूद

    मंच पर पीएम मोदी सहित चार लोग होंगे मौजूद

    श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपत राय के मुताबिक, मंच पर पीएम मोदी के अलावा चार ही लोग होंगे, जिसमें सीएम योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपालदास और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत शामिल हैं। राय के मुताबिक, सभी अतिथियों को जो नियमंत्र पत्र भेजे गए हैं, उसमें सिक्योरिटी कोड लगा हुआ है। अगर कोई भी गेस्ट रामजन्मूभूमि से कार्यक्रम के बीच से निकलता है, तो उसे दोबारा एंट्री नहीं मिलेगी।

    कार्यक्रम खत्म होने के बाद रामलला के दर्शन करेंगे उमा भारती

    कार्यक्रम खत्म होने के बाद रामलला के दर्शन करेंगे उमा भारती

    चंपत राय के मुताबिक कोरोना का कहर जारी है, ऐसे में लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी इसमें नहीं शामिल होंगे, क्योंकि उनकी उम्र 90 वर्ष से ज्यादा है। वहीं उमा भारती अयोध्या तो आएंगी लेकिन पूजन में नहीं शामिल होंगी। इस दौरान वो सरयू के किनारे रहेंगी, जब कार्यक्रम खत्म हो जाएगा, तब वो रामलला के दर्शन करेंगी, ताकी उनसे किसी को संक्रमण का खतरा न रहे। इसके अलावा कोरोना के चलते सिर्फ 175 लोगों को ही बुलाया गया है।

    राम जन्मभूमि पूजन में शामिल नहीं होंगी उमा भारती, कहा- सूची से हटा दें मेरा नाम

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Uma Bharti Says Lord Ram and ayodhya is Not BJP Property
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X