• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सीएम उद्वव ठाकरे ने राज्यपाल को दिया जवाब- मेरे हिंदुत्व को आपसे सत्यापन की आवश्यकता नहीं है

|

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से कहा है कि उन्हें उनसे हिंदुत्व के प्रमाणपत्र की आवश्यकता नहीं है। कोशियारी द्वारा उन्हें पत्र लिखे जाने के बाद ठाकरे की टिप्पणी की है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को प्रदेश के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा भेजे गए एक पत्र का दृढ़ता से जवाब दिया।

कोश्‍यारी ने महाराष्‍ट्र में मंदिर खोलने को लेकर सीएम को लिखा था ये पत्र

कोश्‍यारी ने महाराष्‍ट्र में मंदिर खोलने को लेकर सीएम को लिखा था ये पत्र

बता दें राज्यपाल ने अपने पत्र में उद्धव ठाकरे से राज्य के धार्मिक स्थलों को फिर से खोलने का अनुरोध किया था। राज्‍यपाल कोश्‍यारी ने लिखा था "आप हिंदुत्व के एक मजबूत मतदाता रहे हैं। आपने सार्वजनिक रूप से भगवान राम के प्रति अपनी श्रद्धा व्यक्त की थी। आप आषाढ़ी एकादशी पर विट्ठल रुक्मणी मंदिर गए थे। " राज्‍यपाल कोश्‍यारी ने प्रश्‍न किया था कि "मुझे आश्चर्य है कि यदि आपको पूजा स्थलों के फिर से खुलने और फिर से अचानक धर्मनिरपेक्ष बने रहने के लिए कोई दैवीय प्रीमियर प्राप्त हो रहा है?"

अमिताभ बच्‍चन से शख्‍स ने पूछा- आप दान क्यों नहीं करते, तो बिग बी ने दिया ये करारा जवाब

    Maharashtra में Siddhivinayak Temple खोलने की मांग, मंदिर के बाहर BJP का प्रदर्शन | वनइंडिया हिंदी
    सरकार ने देवी-देवताओं को तालाबंदी में रखा है

    सरकार ने देवी-देवताओं को तालाबंदी में रखा है

    इसके अलावा, राज्य प्रशासन पर कटाक्ष करते हुए, भगत सिंह कोश्यारी ने कहा कि यह "विडंबनापूर्ण" है कि महाराष्ट्र सरकार ने बार और रेस्तरां को फिर से खोल दिया है, लेकिन धार्मिक स्थलों को फिर से खोलने पर कोई कदम नहीं उठाया है। कोशियारी ने लिखा, "यह विडंबना है कि एक तरफ, सरकार ने बार और रेस्तरां खोले हैं, लेकिन दूसरी ओर, देवी-देवताओं को तालाबंदी में रखा है। राज्‍यपाल ने इसकी निंदा की थी। दिल्ली का उदाहरण देते हुए, उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में जून में धार्मिक स्थानों को फिर से खोल दिया गया है, लेकिन कोविड -19 मामलों में इन स्थानों में से किसी में भी वृद्धि नहीं हुई है। कोश्यारी ने कहा, "मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि आप सभी कोविद -19 सावधानियों के साथ पूजा स्थलों को फिर से खोलने की घोषणा करें।"

    मोबाइल स्‍क्रीन और नोट पर 28 दिनों तक कोरोना वायरस रहने के दावे का जानिए क्या है सच

    सीएम बोले- मेरे हिंदुत्व को आपसे सत्यापन की आवश्यकता नहीं है

    सीएम बोले- मेरे हिंदुत्व को आपसे सत्यापन की आवश्यकता नहीं है

    महाराष्‍ट्र सीएम उद्धव ठाकरे ने राज्‍यपाल कोश्‍यारी को जवाब में कहा, " जैसा कि अचानक से लॉकडाउन को लागू करना सही नहीं था, एक बार में इसे पूरी तरह से रद्द करना भी अच्छी बात नहीं होगी, और हां, मैं कोई ऐसा व्यक्ति हूं जो हिंदुत्व का अनुसरण करता है,जैसा कि अचानक से लॉकडाउन को लागू करना सही नहीं था, एक बार में इसे पूरी तरह से रद्द करना भी अच्छी बात नहीं होगी। और हां, मैं कोई ऐसा व्यक्ति हूं जो हिंदुत्व का अनुसरण करता है, मेरे हिंदुत्व को आपसे सत्यापन की आवश्यकता नहीं है।

    संजय राउत ने भी राज्‍यपाल के पत्र पर किया पलटवार

    संजय राउत ने भी राज्‍यपाल के पत्र पर किया पलटवार

    वहीं शिवसेना नेता संजय राउत ने राज्‍यपाल के इस पत्र पर पलटवार करते हुए कहा कि महाराष्ट्र सरकार COVID19 की गंभीरता और संक्रमण को रोकने के लिए ये फैसले ले रही है। मन में स्थिति और धर्मनिरपेक्षता शब्द का सही अर्थ संविधान में वर्णित है। इसलिए, राज्यपाल का पत्र साबित करता है कि वह भारत के संविधान का पालन करने के लिए तैयार नहीं हैं।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Uddhav Thackeray replied to the Governor Kosari- my Hindutva doesn't need verification from you
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X