• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में ये हैं पांच बड़े चेहरे

|

तमिलनाडु में 6 अप्रैल को वोटिंग है। सत्तारुढ़ अन्नाद्रमुक और द्रमुक के बीच जोरदार मुकाबला है। भाजपा, अन्नाद्रमुक के साथ मिल कर चुनाव लड़ रही है। अन्नाद्रमुक के 179 और भाजपा 20 उम्मीदवार मैदान में हैं। कांग्रेस का द्रमुक के साथ गठबंधन है। द्रमुक 173 सीटों पर और कांग्रेस 25 सीटों पर मुकाबले में है। टीटी दिनाकरन की अम्मा मक्कल मुनेत्र कड़गम तीसरा मोर्चा बनाने की कोशिश में है। दिनाकरन की पार्टी 161 सीटों पर चुनाव लड़ रही है दिनाकरन शशिकला (जयललिता की करीबी) के भतीजा हैं। कमल हासन की पार्टी मक्कल निधि माइम 142 सीटों पर चुनावी किस्मत आजमा रही है। अभी तक तमिलनाडु की राजनीति अन्नाद्रमुक और द्रमुक के बीच ही सिमटी रही है। इस बार युवा मतदाताओं की वजह से द्रविड़ राजनीति कुछ लचीली हुई है। दो से अधिक विकल्प होने के कारण इस बार लीक से हट कर मतदान हो सकता है। डालते हैं उन प्रमुख उम्मीदवारों पर एक नजर जिनकी किस्मत सोमवार को ईवीएम में बंद होने वाली है।

ई के पलानीस्वामी (मुख्यमंत्री, तमिलनाडु)

ई के पलानीस्वामी (मुख्यमंत्री, तमिलनाडु)

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री और अन्नाद्रमुक के संयुक्त समन्वयक ई के पलानीस्वामी सेलम जिले के इडप्पाडी विधानसभा क्षेत्र से फिर मैदान में हैं। उनका मुकाबला द्रमुक के युवा नेता टी सम्पत कुमार (37) से है। पलानीस्वामी पहली बार 1989 में इडाप्पडी से विधायक चुने गये थे। वे यहां से चार जीते हैं और दो बार हारे हैं। 1996 और 2006 के चुनाव में पलानीस्वामी पीएमके के उम्मीदवार से हार गये थे। 1989, 1991, 2011 और 2016 में इस सीट पर विजयी रहे थे। पलानीस्वामी जिले के साधारण कार्यकर्ता से मुख्यमंत्री पद तक पहुंचे हैं। जयललिता की सरकार में मंत्री भी रहे। 2017 में तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बने।

ओ पन्नीरसेल्वम (उपमुख्यमंत्री)

ओ पन्नीरसेल्वम (उपमुख्यमंत्री)

ओ पन्नीरसेल्वम तमिलनाडु के उपमुख्यमंत्री हैं और अन्नाद्रमुक के संयुक्त समन्वयक हैं। वे बोडिनायाकन्नूर विधानसभा सीट से फिर चुनाव लड़ रहे हैं। उनका मुकाबला द्रमुक के थंगा तमिलसेल्वन से है। वे इस सीट पर 2011 और 2016 में चुनाव जीत चुके हैं। पन्नीरसेलवम, जयललिता के सबसे विश्वस्त सहयोगी रहे। जयललिता को जब-जब कानूनी बंदिशों के चलते मुख्यमंत्री का पद छोड़ना पड़ा, पन्नीरसेल्वम ही केयरटेकर चीफ मिनिस्टर रहे। 2001 में सुप्रीम कोर्ट ने आय से अधिक सम्पत्ति मामले में जयललिता को किसी भी पद के लिए अयोग्य घोषित कर दिया था। इसके चलते जयललिता के इस्तीफा देना पड़ा। तब कार्यवाहक मुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम को बनाया गया। 2014 में आय से अधिक सम्पत्ति मामले में जब जयललिता को जेल जाने की नौबत आयी तो उससे पहले उन्होंने इस्तीफा दे दिया। तब जयललिता ने एक बार फिर पन्नीरसेल्वम पर ही भरोसा जताया और उन्हें सीएम की कुर्सी सौंप दी।

सीएम बनने के बाद डिप्टी सीएम बने पन्नीरसेल्वम

सीएम बनने के बाद डिप्टी सीएम बने पन्नीरसेल्वम

पन्नीरसेल्वम ने भी हमेशा जयललिता के प्रति अपनी वफादारी दिखायी। जयललिता पर से जब कानूनी बंदिशें हट जाती तो पन्नीरसेल्वम अपनी नेता के लिए कुर्सी खाली कर देते। दिसम्बर 2016 में जब जयललिता की मौत हो गयी तो पन्नीरसेल्वम को विधायक दल का नेता चुना गया और वे विधिवत तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बने। लेकिन कुछ ही दिनों के बाद पलानीस्वामी ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया। पलानीस्वामी, पन्नीरसेल्वम के कैबिनेट में मंत्री थे लेकिन वे सत्ता पर अधिकार जमाना चाहते थे। पार्टी की अंदरुनी लड़ाई में पलानीस्वामी भारी पड़ गये। दो महीने बाद ही पन्नीरसेल्वम को मुख्यमंत्री पद का छोड़ना पड़ा। फरवरी 2017 में पलानीस्वामी मुख्यमंत्री बने तो पन्नीरसेल्वम को उपमुख्यमंत्री बना कर मनाया गया। उसके बाद अन्नाद्रमुक के संचालन में इन दोनों नेताओं की बराबर की दखल हो गयी। 2021 के चुनाव में पन्नीरसेल्वम और पलानीस्वामी पर अब जिम्मेदारी है कि वे कैसे अन्नाद्रमुक को दोबारा सत्ता दिलाते हैं।

एमके स्टालिन (नेता प्रतिपक्ष, द्रमुक)

एमके स्टालिन (नेता प्रतिपक्ष, द्रमुक)

एमके स्टालिन द्रमुक के अध्यक्ष हैं और तमिलनाडु विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हैं। वे द्रमुक के दिवंगत नेता एम करुणानिधि के तीसरे पुत्र हैं। स्टालिन कोलाथुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। उनका मुकाबला अन्नाद्रमुक के अधिराजराम और एमएनएम के ए जगदीश से है। स्टालिन यहां से 2011 और 2016 का चुनाव जीत चुके हैं। वे फिल्म अभिनेता रहे हैं। राजनीति की शुरुआत मेयर पद से की थी। वे 1996 में वे चेन्नई के मयर बने थे। जब करुणानिधि मुख्यमंत्री थे तब उन्होंने मई 2009 में स्टालिन को उपमुख्यमंत्री बनाया था। करुणानिधि ने तीन शादियां की थीं और उनके छह बच्चे हैं। स्टालिन, राज्यसभा सांसद कनीमोझी के सौतेले भाई हैं। कनीमोझी करुणानिधि की तीसरी पत्नी की संतान हैं। करुणानिधि को दूसरी पत्नी से चार बच्चे हुए। इनमें से एमके अलागिरी और एमके स्टालिन के बीच राजनीतिक उत्तराधिकार के लिए घनघोर लड़ाई हुई। करुणानिधि ने स्टालिन को अपनी विरासत सौंपी थी। इसके बाद अलागिरी ने स्टालिन के खिलाफ बगावत का झंडा उठा लिया। 2021 के चुनाव में वे स्टालिन का विरोध कर रहे हैं। स्टालिन के पुत्र उदयनिधि स्टालिन चेन्नई के चेपक विधानसभा क्षेत्र से पहली बार चुनाव लड़ रहे हैं।

टीटीवी दिनाकरन (शशिकला के भतीजा)

टीटीवी दिनाकरन (शशिकला के भतीजा)

दिनाकरन शशिकला के भतीजा हैं। शशिकला, जयललिता के जमाने में अन्नाद्रमुक की दूसरे सबसे शक्तिशाली नेता थीं। बाद में शशिकला को अन्नाद्रमुक से निकाल दिया गया था। इसके बाद दिनाकरन ने अम्मा मक्कल मुनेत्र कड़गम नाम से एक अलग दल बना लिया। जयललिता आरके नगर सीट से विधायक चुनी जाती रहीं थीं। उनके निधन के बाद इस सीट पर 2017 में उपचुनाव हुआ था। जयललिता की सीट से जीत कर दिनाकरन ने अन्नाद्रमुक में हलचल मचा दी थी। लेकिन 2021 के चुनाव में दिनाकरन कोविलपट्टी से किस्मत आजमा रहे हैं। उनका मुकाबला तमिलनाडु सरकार के मंत्री और अन्नाद्रमुक के उम्मीदवार के राजू से है। यहां से द्रमुक गठबंधन के श्रीनिवासन भी मैदान में हैं।

कमल हासन (फिल्म अभिनेता,एमएनएम प्रमुख)

कमल हासन (फिल्म अभिनेता,एमएनएम प्रमुख)

भारत के चर्चित और बहुमुखी प्रतिभा के धनी फिल्म अभिनेता कमल हासन पहली बार विधानसभा का चुनाव लड़ रहे हैं। वे एमएनएम पार्टी बना कर चुनाव मैदान में कूदे हैं। कमल हासन कोयम्बटूर दक्षिण विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। उनका मुकाबला कंग्रेस एस जयकुमार और भाजपा की वानथी श्रीनिवासन से है। वानथी भाजपा की महिला इकाई की राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। कमल हासन भ्रष्टाचार को मुद्दा बन कर चुनाव लड़ रहे हैं। उनका दावा है कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आयी तो तमिलनाडु की राजनीति से भ्रष्टाचार का अंत हो जाएगा। अब देखना है कि जनता उनको कितना समर्थन देती है।

तमिलनाडु: कोयम्बटूर दक्षिण में फंस गए हैं कमल हासन ? BJP की सेल्फ मेड स्टार वनाति से कांटे की जंगतमिलनाडु: कोयम्बटूर दक्षिण में फंस गए हैं कमल हासन ? BJP की सेल्फ मेड स्टार वनाति से कांटे की जंग

English summary
Top 5 star candidates in tamil nadu election
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X