• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

क्या दिल्ली-मुंबई में बीत चुका है कोरोना वायरस का पीक? ICMR के वरिष्ठ वैज्ञानिक ने दिया जवाब

|
Google Oneindia News

नई दिल्‍ली, 19 जनवरी। कोरोना महामारी के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। वहीं देश की राजधानी दिल्‍ली और आर्थिक राजधानी मुंबई कोरोना की तीसरी लहर से जूझ रही है। ऐसे में क्‍या मुंबई और दिल्‍ली में कोरोना महामारी की तीसरी लहर अपने चरम पर पहुंच चुकी है। इसके बारे में आईसीएमआर के वैज्ञानिक डॉक्‍टर समीरन पांडा ने स्‍पष्‍ठ किया है।

covid

इंडिया टुडे को दिए साक्षात्‍कार में ICMR के वैज्ञानिक डॉ समीरन पांडा ने कहा कि अभी ये पुष्टि करना जल्दबाजी होगी कि क्या दिल्ली और मुंबई में कोविड -19 महामारी की तीसरी लहर में अपने चरम पर पहुंच गई है।

डॉ समीरन पांडा जो कि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद में महामारी विज्ञान विभाग के प्रमुख हैं उन्‍होंने कहा दिल्ली और मुंबई में कोरोना की तीसरी लहर चरम पर हैं और सबसे बुरा खत्म हो गया है, हमें यह कहने से पहले दो सप्ताह और इंतजार करने की जरूरत है। उन्‍होंने कहा हम इसे केवल कोरोना केस में आई गिरावट और कोविड पॉजिटिविटी दर के आधार पर नहीं कह सकते हैं।

डॉ पांडा ने कहा कि दो प्रमुख महानगर शहर में कोविड -19 के ओमिक्रॉन और डेल्टा मामलों का अनुपात क्रमशः लगभग 80 और 20 प्रतिशत है। उन्होंने यह भी साफ किया कि भारत के विभिन्न राज्य इस समय महामारी के विभिन्न चरणों में हैं।डॉ समीरन पांडा ने कहा एक स्थानिक रोग वह है जो अपेक्षाकृत कम प्रसार वाली आबादी या क्षेत्र में लगातार मौजूद रहता है। यह एक महामारी से अलग है, जो दुनिया भर में मामलों में अचानक वृद्धि की विशेषता वाली बीमारी है। डॉ पांडा ने कहा कि गणितीय अनुमानों से पता चलता है कि ओमाइक्रोन तरंग भारत में 11 दिसंबर से शुरू होकर तीन महीने तक चलेगी। उन्होंने कहा, '11 मार्च के बाद हमें कुछ राहत मिलेगी।'

पिछले हफ्ते, ICMR ने एक एडवाइजरी जारी करते हुए कहा कि कोविड -19 के लिए पॉजिटिव पाए गए लोगों के संपर्कों का परीक्षण करने की आवश्यकता नहीं है, जब तक कि वे हाई रिस्‍क श्रेणी में नहीं आते हैं। इस बारे में पूछे जाने पर, डॉ पांडा ने कहा, "आईसीएमआर ने वायरस में महामारी विज्ञान परिवर्तनों के कारण परीक्षण रणनीति बदल दी और क्योंकि महामारी ने अपना रूप बदल दिया।" "हमने राज्यों से कभी ज्यादा परीक्षण नहीं करने के लिए कहा - परीक्षणों की संख्या को कम करने के लिए कभी कोई निर्देश नहीं था। हमने अधिक निर्देशित और उद्देश्यपूर्ण परीक्षण के लिए कहा। महामारी ने अपना स्वरूप बदल दिया है और इसलिए, परीक्षण और प्रबंधन की रणनीति भी बदल जाएगी। "

युवाओं में वैक्‍सीनेशन दर से खुश हुए पीएम मोदी, बोले- युवा भारत दिखा रहा है टीकाकरण की नई राहयुवाओं में वैक्‍सीनेशन दर से खुश हुए पीएम मोदी, बोले- युवा भारत दिखा रहा है टीकाकरण की नई राह

Comments
English summary
Third wave of corona has reached its peak in Delhi-Mumbai, is the bad over? Know what the top scientists said
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X