• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

रेलवे ट्रैक पर गिरे बच्चे की मां थी नेत्रहीन, Mayur Shelkhe ना बचाते तो बुझ जाता जिंदगी का दीया

|

मुंबई, अप्रैल 21: मुंबई के एक रेलवे स्‍टेशन का आपने एक वीडियो देखा होगा जो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। जिसमें एक बच्‍चा प्‍लेटफार्म पर अपना बैलेंस खोने के कारण पटरी पर अचानक गिर जाता हैं और दूसरी तरफ से तेज रफ्तार से आ रही ट्रेन के सामने से बच्‍चे को एक शख्‍स आकर बचा लेता है। अपनी जान की बाजी लगाकर बच्‍चे को बचाने वाला शख्‍स रेलवे के प्‍वाइंटमैन मयूर शाल्‍वे हैं जिन्‍हें रेलवे ने सम्‍मानित भी किया है। वहीं इस वीडियो का एक ऐसा सच सामने आया है जिसे सुनकर आपकी आंख जरूर नम हो जाएगी।

 रेलवे ट्रैक पर गिरे बच्चे की मां की आंखों में नहीं है रोशनी,

रेलवे ट्रैक पर गिरे बच्चे की मां की आंखों में नहीं है रोशनी,

दरअसल, पहले माना जा रहा था कि इस छह वर्षीय बच्‍चे का अभिभावक दूसरा बच्‍चा हाथ में लिए होने के कारण बड़े बेटे के साथ प्‍लेटफार्म के किनारे तक आ और उसे संभाल नहीं सका और बच्‍चा पटरी पर गिर गया। सीसीटीवी में कैप्‍चर हुई घटना को देखने पर ये लगेगा कि पिता बच्‍चे के गिरने के कारण अपने पीछे लदे सामान और हाथ के दूसरे बच्‍चे के कारण प्‍लेटफार्म पर बड़े बच्‍चे के गिरने के बाद वहीं लेटकर अपने बच्‍चे को बचाने का असफल प्रयास करने लगता है। जबकि सच्‍चाई ये है कि उस बच्‍चे की मां अंधी थी और आंखों से न दिखाई पड़ने के कारण बेटे के साथ प्‍लेटफार्म पर किनारे पर आ गई और उसका जान से प्‍यारा बेटा नीचे पटरी पर गिर पड़ा।

    Mumbai: Piyush goyal ने की रेल कर्मी Mayur Shelke की तारीफ, बचाई थी बच्चे की जान | वनइंडिया हिंदी
    Mayur Shelkhe ना बचाते तो बुझ जाता जिंदगी का दीया

    Mayur Shelkhe ना बचाते तो बुझ जाता जिंदगी का दीया

    पटरी पर गिरने पर कैसे तेज रफ्तार ट्रेन के सामने पटरी पर अचानक गिरे बच्‍चे को प्‍वाइंटमैन मयूर शाल्‍वे ने अपनी जान पर खेल कर अंतिम क्षण में बचाया। अगर मयूर ने न बचाया होता तो अंधी मां अपना बेटा हमेशा के लिए खो देती और उसकी दुनिया वीरान हो जाती। मां अंधी थी ये सच्‍चाई जानने के बाद इस वीडियो को देखने पर एक अंधी मां की लाचार हालत का अंदाजा हो जाएगा।

    मयूर शेख्‍ले को किया गया सम्‍मानित

    मयूर शेख्‍ले को किया गया सम्‍मानित

    बता दें प्‍लेटफार्म पर दूर खड़े प्‍वाइंटमैन मयूर शेख्‍ले ने जैसे ही ये देखा उसने अपनी जान की परवार किए बिना दौड़ लगाई और पटरी पर कूद गया और आखिरी क्षण में बच्‍चे की जान बचा ली। मयूर शेल्‍खे के इस नेक काम का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। सीसीटीवी कैमरे से प्‍लेटफार्म पर घटी इस घटना में साफ दिख रहा कि मयूर ने अपने जान की बाजी लगाकर बच्‍चे की जान बचाई जिसके लिए उसे रेलवे विभाग ने सम्‍मानित किया और लोग मयूर के इस नेक काम की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

    Mayur Shelkhe:तेज रफ़्तार ट्रेन के सामने गिरे बच्चे की मसीहा बनकर प्वाइंटमैन ने बचाई जान, देखें VIDEOMayur Shelkhe:तेज रफ़्तार ट्रेन के सामने गिरे बच्चे की मसीहा बनकर प्वाइंटमैन ने बचाई जान, देखें VIDEO

    तेज रफ़्तार ट्रेन के सामने गिरे बच्चे की जान बचाने वाले प्वाइंटमैन Mayur Shelkhe को किया गया सम्‍मानिततेज रफ़्तार ट्रेन के सामने गिरे बच्चे की जान बचाने वाले प्वाइंटमैन Mayur Shelkhe को किया गया सम्‍मानित

    https://hindi.oneindia.com/photos/pm-modi-addresed-nation-said-lockdown-is-last-option-oi61080.htmlदेश को Lockown से बचाने के लिए PM मोदी ने दिए ये मूल मंत्र
    English summary
    The mother of the child who fell on the railway track did not have light, Mayur Shelkhe would not have saved life's lamp
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X