• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

केंद्रीय कृषि कानून के खिलाफ राजस्थान की गहलोत सरकार ने पारित कराए तीन विधेयक

|

नई दिल्ली। केंद्रीय कृषि कानून को काउंटर करने के लिए राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने सोमवार को विधानसभा में कुल तीन संशोधन विधेयक पारित किए, जिसे अब राज्यपाल कलराज मिश्र के पास मंजूरी के लिए भेज जाएंगे। इससे पहले भी कांग्रेस शासित पंजाब सरकार के मुखिया कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी केंद्रीय कृषि कानून को बॉयपास करने के लिए संशोधन विधेयक पारित किए गए थे।

Rajasthan

वंदे भारत मिशनः दिल्ली से वुहान पहुंचे फ्लाइट में 19 भारतीय नागरिक मिले कोरोना पॉजिटिव

राजस्थान विधानसभा में पारित तीन संशोधित विधेयक पर अशोक गहलोत सरकार ने कहा कि इससे किसानों को राहत मिलेगी। करीब 6 घंटे बहस के बाद राजस्थान विधानसभा पास कराए तीनों संशोधन विधेयक में एक दिलचस्प बात निकल कर सामने आई, वह यह कि राजस्थान सरकार द्वारा पास कराए गए तीनों संधोधित विधेयक में केंद्रीय कृषि कानून के जिस प्रावधान के खिलाफ कांग्रेस सबसे अधिक लामबंद हुई थी, राजस्थान सरकार द्वारा पारित तीनों संधोधित विधेयक में उसका प्रावधान नहीं है।

rajasthan

राहुल गांधी को राजनाथ सिंह की फटकार,बोले, कंट्रोल में है LAC की स्थिति, हमारे क्षेत्र में नहीं है PLA

रिपोर्ट के मुताबिक केंद्रीय कृषि कानून में न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी एमएसपी खऱीद का प्रावधान शामिल करने की मांग की थी, लेकिन प्रदेश के विधेयकों में इसका जिक्र नहीं है। यहां केवल संविदा खेती में ही एमएसपी का प्रावधान किया गया है। सामान्य किसान द्वारा मंडी में या अन्य किसी जगह उपज बेचने पर एमएसपी का प्रावधान नहीं किया गया है। यही नहीं, कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) संशोधन विधेयक में एमएमसपी का प्रावधान नहीं है। विधेयक में किसान के उत्पीड़न पर 3 से 7 साल की सजा और पांच लाख के जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

rajasthan

NGT ने भेजा नोटिस, 'जनहित में होगा 7 से 30 नवंबर तक पटाखों पर प्रतिबंध का फैसला'

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार द्वारा पारित कुल तीन विधेयकों में पहला विधेयक कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य संवर्धन व सरलीकरण राजस्थान संशोधन विधेयक 2020, जबकि दूसरा विधयेक कृषक सशक्तिकरण और संरक्षण कीमत आश्वासन व कृषि सेवा पर करार राजस्थान संशोधन विधेयक 2020 और तीसरा विधयेका आवश्यक वस्तु विशेष उपबंध और राजस्थान संशोधन विधेयक 2020 प्रमुख हैं, जिसे सोमवार को केंद्रीय कृषि कानून के खिलाफ पारित कराया गया है।

मैं राष्ट्रपति चुना गया तो पहले दिन कोरोना के खिलाफ एक्शन प्लान की घोषणा करूंगाः बाइडेन

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
To counter the Central Agricultural Act, the Ashok Gehlot government of Rajasthan passed a total of three amendment bills in the assembly on Monday, which will now be sent to Governor Kalraj Mishra for approval. Earlier, Amarinder Singh, the head of the Congress-ruled Punjab government, had also passed amendment bills to bypass the Central Agricultural Act.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X