• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सुपर साइकलोन का नाम कैसे पड़ा 'Amphan', जानिए इससे जुड़ी 10 बड़ी बातें

|

नई दिल्ली। भारतीय मौसम विभाग (IMD) के अनुसार बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान 'अम्फान' ने 'अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान' का रूप ले लिया है, जबकि गृह मंत्रालय ने कहा है कि पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटों से यह तूफान बुधवार को टकराएगा। इस दौरान 185 किमी प्रति घंटे तक हवा की गति हो सकती है।

    Cyclone Amphan से तबाही शुरू, ले सकता है और ज्यादा खतरनाक रूप | वनइंडिया हिंदी
    इस तूफान का नाम 'अम्फान' क्यों पड़ा?

    इस तूफान का नाम 'अम्फान' क्यों पड़ा?

    वर्तमान में यह चक्रवात दक्षिणी बंगाल की खाड़ी से लगे पश्चिम-मध्य और मध्य हिस्सों के ऊपर है जो पारादीप (ओडिशा) से करीब 790 किलोमीटर दक्षिण, दीघा (पश्चिम बंगाल) से 940 किलोमीटरदक्षिण-दक्षिणपश्चिम और खेपुपारा (बांग्लादेश) से 1060 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिणपश्चिम में है, इस बार इस तूफान का नाम थाईलैंड ने दिया है, चलिए जानते हैं कि इस तूफान का नाम 'अम्फान' क्यों पड़ा है।

    यह पढ़ें: अफरीदी ने पीएम मोदी के खिलाफ उगला जहर तो भारतीयों ने लगाई लताड़, कहा-'कश्मीर हमारा था, है और हमेशा रहेगा'

    थाईलैंड ने दिया है सुपर साइकलोन का नाम

    थाईलैंड ने दिया है सुपर साइकलोन का नाम

    दरअसल अम्फान (Amphan) तूफान साल 2004 में तैयार की गई तूफान की लिस्‍ट का आखिरी नाम है, जिसे कि थाईलैंड ने फाइनल किया है, भारत में तूफानों का नाम देने का चलन 2004 से शुरू हुआ है, भारत के साथ-साथ पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका, मालदीव, म्यांमार, ओमान और थाइलैंड ने भी तूफानों को नाम देने का काम करते हैं, इन 8 देशों की ओर से सुझाए गए नामों के पहले अक्षर के अनुसार ही उनका क्रम तय किया जाता है और उसी क्रम के अनुसार चक्रवातों के नाम रखे जाते हैं।

    वर्ल्ड मेट्रोलॉजिकल ऑर्गनाइजेश

    वर्ल्ड मेट्रोलॉजिकल ऑर्गनाइजेश

    इन सभी आठ देशों ने वर्ल्ड मेट्रोलॉजिकल ऑर्गनाइजेश तूफानों की लिस्ट तैयार करता है, इन 8 देशों में अगर चक्रवात आता है तो भेजे गए नामों में बारी-बारी एक नाम चुना जाता है, इस बार ये हक थाईलैंड के हिस्से आया है।

    Amphan के बारे में 10 जरूरी बातें

    Amphan के बारे में 10 जरूरी बातें

    • चक्रवात 'अम्फान' बंगाल की खाड़ी में एक प्रचंड चक्रवाती तूफान में तब्दील हो चुका है।
    • 'अम्फान' 20 मई की दोपहर और शाम के बीच में पश्चिम बंगाल में सागर द्वीपसमूह और बांग्लादेश के हतिया द्वीप समूह के बीच पश्चिम बंगाल-बांग्लादेश तटीय क्षेत्रों से गुजरेगा।
    • इस दौरान 155-165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी जो कि कभी भी 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकती हैं.
    • जब तूफान तट से टकराएगा तो काफी क्षति की आशंका है।
    • बालासोर, भद्रक, जाजपुर, मयूरभंज जिले सबसे ज्यादा प्रभावित हो सकते हैं।
    • अगले 4 दिनों के लिए पश्चिम बंगाल और ओडिशा में बारिश की चेतावनी जारी की गई है।
    • एनडीआरएफ ने किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए अपनी 10 टीमों को ओडिशा और अपनी सात टीमों को पश्चिम बंगाल भेजा है।
    • मछुआरों को बंगाल की खाड़ी और हिंद महासागर के गहरे समुद्री क्षेत्रों में नहीं जाने की सलाह दी है।
    • अम्फान के रास्ते से गुजरने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को निरस्त करने की सलाह दी गई है।
    • 11 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए विशेष इंतजाम किए हैं।
    • 24 परगना जिले, कोलकाता, पूर्वी एवं पश्चिमी मिदनापुर, हावड़ा और हुगली में अलर्ट जारी ।

    यह पढ़ें: Cyclone Amphan पर चर्चा के लिए पीएम मोदी शाम चार बजे करेंगे उच्चस्तरीय बैठक

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    IMD announced via a tweet that the severe cyclonic storm has intensified into Super Cyclonic Storm today, here is The 10 Things You Need To Know About Cyclone Amphan.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X