• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

पद्मावत पर बोलीं स्वरा भास्कर, औरतें चलती फिरती वजाइना नहीं

By Mohit
|

नई दिल्लीः अभिनेत्री स्वरा भास्कर को अपनी एक्टिंग के अलावा उनके बयानों के कारण भी जाना जाता है। अपने बयान के कारण स्वरा एक बार फिर से चर्चा में हैं। इस बार स्वरा ने संजय लीला भंसाली को निशाने पर लिया है। संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत देखने के बाद स्वरा ने खुला खत्त लिखा है, इस खत्त में स्वरा ने संजय लीला भंसाली से कहा है कि औरतें चलती फिरती वजाइना नहीं।

'महिलाएं चलती-फिरती वजाइना नहीं हैं।'

'महिलाएं चलती-फिरती वजाइना नहीं हैं।'

स्‍वरा ने अपने खुले खत्त में लिखा है 'महिलाएं चलती-फिरती वजाइना नहीं हैं। हां, महिलाओं के पास यह अंग होता है लेकिन उनके पास और भी बहुत कुछ है। इसलिए लोगों की पूरी जिंदगी वजाइना पर केंद्रित, इस पर नियंत्रण करते हुए, इसकी हिफाजत करते हुए, इसकी पवित्रता बरकरार रखते हुए नहीं बीतनी चाहिए।'

'महिलाओं को रेप का शिकार होने के अलावा जिंदा रहने का भी हक है।'

'महिलाओं को रेप का शिकार होने के अलावा जिंदा रहने का भी हक है।'

दरअसल, स्वरा भास्कर अपने पूरे परिवार के साथ 'पद्मावत' देखने पहुंची थीं। स्वरा को पूरी फिल्म बहुत पसंद आई। फिल्म देखने के बाद स्वरा को जौहर से काफी तकलीफ हुई। स्वरा ने अपने खुले खत्त में सवाल पूछते हुआ लिखा, सर, महिलाओं को रेप का शिकार होने के अलावा जिंदा रहने का भी हक है।

स्वरा ने पूछा सवाल

स्वरा ने पूछा सवाल

स्वरा ने आगे लिखा है, 'आप पुरुष का मतलब जो भी समझते हों- पति, रक्षक, मालिक, महिलाओं की सेक्शुअलिटी तय करने वाले...उनकी मौत के बावजूद महिलाओं को जीवित रहने का हक है।' स्वरा ने अपने खत्त में सवाल भी पूछे हैं। स्वरा ने पूछा है कि क्या जौहर के बिना पद्मावती की जिंदगी नहीं चल सकती थी। क्या कोई महिला किसी पुरुष के बिना असंपूर्ण है।

स्वरा ने कही अपने मन की बात

स्वरा ने कही अपने मन की बात

स्वरा का कहना है कि रानी पद्मावती के समय देश में हालात कुछ ओर थे और समय सती प्रथा और जौहर जैसी प्रथाओं को बहुत उच्च माना जाता था, लेकिन संजय लीला भंसाली जी से और कुछ दिखाने की अपेक्षा थी। स्वरा का कहना है कि वजाइना के बाहर भी एक जिंदगी है और बलात्कार के बाद भी एक जिंदगी है।

आज होगी दिल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई, 'आप' के 20 विधायक अयोग्य

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Swara Bhaskar Slams Bhansali & Padmaavat in an Open Letter I Felt like a Vagina
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X