• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

स्वामी अग्निवेश के निधन पर बोलीं सोनिया गांधी, वो जीनवनभर कमजोरों के लिए लड़ते रहे

|

नई दिल्ली। सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश का शुक्रवार शाम निधन हो गया है। 80 साल के स्वामी अग्निवेश के निधन पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शोक व्यक्त का किया है। सोनिया गांधी ने अपने बयान में स्वामी अग्निवेश की मौत पर दुख जाहिर करते हुए कहा है कि वो एक ऐसे शख्स थे जो जीवनभर पूरी ताकत के साथ कमजोर लोगों के साथ खड़े रहे और उनके लिए लड़ते रहे।

 कमजोरों की लड़ाई में स्वामी अग्निवेश ने खुद को जोखिम में डाला

कमजोरों की लड़ाई में स्वामी अग्निवेश ने खुद को जोखिम में डाला

सोनिया गांधी ने अपने बयान में कहा, स्वामी अग्निवेश ने जीवन भर पर पूरी प्रतिबद्धता और संकल्प के साथ समाज के वंचित तबकों के लिए काम किया। शोषितों और गरीबों के अधिकारों के लिए बिना डरे से आवाज उठाई, यहां तक कि इसके लिए कई मौकों पर खुद को जोखिम में भी डाला। रचनात्मक सामाजिक कार्यों में स्वामी अग्निवेश की ऊर्जा और विश्वास सबको प्रेरणा देने वाला है। देश उनकी स्मृति का सदैव सम्मान करेगा।

राहुल गांधी ने भी दी स्वामी अग्निवेश को श्रद्धांजलि

राहुल गांधी ने भी दी स्वामी अग्निवेश को श्रद्धांजलि

स्वामी अग्निवेश के निधन पर राजनीति, समाजिक कार्यकर्ताओं और अन्य हस्तियों ने गहरा शोक व्यक्त किया है। कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा, बंधुआ मुक्ति मोर्चा के संस्थापक और आर्य समाज के क्रांतिकारी नेता स्वामी अग्निवेश जी का निधन आर्य समाज सहित पूरे देश के लिए अपूरणीय क्षति है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने भूपेश बघेल ने लिखा, छत्तीसगढ़ की माटी‌ से जुड़े और आध्यात्मिक चेतना के साथ साथ भारत में बंधुआ मजदूरों के हितों के लिए संघर्ष करने वाले स्वामी अग्निवेश जी के निधन का समाचार दुखद है। इसके अलावा योगेंद्र यादव, रामचंद्र गुहा, प्रशांत भूषण और कई अन्य लोगों ने उनको याद किया है।

कई दिनों से बीमार थे स्वामी अग्निवेश

कई दिनों से बीमार थे स्वामी अग्निवेश

स्वामी अग्निवेश लिवर सिरोसिस से पीड़ित थे। बीते कई दिनों से इंस्टीट्यूट आफ लिवर एंड बिलेरी साइंसेज (आईएलबीएस) में उनका इलाज चल रहा था लेकिन तबीयत में सुधार नहीं हो रहा था। लगातार तबीयत बिगड़ने के बाद मंगलवार को उनको वेंटिलेटर पर रखा गया था। अस्पताल की ओर से बताया गया कि उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया। शुक्रवार शाम छह बजे उनको हार्ट अटाक आया, जिससे उनकी मौत हो गई।

हरियाणा में मंत्री भी रहे थे अग्निवेश

हरियाणा में मंत्री भी रहे थे अग्निवेश

स्वामी अग्निवेश का 50 साल से ज्यादा का सार्वजनिक जीवन रहा। 1970 में उन्होंने एक राजनीतिक दल 'आर्य सभा' की शुरुआत की थी। 1977 में वो विधायक बने और हरियाणा सरकार में शिक्षा मंत्री रहे। 1981 में उन्होंने बंधुआ मुक्ति मोर्चा नाम का संगठन बनाया। जो बंधुआ मजदूरी के खिलाफ काम करता था। इसके अलावा स्वामी अग्निवेश टीवी रियलिटी शो बिग बॉस में भी हिस्सा लिया था। स्वामी अग्निवेश ने 2011 में अन्ना हजारे की अगुवाई वाले भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन में भी हिस्सा लिया था। बाद में उन्होंने खुद को इस आंदोलन से अलग कर लिया था। आर्य समाजी स्वामी अग्निवेश मूर्तिपूजा और 'धार्मिक कुरीतियों' को लेकर भी मुखर रहे।

ये भी पढ़ें- स्वामी अग्निवेश के निधन पर बोले जावेद अख्तर, बंधुआ मजदूरी के खिलाफ उनकी लड़ाई याद रहेगी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Swami Agnivesh Fought for Marginalised with courage Sonia Gandhi
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X