• search
क्विक अलर्ट के लिए
अभी सब्सक्राइव करें  
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

सुशांत सिंह राजपूत: एम्स की पोस्टमार्टम और विसरा रिपोर्ट CBI के लिए क्यों है जरूरी, इन 10 प्वाइंट में समझें

|

नई दिल्ली: अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) मौत मामले में एम्स (AIIMS) ने पोस्टमार्टम और विसरा रिपोर्ट केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) को सौंप दी है। एम्स ने सुशांत सिंह राजपूत की पोस्टमार्टम और विसरा रिपोर्ट उनके बचे हुए 20 प्रतिशत विसरा सैंपल के सहारे की है। एम्स ने अपनी फाइनल रिपोर्ट सोमवार (28 सितंबर) को सौंपी है। अब ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि सीबीआई भी अपना फाइनल क्लोजर जल्दी दे। सीबीआई सुशांत के मामले में हत्या और आत्महत्या एंगल पर जांच कर रही है। एम्स की ये रिपोर्ट सीबीआई को फाइनल नतीजे पर पहुंचने में मदद करेगी। तो आइए आपको एम्स की रिपोर्ट के बारे में 10 बिंदुओं में समझाते हैं और बताते हैं कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले को सुलझाना में ये कितना महत्वपूर्ण है।

Sushant Singh Rajput
    Sushant Singh Rajput Case: AIIMS ने CBI को सौंपी Viscera Report, हुआ बड़ा खुलासा | वनइंडिया हिंदी

    1. .इंडिया टुडे के मुताबिक सुशांत की मौत के मामले में AIIMS की रिपोर्ट निर्णायक होगी। हालांकि सीबीआई द्वारा अब तक एकत्र किए गए सबूतों के आधार पर ही फाइनल कॉल लिया जाएगा।

    2. सुशांत केस की जांच कर रहे एम्स मेडिकल बोर्ड के प्रमुख डॉ. सुधीर गुप्ता के मुताबिक इस मामले में एम्स और सीबीआई ने साथ में काम किया है, दोनों में सहमति भी बनी है लेकिन अभी भी विचार-विमर्श की जरूरत है। अभी इस केस में कुछ कानूनी अड़चनों को देखना काफी जरूरी है।

    3. सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के वकील, विकास सिंह ने पहले दावा किया था कि एम्स के डॉक्टरों की रिपोर्ट के अनुसार, अभिनेता की मौत का कारण "200% गला घोंटना" था। विकास सिंह ने कहा था, सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या केस को हत्या में बदलने का फैसला करने में सीबीआई देरी कर रही है। उन्होंने दावा किया था कि,

    AIIMS टीम का हिस्सा रहे डॉक्टर ने मुझे बहुत पहले ही सुशांत की तस्वीर देखकर बोला था कि ये यह गला घोंट कर मौत है न कि आत्महत्या।

    Sushant Singh Rajput

    4. हालांकि, डॉ. सुधीर गुप्ता ने इन दावों को "गलत" करार दिया था। विकास सिंह के दावों का जवाब देते हुए, डॉ. सुधीर गुप्ता ने इंडिया टुडे को बताया था, "जांच अभी भी चल रही है। वह सही नहीं है। हम केवल तस्वीर के आधार पर हत्या या आत्महत्या पर निष्कर्ष नहीं निकाल सकते। अधिक जांच जो अभी भी जारी है।

    5. रिया चक्रवर्ती के वकील, सतीश मानेशिंदे ने विकास सिंह के बयान के जवाब में मामले की जांच के लिए एक नया मेडिकल बोर्ड बनाने की मांग की है। यह कहते हुए कि एजेंसियों पर दबाव डाला जा रहा है, मानेशिंदे ने कहा, "सुशांत मामले में डॉ. गुप्ता की अगुवाई वाली टीम में एम्स के एक डॉक्टर द्वारा 200% की गला घोंटने की घटना का खुलासा तस्वीरों के आधार पर किया जाना एक खतरनाक प्रवृत्ति है।" जांच निष्पक्ष होने के लिए सीबीआई को एक नया मेडिकल बोर्ड गठित करना चाहिए।

    6. सुशांत सिंह राजपूत को 14 जून को उनके मुंबई स्थित घर पर मृत पाए जाने के बाद, मुंबई पुलिस की शुरुआती जांच में आत्महत्या को मौत का कारण बताया गया था। सुशांत सिंह राजपूत की ऑटोप्सी रिपोर्ट में भी मौत के कारण दम घुटना बताया गया था।

    Sushant Singh Rajput

    7. सीबीआई की अबतक की जांच में ऐसा कोई सबूत नहीं मिला है, जो हत्या की ओर इशारा करे। इसलिए, सीबीआई एम्स की रिपोर्ट पर बहुत अधिक निर्भर करेगी। सुशांत की मौत के मामले की जांच के लिए गठित सीबीआई की विशेष जांच टीम (एसआईटी) जांच की दिशा तय करने के लिए एम्स के डॉक्टरों के साथ संपर्क में थी।

    8. सुशांत सिंह राजपूत की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर उनके मौत के ठीक बाद सामने आई। तस्वीरों में एक हरे रंग का कुर्ता और एक बॉथरॉब बेल्ट (bathrobe belt) को प्रमुखता से देखा जा सकता है। जबकि मुंबई पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि अभिनेता ने हरे रंग के कुर्ते की मदद से खुद को फांसी लगा ली, कईयों ने उसके कमरे में बॉथरॉब बेल्ट की उपस्थिति पर सवाल उठाया है। सोशल मीडिया पर तस्वीरें वायरल होने के बाद, सुशांत के प्रशंसकों ने अनुमान लगाया कि अभिनेता को बॉथरॉब बेल्ट की मदद से गला घोंट दिया गया था और फिर कुर्ता का उपयोग करके लटका दिया गया था।

    Sushant Singh Rajput

    9. सीबीआई को मामले को सुलझाने के लिए बहुत अधिक फोरेंसिक टीम पर निर्भर रहना पड़ता है, इसके अलावा लोगों के बयान अहम होते हैं। मुंबई पुलिस ने फॉरेंसिक सबूत इकट्ठा करने के बाद, उन्हें मुंबई के कलिना में फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी में भेज दिया था।

    मुंबई पुलिस ने उनके द्वारा एकत्र किए गए विसरा के सैंपल का लगभग 80 प्रतिशत सबूत के रूप में इस्तेमाल किया जा चुका था। सीबीआई को शेष 20 प्रतिशत विसरा सैंपल मिले थे। फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी के सूत्रों ने खुलासा किया कि सुशांत के डीएनए, उसके खून और अन्य अंगों से लिए गए नमूनों में से करीब 80 फीसदी का इस्तेमाल मुंबई पुलिस ने किया है। कलिना प्रयोगशाला में अभी भी नमूने का 20 प्रतिशत बचा है, जो सीबीआई की जांच में काम आएगा। विसेरा के नमूनों के अलावा, फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी में सुशांत के कमरे से प्राप्त दवाओं और सिगरेट के सबूत भी हैं।

    10. एम्स की अंतिम रिपोर्ट सोमवार (28 सितंबर) को सीबीआई को सौंपी गई है। एम्स के डॉ. सुधीर गुप्ता ने कहा है, केस से जुड़े कुछ तथ्य सीबीआई को सौंपे गए हैं अगर और कुछ चीजें साझा करनी होंगी तो दोनों टीमें एक बार फिर मुलाकात करेंगी।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Sushant Singh Rajput case: AIIMS post-mortem and viscera final report was submitted to the CBI on Monday.Central Bureau of Investigation (CBI) yesterday. The CBI is probing the Sushant Singh Rajput death case and the AIIMS report will help them ascertain if it was a suicide or a murder.
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X